विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, May 8, 2020

जांच रिपोर्ट ठीक पाये जाने पर भी 21 दिन के होम क्वारन्टइन करायें:- जिलाधिकारी



हरदोई, ।(अयोध्या टाइम्स) कलेक्टेट सभागार में मनरेगा, शौचालय निर्माण, गौशाला संचालन, जल संरक्षण एवं क्वारन्टइन व्यक्तियों के संबंध में निगरानी समिति के माध्यम से पर्यवेक्षण कार्य आदि की विस्तृत समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी पुलकित खरे ने उपस्थित समस्त खण्ड विकास अधिकारियों से कहा कि कोरोना महामारी के दौरान लागू लाॅकडाउन के दौरान विभिन्न प्रदेशों एवं जिलों में कार्य करने वाले श्रमिक अब अपने गृह जनपद आ रहे है और उनकी जांच आदि के लिए तहसीलवार क्वारन्टइन सेण्टर बनाये गये है जिनमें सम्बन्धित विकास खण्ड के ग्रामों के श्रमिकों को 14 दिन क्वारन्टइन सेण्टर में रखने तथा पुनः जांच में ठीक होने पर उनकों घर भेजा जाये। उन्होने कहा कि जो लोग अन्य माध्यमों से गांवों में गुप्त तरीकों से आ रहे है उनके बारे में खण्ड विकास अधिकारी सेक्ट्ररी, ग्राम प्रधान एवं आशा के माध्यम से ऐसे लोगों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करें और ऐसे व्यक्तियों की चिकित्सा टीम के माध्यम से जांच कराकर जांच रिपोर्ट ठीक पाये जाने पर भी 21 दिन के होम क्वारन्टइन करायें तथा घोषणा पत्र भरवायें कि वह 21 दिन तक घर से बाहर नहीं जायेगा और वह अपने परिवारों से भी दूरी बनाये रखेगा।उन्होने कहा कि गांवों में जागरूकता फैलाये कि अगर उनके गांव में कोई भी व्यक्ति क्वारन्टइन सेण्टर से गांव में आये है या होम क्वारन्टइन किया गया है तो गांववासी ऐसे व्यक्ति एवं उनके परिवार से निर्धारित दूरी बनाये रखे और घर से बाहर निकलने पर मास्क अवश्य लगाये और समय -समय पर साबुन से हाथ धोये तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें। जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि गरीब ग्रामीण जनता को रोजगार उपलब्ध कराने एवं ग्रामीण अर्थ व्यवस्था में सुधार के लिए शासन के निर्देशानुसार अन्य प्रदेशों व जिलों से आये मजदूरों तथा पुराने मनरेगा जाबकार्ड धारकों से मनरेगा से होने वाले कार्यो में अधिक से अधिक लोगों को लगायें और बाहर से आये मजदूरों के प्राथमिकता के आधार पर पंजीकरण कराते हुए मनरेगा जाबकार्ड बनवायें और मनरेगा में लगे मजदूरों को निर्धारित समय पर भुगतान भी कराना सुनश्चित करें। जल संरक्षण के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि गांव के खराब एवं रिबोर हैण्ड पम्पों को तीन दिन में सेक्ट्रेटरी एवं ग्राम प्रधान के माध्यम से प्राथमिकता पर ठीक करायें तथा गांव में लम्बित प्रकरणों के निस्तारण कराये और अधिक से अधिक ग्रामीणवासियों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करायें और आरोग्य सेतु ऐप से कोरोना के सम्बन्ध में प्राप्त होने वाले जानकारियों के सम्बन्ध में विस्तार से बताये। गौशालाओं की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि स्वयं, एडीओ एवं सेक्ट्रेरी नियमित गौशालाओं का निरीक्षण करे और और गौशालाओं में गोवंशों के लिए विशेष रूप से पानी एवं भूसे की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता बनाये रखें।
शौचालय निर्माण के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी विकास खण्ड में निर्माण की धनराशि भेज दी गयी है और समस्त बीडीओ तत्काल शौचालय निर्माण कराना सुनिश्चित करें और शौचालय निर्माण की आख्या प्रतिदिन जिला पंचायत राज अधिकारी के माध्यम से उपलब्ध कराई जायें। उन्होने निर्देश दिये कि अन्य प्रदेश से जो श्रमिक आ रहें रहे उनका चिन्हित करते हुए उनका पंजीकरण श्रम विभाग में करायें तथा वृद्वा, निराश्रित, दिव्यांग आदि पेंशन धारकों की लम्बित पेंशनों को तत्काल प्रभाव से भुगतान करायें। उन्होने कहा कि इस महामारी में ग्रामीण क्षेत्र की गरीब जनता की परेशानी को देखते हुए एक सच्चे सरकारी सेवक की तरह ऐसे लोगों की मदद करें ताकि कोई भी व्यक्ति एवं उसका परिवार भूखा न रहें। उन्होने कहा कि खण्ड विकास अधिकारी बैंक एवं डाक मित्रों की नियमित समीक्षा में यह अवश्य देखें कि किस बैंक व डाक मित्र द्वारा कितने ग्रामीणों को गांव जाकर भुगतान किया गया है। विगत वर्षो के खाते आदि गलत हो जाने के कारण लम्बित मनरेगा मजदूरों के भुगतान प्रकरणों के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि ऐसे गरीब मजदूरों के खाते आदि तत्काल प्रभाव से ठीक कराकर उन्हें मनरेगा में किये गये कार्य का भुगतान कराना सुनिश्चित करें।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता वत्स ने भी खण्ड विकास अधिकारियों से कहा कि जिलाधिकारी महोदय द्वारा विभिन्न कार्यो के सम्बन्ध में दिये निर्देशों का पालन करते हुए समस्त कार्य तत्काल प्रभाव से प्रारम्भ करायें और मनरेगा के अन्तर्गत अधिक से अधिक ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध करायें। बैठक में पीडी श्रीवास, डीसी मनरेगा, एनआरएलएम, अपर जिला सूचना अधिकारी दिव्या निगम सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारी आदि मौजूद रहें।


 

 



 

No comments:

Post a Comment