Posts

Showing posts from November, 2021

राष्ट्रीय बहुआयामी निर्धनता सूचकांक - मानव विकास, भूख, प्रतिस्पर्धात्मकता, मानव पूंजी, नवाचार सहित 29 वैश्विक सूचकांकों में देश के निष्पादन पर नज़र रखी जा रही है

वैश्विक मान्यता प्राप्त सूचकांको के आधार को औजार बनाकर रणनीतिक रोडमैप बनाकर परिणामों में सुधार के लिए सूचकांक के निगरानी तंत्र का लाभ उठाना ज़रूरी - एड किशन भावनानी गोंदिया - भारत में दशकों से हम मीडिया के माध्यम से पढ़ व सुन रहे हैं कि गरीबी रेखा के नीचे, गरीबी रेखा के ऊपर, रंगराजन कमेटी की रिपोर्ट, तेंदुलकर कमेटी की रिपोर्ट, दांडेकर समिति की रिपोर्ट, अर्जुन सेनगुप्ता कमेटी का गठन गरीबी का पैमाना नापने का आधार, सबका अपना-अपना पैमाना परंतु साथियों आज भी वही चल रहा है कौन गरीबी रेखा के नीचे है, और कौन ऊपर। सन 2012 में जारी योजना आयोग के साल 2009-2010 के गरीबी आंकड़े कहते हैं कि पिछले पांच साल के दौरान देश में गरीबी 37.2 फीसदी से घटकर 29.8 फीसदी पर आ गई है। यानि अब शहर में 28 रुपए 65 पैसे प्रतिदिन और गांवों में 22 रुपये 42 पैसे खर्च करने वाले को गरीब नहीं कहा जा सकता।नए फार्मूले के अनुसार शहरों में महीने में 859 रुपए 60 पैसे और ग्रामीण क्षेत्रों में 672 रुपए 80 पैसे से अधिक खर्च करने वाला व्यक्ति गरीब नहीं है। साथियों बात अगर हम गरीबी की करें तो, गरीब कौन ? गरीबी रेखा क्या है? गरीब,गरीबी

श्रीमद्भागवत गीता का कथा कहते हुए रवि कुमार भार्गव ने कहा कि"काम,क्रोध,लोभ, यही मनुष्य जीवन को पतन की ओर ले जाता है

Image
(रवि कुमार भार्गव अयोध्या टाइम्स सिरहाकोठी पूर्वीचंपारण) आज सप्ताहिक श्रीमद्भागवत गीता कथा कार्यक्रम में रवि कुमार भार्गव ने कहा कि काम क्रोध और लोभ ये तीनों मनुष्य का पतन करने वाले हैं।जिनका उद्देश्य भोग भोगना और संग्रह करना होता है,वे लोग अपनी सोंच समझ के अनुसार अपनी उन्नति करने के लिए इन तीनों दोषों को हितकारी मान लेते हैं।उनका यही भाव रहता है कि हम लोग काम आदि से सुख पायेंगे,आराम से रहेंगे,खूब भोग भोगेंगे,यही भाव उनकी मनुष्य जीवन का पतन कर देता है। ये काम क्रोध आदि नरको के दरवाजे हैं, इसलिए मनुष्य इनका त्याग कर दें।भोग भोगना"काम"है,दूसरे को रिस्ते की जाल में,प्रेम की जाल में,कोई काम की लालच देकर धन संग्रह करना, "लोभ" है,किसी असहाय की स्त्री जमीन पर कब्जा करना साक्षात मृत्यु के गाल में समाने की कदम है,आप जानते हैं कि इन तीनों मे बाधा आने पर लिप्त ब्यक्ति को बाधा उत्पन्न करने वाले ब्यक्ति पर क्रोध आ जाता है।ये तीनों ही आसुरी सम्पत्ति के मूल रूप हैं, मनुष्य सभी तरह के पाप इन तीनों के वशीभूत होकर ही करता है, इसलिए हम दैवी शक्ति सम्पत्ति वाले मनुष्य को अपने अन्दर इन

मुजफ्फरपुर में नवनिर्वाचित मुखिया पर फायरिंग,

Image
    बाल-बाल बचीं:जीत का सर्टिफिकेट लेकर पति के साथ लौट रही थीं, अपराधी बोला- तुमको मुखियायिन नहीं रहने देंगे। (रवि कुमार भार्गव ब्यूरो चीफ अयोध्या टाइम्स बिहार) मुजफ्फर पुर में पंचायत चुनाव की गिनती खत्म होने के बाद शुक्रवार देर रात नवनिर्वाचित मुखिया पर बदमाशों ने हमला कर दिया। इसमें वह बाल-बाल बच गईं। घटना गायघाट थाना क्षेत्र के मकरंदपुर गांव की है। यहां लक्ष्मणनगर पंचायत की नवनिर्वाचित मुखिया अनामिका देवी और उनके पति अशोक कुमार पर ताबड़तोड़ फायरिंग की गई। वे दोनों जीत का सर्टिफिकेट लेकर कार से अपने घर की ओर जा रहे थे। तभी उन पर हमला हुआ। फायरिंग करने वाले अपराधियों ने कार के सामने से गोली चलाई है। इसमें गोली गाड़ी का शीशा भेदते हुए सीट में लगी है। मौके से 2 खोखा बरामद किया गया है। घटना के संबंध में गायघाट पुलिस का कहना है, 'मामले की छानबीन की जा रही है।' मुखिया पति अशोक कुमार ने गायघाट थाना में एप आई आर दर्ज कराने के लिए लिखित शिकायत की है। इसमें उन्होंने दो लोगों को नामजद किया है। शिकायत में उन्होंने बताया है, 'गायघाट इलाके के लक्ष्मण नगर के रहने वाले हैं। पत्नी अनामिका दे

