विज्ञापन

विज्ञापन

Wednesday, May 5, 2021

आग लगने से पान व फुल की दुकान जलकर हूई राख

वैशाली नवीन कुमार संवाददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स।

(वैशाली) बिदूपुर थाना क्षेत्र के बिदुपुर  बाजार स्थित गर्दनिया चौक मे स्थित जगदंबा पान पैलेस दुकान में अचानक सॉर्ट सर्किट से आग लग गयी आग लगते ही वहां अफरा-तफरी का माहौल बन गया और वही देखते ही देखते भारी भीड़ जुट गयी। दुकान हाजीपुर-महनार मुख्य मार्ग पर होने से घटना के बाद वहां जुटी भीड़ के कारण थोड़ी देर के लिए वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ा। घटना की जानकारी मिलते ही फयर ब्रिगेड की गारी दल बल के साथ पहुची। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। आग जगदम्बा पान भंडार सह आयुष फूल भंडार की दुकान में लगी थी। यह दुकान शादी-ब्याह में गाड़ियों की सजावट भी करती है। दमकल ने किसी तरह आग पर काबू पाया। हालांकि तब तक काफी नुकसान हो चुका था नुकसान लाखो मे बताया जा रहा है।

कोरोना महामारी को लेकर विधायक ने क्षेत्र के लोगों से किया अपील

राजापाकर( वैशाली) संवाददाता दैनिक अथवा टाइम्स

वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर   राजापाकर की विधायक प्रतिमा कुमारी ने विधानसभा क्षेत्र की जनता से लाॅकडाउन व  कोविड-19 के नियमों का पालन करने की अपील की है। इस संबंध में बुधवार को अपने संदेश में विधायक ने आमजनों से अनुरोध करते हुए कहा है कि बेवजह घरों से बाहर नहीं निकले बहुत जरूरी हो तभी घर से बाहर निकले। मास्क लगाएं शरीर को पूरी तरह  ढक कर रखें। साबुन से  हाथों को बराबर  अच्छी तरह से धोएं सैनिटाइज का प्रयोग करें भीड़ वाले स्थानों पर ना जाएं अपने एवं अपने परिवार की सुरक्षा का ख्याल रखें। वहीं उन्होंने विशेष रुप से अपील करते हुए कहा है कि हर हाल में सभी आदमी वैक्सीन के दोनों डोज अवश्य ले तथा वैक्सीन लेने के लिए लोगों को प्रेरित करें। उन्होंने आगे कहा कि गर्म पानी का इस्तेमाल करें भोजन में शाक हरी सब्जी  का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करें। सर्दी खांसी और बुखार होने पर अपने नजदीक के स्वास्थ्य पर  जाकर जांच कराएं और समय पर दवा लें और लोगों को इसके लिए प्रेरित करें। आपका जीवन अमूल्य है इसकी रक्षा करें । उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र के किसी भी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की परेशानी हो तो हम से अवश्य संपर्क करें मैं हमेशा आपकी सेवा में तत्पर रहूंगी।

प्रीतिलता स्वाधीनता संग्राम प्रथम शहीद महिला जिसने अंग्रेजो के दांत खट्टे किए-डॉ गौतम

पीएन कॉलेज परसा के प्राचार्य डॉ पुष्पराज गौतम

ने कहा कि महान देवी को शत-शत नमन चटगांव शस्त्रागार कांड के बारे में जो भी मार्ग अपनाया जाएगा वह भावी विद्रोह  का प्राथमिक रूप से होगा यह संघर्ष भारत की पूरी सफलता के साथ स्वतंत्रता जारी रहेगाप्रीतिलता वाद्देदार भारत के स्वाधीनता संग्राम की प्रथम महिला क्रांतिकारी थीं जिन्होंने अपने प्राण त्याग उत्सर्ग कर दिए।

प्रीतिलता का जन्म 5 मई 1911 में हुआ था।उन्होंने सन् 1928 में मैट्रिक की प्ररीक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की।इसके बाद सन् 1929 में उन्होंने ढाका के इडेन कॉलेज में इण्टरमिडिएट प्ररीक्षा पास करने के बाद,प्रीतिलता ने कोलकाता के बेसिन कॉलेज से दर्शनशास्त्र से स्नातक प्ररीक्षा उत्तिर्ण की।कोलकाता विश्वविद्यालय के ब्रिटिश अधिकारियों ने उनकी डिग्री रोक दिया। उन्हें 80 वर्ष बाद मरणोपरान्त यह डिग्री प्रदान की गई थी।जब वे कॉलेज की छात्रा थीं,रामकृष्ण विश्वास,व अन्य क्रांतिकारियों से मिलने ज़ाया करती थीं, उन लोगों से जुड़कर उनसे भी स्वाधीनता  के सपने देखना शुरू कर दिया।उन्होंने निर्मल सेन से  युद्ध का प्रशिक्षण लिया था।शिक्षा के उपरांत उन्होंने चटगाँव के एक पाठशाला में नौकरी शुरू की और इसी उनकी भेंट प्रसिद्ध क्रांतिकारी सूर्य सेन से हुई।प्रीतिलता उनके दल की सक्रिय सदस्य बनी और वे सूर्यदेन के नेतृत्व के इन्डियन रिपब्लिकन आर्मी में महिला सैनिक बनी।

