मजदूरों के घर में जले खुशियों के "चूल्हे




अर्जुन कुमार गुप्ता 

बाराबंकी : जिले के मनरेगा  मजदूरों के घरों में खुशियां के चूल्हे से निकलने वाली पक्की रोटियां भूखे मजदूरों के चेहरे पर मुस्कान लाने का कार्य कर रही है जिले के अंदर मजदूर पूरी तरह से मनरेगा के तहत चल रहे योजना अंतर्गत मेहनत से कार्य करने में लगे हुए हैं| तो वही अधिकारी भी मजदूरों को कार्य देने में दिन रात मेहनत कर रहे हैं ताकि मुख्यमंत्री का सपना पूरा हो सके और जिले के अंदर  विकास में  कार्यों के तहत मजदूरों को कार्य किया जा चुका है। बताते चलते हैं कॉरोना महामारी के दौरान मनरेगा कार्य रोक दिया गया था। जिससे हजारों गरीब मजदूर बेसहारा हो गए थे सरकारी फरमान के आगे विभाग उन्हें कार्य नहीं दे सका मगर गरीब के करुण पुकार  मुख्यमंत्री तथा प्रधानमंत्री के कानों तक पहुंची तो उन्होंने मनरेगा का कार्य शुरू करने का फरमान जारी कर देने का आदेश दिया सरकारी आदेश होते ही मनरेगा  विभाग सचेत हो उठा और आनन-फानन में जिले भर के सभी विकास खंडों का कार्य शुरू करने के निर्देश दिए उपर्युक्त श्रम रोजगार बताते हैं कि जिलेभर हर रोज मजदूरों की संख्या बढ़ती जा रही है बुधवार को जिले भर में मजदूरों को कार्य दिया गया। जिसके अंतर्गत ब्लाक हरख के ग्राम लसोरावा व मजरे अब्दुल्लापुर में पिछले रविवार से मनरेगा के तहत गरीब मजदूरों को ग्राम प्रधान राजेंद्र प्रसाद केअन्तर्गत  द्वारा 20 गरीब मजदूरों का कार्य शुरू  करवाया गया


 

 



 

Comments

Popular posts from this blog

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ की जन्म कुण्डली जानिये : पं0 सुधांशू तिवारी

राघोपुर में बिजली चोरी करते पकड़े गए 11 लोग जेई ने दर्ज कराई प्राथमिकी

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमन्त्री केशव प्रसाद मौर्य की जीवन कुण्डली : पं. सुधांशु तिवारी के साथ