सीतामढ़ी में लड़कियों की खरीद-फरोख्त का गंदा खेल, युवती ने क‍िया पर्दाफाश, तीन दलाल ग‍िरफ्तार

Image
(रवि कुमार भार्गव ब्यूरो चीफ अयोध्या टाइम्स बिहार) सीतामढ़ी ज‍िले देह व्‍यापार के लिए रेडलाइट एरिया में युवती को जिंदा जलाने का प्रयास ग्राहकों के पास जाने से मना करने पर द‍िया घटना को अंजाम जान बचाकर भागी पीड़िता पहुंची नगर थाने पुलिस को सुनाई आपबीती एसपी के आदेश पर छापेमारी। सीतामढ़ी में लड़कियों की खरीद-फरोख्त का 'गंदा खेल' अर्से से चल रहा है। पुलिस ने फिर एकबार छापेमारी कर बदनाम गली से दो युवियों को दलालों के चंगुल से मुक्त कराया। एक महिला समेत तीन दलालों को गिरफ्तार भी किया गया है। इससे पहले जुलाई महीने में ही कई थानों की पुलिस ने छापेमारी की थी जिसमें कई लोग पकड़ाए भी थे और दलालों के चंगुल से लड़कियां भी मुक्त हो पाई थीं। इस दलदल में जबरन ढकेली गई एक युवती ने हिम्मत दिखाई तो पुलिस ने छापेमारी कर उसको मुक्त कराया। युवती ने आरोपियों के खिलाफ पुलिस से शिकायत भी की जिसके बाद उनको गिरफ्तार किया गया। शनिवार शाम पीड़ित युवती रेड लाइट एरिया से भागकर नगर थाना पहुंच गई। वह जख्मी हालत में थी। एसपी हर किशोर राय के आदेश पर तुरंत छापेमारी की गई जिसमें रेड लाइट एरिया से एक महिला चांदनी

रा.मध्य विद्यालय करमवा के स्थानीय शिक्षक विद्यालय को अपना जागीर समझते हैं,अधिकारी द्वारा नही होता है कार्यवाही।

Image
कुंदन मिश्रा का रिपोर्ट। सुगौली पु.च. सुगौली प्रखण्ड के विद्यालयों में शिक्षा और शिक्षक नाम की कोई चीज नही है।स्कूल समय मे बच्चे स्कूल में ही पत्ती, तास खेलते नजर आ रहे हैं।ऐसा ही एक मामला राजकीय मध्य विद्यालय करमवा का है,इस विद्यालय के सभी शिक्षक स्थानीय है और दबंग भी,जिससे विद्यालय का बद से बत्तर स्थिति है।बच्चों का भविष्य अंधकारमय होते जा रहा है।विद्यालय के सभी सरकारी योजनाओं में बन्दर बाट किया जाता है।विद्यालय के सभी शिक्षक स्थानीय होते हुए भी समय से नही आते है।वही प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी का कहना है कि विद्यालय खुलने का समय 9:00 बजे है लेकिन 11:00 बजे तक शिक्षक विद्यालय में ही नही आता है,और विद्यालय के समय बच्चे विद्यालय कम्पाउंड में ही तास, पत्ती खेलते हैं।कभी कभी तो हद तब हो जाता है जब शिक्षक और प्रधानध्यापक खुद से विद्यालय बन्द कर छुट्टी मना लेते है।विद्यालय में ना ही साफ पानी का व्यवस्था है और ना ही शौचालय का।स्थानीय लोगो का कहना है कि विद्यालय का स्थिति बहुत ही खराब है,ना ही समय से पढ़ाई होती है,ना ही समय से शिक्षक आते है,स्थानीय शिक्षक का दबंगई बरकरार है विद्यालय में।मिडे मिल