जब पूर्वी बंगाल के घलघाट में क्रांतिकारियों को पुलिस ने घेर लिया था,घिरे हुए क्रांतिकारियों अपूर्व सेन,निर्मल सेन,प्रीतिलता और सूर्यसेन आदि थे। सूर्यसेन ने गोलियाँ चलाने व लड़ने का आदेश दिया।उनके क्रांतिकारी साथी अपूर्व सेन और निर्मल सेन शहीद हो गये।सूर्यसेन की गोली से कैप्टन कैमरान मारा गया।सूर्यसेन,प्रीतिलता व अन्य क्रांतिकारी लड़ते लड़ते भाग गये।सूर्यसेन पर 

10 हज़ार रूपये का इनाम घोषित था। दोनों एक सावित्री नाम का महिला के घर पर गुप्त रूप से रहते थे। 

सूर्यसेन ने अपने क्रांतिकारी साथियों का बदला लेने की यूरोपीय क्लब और ब्रिटिश शस्त्रागार समेत पांच स्थानों पर हमले की योजना बनाई। प्रीतिलता ने अपने 10 -15 क्रांतिकारी साथियों का नेतृत्व ने पतलहटी में यूयोपीय कल्ब पर धावा बोल कर नाच-गाने में मग्न अंग्रेजों को मृत्यु का दंड देकर सफलतापूर्वक बदला लिया गया।प्रीतिलता को एक गोली लगी मगर पकड़े जाने के बजाय पोटेशियम सायनाइड खा कर शहीद हो गई।1857 के विरुद्ध के बाद स्वतंत्रता के लिए हुए सशस्त्र विद्रोह में शहीद होने पहली महिला थीं।

स्वतंत्रता संग्राम में देश की आज़ादी के लिए अपने प्राणों की आहुती देने वाली देशभक्त,क्रांतिकारी, स्वतंत्रता सेनानी प्रीतिलता वादृेदारकी 110वीं जयंती पर शत् शत् नमन।

मुख्यमंत्री से अधिवक्ताओं को पांच लाख के स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान किए जाने की मांग

 अधिवक्ता कल्याण संघर्ष समिति की वर्चुअल बैठक में मुख्यमंत्री  से अधिवक्ताओं को सपरिवार रु 500000 के स्वास्थ्य बीमा कवर देने की मांग की गई


 बैठक में बोलते हुए संयोजक पं रवीन्द शर्मा ने कहा कि अधिवक्ता जो कि न्यायालय का अधिकारी है इस कोरोना महामारी में अन्य के साथ-साथ वह भी गंभीर रूप से प्रभावित है सभी को पता है किं महामारी के इस दौर में अन्य के साथ अधिवक्ताओ का भी न्यायालय परिसर में प्रवेश बंद है  जिसकी वजह से हमारी आय भी बंद हो गई है सरकार द्वारा विभिन्न वर्गों के लिए की जा रही सहायता की  घोषणाओं में अधिवक्ताओं की पूर्णतया उपेक्षा की जा रही है जो कि  अत्यन्त दु:खद है आज अधिवक्ताओं के  एक बड़े वर्ग के समक्ष चिंतनीय आर्थिक  संकट के साथ साथ सपरिवार  स्वास्थ्य की चिंता भी गंभीर विषय है इस महामारी में विगत वर्ष और इस वर्ष प्रदेश के तमाम अधिवक्ता व उनके परिजन यथोचित इलाज न मिलने के कारण और तमाम अधिवक्ता व उनके परिजन महंगा इलाज न करा पाने के कारण काल के गाल में समा गए। इसकी पुनरावृत्ति रोकने के लिए आज अधिवक्ताओं को सपरिवार तत्काल कम से कम रू 500000 के स्वास्थ्य बीमा कवर की महती आवश्यकता है जिसके लिए हमारी मुख्यमंत्री जी से मांग है कि वो तत्काल अधिवक्ताओं और उनके परिवार को कम से कम ₹500000 की स्वास्थ्य बीमा कवर तत्काल प्रदान करें।मांग का प्रतिवेदन जरिए ईमेल मुख्यमंत्री जी को भेजा गया।
 बी एल गुप्ता अध्यक्ष इनकम टैक्स जीएसटी बार एसोसिएशन ने कहा कि अधिवक्ता ओ को तुरन्त स्वास्थ्य बीमा कवर दिया जाना समय की मांग है।
प्रमुख रूप से विनय अवस्थी महामंत्री सेल्स टैक्स बार एसोसिएशन अविनाश बाजपेई पूर्व अध्यक्ष लायर्स एसोसिएशन दिनेश वर्मा अध्यक्ष कमिश्नरी बार एसोसिएशन राम आश्रय त्रिपाठी एस के सचान श्रीकांत मिश्रा सोमेंद्र शर्मा मो कादिर खाअदेश शर्मा मो तौहीद अंकुर गोयल संजीव कपूर नमन गुप्ता राकेश सिद्धार्थ प्रतीक बाजपेई  प्रेम शंकर शुक्ला  विनय पांडे आनंद गौतम अनुराग मिश्रा नवनीत पाण्डे अनूप शुक्ला मोहित शुक्ला के के यादव आदि रहे।