विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, May 8, 2020

पैसों के लिए डिलीवरी के दौरान महिला के साथ की गई लापरवाही नवजात शिशु की मौत





हरदोई। (अयोध्या टाइम्स)कछौना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक ऐसा मामला प्रकाश में आया है जिसमें मानवता तार तार हो रही है भगवान का रूप कहे जाने वाले डॉक्टर जहां पर चंद पैसों के खातिर हैवान बन जाए तो इसे क्या कहा जाए ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है गौसगंज के मोहल्ला कटरा निवासी रोली पत्नी घनश्याम जोकि आज डिलीवरी कराने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आए हुए थे जिनके साथ मानवता को तार-तार कर देने वाली घटना हुई


जानकारी के अनुसार शुक्रवार को सुबह लगभग 3:00 बजे गौसगंज के मोहल्ला कटरा निवासी घनश्याम जोशी पुत्र रामभरोसे जोशी की पत्नी को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी जिस पर उन्होंने एंबुलेंस को फोन कर बुलाया एंबुलेंस के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर महिला को लाया गया जहां पर मौजूद एनम सुमन तथा अन्य अस्पताल में मौजूद नर्स के द्वारा उन्हें डिलीवरी रूम में ले जाया गया वहां पर महिला के साथ लापरवाही की गई और चंद पैसे लेने के लिए लगभग डेढ़ घंटे तक महिला को प्रताड़ित किया गया जिसके बाद उसके पति घनश्याम जोशी को जिला अस्पताल ले जाने के लिए कहा गया घनश्याम जोशी रोने लगा और बोला कि अब हम क्या करें और आपके बताए अनुसार आधा बच्चा बाहर था आधा अंदर है ऐसी स्थिति में हम कैसे ले जाएं हमारी पत्नी को ही बचा लें जिसके एवज में मौजूद एनम के द्वारा ₹2000 की डिमांड की गई जिसमें पांच सौ रुपए पहले तथा एक हजार बाद में नगद एनम सुमन को दिए गए उसके साथ में एंबुलेंस स्टाफ ने भी रुपयों की डिमांड की उनको भी ₹100 दिए गए जिसके बाद स्टाफ के द्वारा नवजात जन्मी बच्ची को मृत घोषित कर दिया गया और घनश्याम जोशी से छुट्टी के समय ₹500 नगद देने के लिए कहा गया घनश्याम बहुत ही गरीब घर से है उसके पास एक बिस्वा भी जमीन नहीं है वह इधर-उधर मजदूरी का कार्य करके अपना जीवन यापन करता है ऐसी दशा में अस्पताल कर्मचारियों के द्वारा जो भी किया गया बहुत ही निंदनीय और मानवता को तार-तार कर देने वाली घटना सामने आई उक्त कर्मचारियों के द्वारा की गई लापरवाही के चलते नवजात बच्ची की मौत होने का आरोप घनश्याम जोशी ने अस्पताल कर्मचारियों पर लगाया है इस प्रकार से हुई घटना से सरकारी सेवाओं का क्या हाल है और एंबुलेंस चालकों के द्वारा मरीजों के साथ कैसा बर्ताव किया जा रहा है जिसका महज अंदाजा लगाया जा सकता है।


 

 



 



No comments:

Post a Comment