किन्नर समाज ने गोद ली बेटी का धूमधाम से किया विवाह

Image
अजय मौर्या ब्यूरो चीफ अयोध्या अयोध्या। मां सीता के जन्म स्थल में जन्मी और भगवान राम की जन्म स्थली को अपना कर्म स्थल बनाने वाले किन्नर ने जिस अनोखी परंपरा की शुरुआत की वह आज भी कायम है। इस अनोखी परंपरा के जरिए समाज में किन्नरों के प्रति आदर का भाव बढ़ रहा है। दरअसल हम बात कर रहे हैं समाज सेवा के जरिए सत्ता के गलियारों तक कदम रखने वाली किन्नर गुलशन बिंदु की जिनकी मृत्यु के बाद उनके शिष्य सामाजिक कार्यों को गति दे रहे हैं। गरीबों को संबल प्रदान करना और असहाय बच्चों को शिक्षा, विवाह समेत कई सामाजिक कार्य गुलशन बिंदु के किन्नर शिष्यों ओर से आज भी किए जा रहे हैं.रामनगरी अयोध्या का किन्नर समाज गरीब असहाय और अनाथ बच्चों को सहायता करने में पीछे नहीं है। सीतामढ़ी में जन्मी किन्नर समाजसेवी गुलशन बिंदु ने जो जिस परंपरा की शुरुआत की उसे उनके शिष्य आज भी महत्व दे रहे हैं। गुलशन बिंदु आज हमारे बीच में नहीं है लेकिन उन्होंने आमतौर पर ही दृष्टि से देखे जाने वाले किन्नर समाज को अपनी सामाजिक कार्यों के जरिए जो सीख दी उसका पालन कर किन्नर समाज के लोग अन्य समाज में अपने प्रति आदर की भावना उत्पन्न कर रहे हैं।

रामलला के दर्शन अवधि को बढ़ाने से ट्रस्ट ने किया इनकार

Image
अजय मौर्या ब्यूरो चीफ अयोध्या अयोध्या। रामलला के दर्शन की अवधि को बढ़ाने की बात से श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट अभी सहमत नहीं है। ट्रस्ट महासचिव का मानना है कि सुरक्षा की दृष्टि से भी अवधि को बढ़ाया नहीं जा सकता। सिर्फ दिन में ही भक्तों को राममंदिर में रामलला के दर्शन करने की इजाजत होगी। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने अयोध्या में पुरानी आतंकी घटनाओं और साजिशों का हवाला देते हुए रामलला के दर्शन की अवधि बढ़ाने से मना कर दिया।उन्होंने कहा कि सुरक्षा कारणों की वजह से रामलाल के दर्शन की अवधि को बढ़ाना संभव नहीं है। सभी कठिनाइयों को समझने की जरूरत है। राम जन्मभूमि की स्थितियां हनुमानगढ़ी व कनक भवन जैसी नहीं है। उन्होंने कहा कि ठाकुर जी की सुरक्षा, जनता की सुरक्षा और स्थानीय नागरिकों का जीवन सर्वोपरि है। सुरक्षा कारणों से सिर्फ और सिर्फ दिन में ही दर्शन हो सकता है। गौरतलब है कि पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल ने सोमवार को अयोध्या का दौरा किया था। रामलला के दर्शन करने के बाद मंदिर परिसर में स्थायी सुरक्षा समिति की बैठक में शामिल हुए। जिसमें रामलला के दर्शन की समय स

क्षेत्रीय बोर्डिंग हाउस सोसायटी की कार्यकारिणी भंग

Image
कृष्ण कुमार संवाददाता अयोध्या अयोध्या। 12 दिसंबर 2021 को दिन में 2 बजे बोर्डिंग हाउस सभागार में प्रभारी अध्यक्ष अशोक सिंह के  द्वारा आहुति की गई बैठक उपरोक्त जानकारी प्रेस वार्ता के दौरान प्रभारी अध्यक्ष अशोक सिंह के द्वारा दी प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने बताया 26 सितंबर 20 21 को कुछ विशेष कारणों से सोसाइटी कार्यकारिणी ने सर्वसम्मति से कार्यकारिणी के अधिकार समाप्त करते हुए उनको प्रभारी अध्यक्ष नाविक किया गया था उनके सहयोग हेतु डॉ एचबी सिंह तथा दुर्गा प्रसाद सिंह को भी नामित किया गया तथा अपेक्षा की गई वह नई कार्यकारिणी के गठन हेतु साधारण सभा की बैठक बुलाकर उचित कार्रवाई करेंगे  उन्होंने बताया सितंबर 20 21 लेकर अब तक साधारण सभा के नये सदस्यों की जिनकी संख्या बहुत अधिक हो गई है उनकी सूची लिपिबद्ध करने में कासफी समय लगता रहा साथ ही तमाम वित्तीय कठिनाई विशेषकर बैंक संचालन में तत्कालीन अध्यक्ष जंग बहादुर सिंह द्वारा व्यवधान डालने के फलस्वरूप उत्पन्न स्थिति से असहज होने तथा निवर्तमान कार्यकारिणी के कार्यकाल में बिजली मीटर के विरुद्ध रिपोर्ट तथा नगर निगम के बिल के सापेक्ष व्यस्तता तथा निजी क

ग्राम जुनेदपुर में ग्राम चौपाल व शिलान्यास का कार्यक्रम सम्पन्न

Image
पवन कुमार अयोध्या। रूदौली विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत मवई ब्लाक क्षेत्र के ग्राम पंचायत सेवढ़ारा (जुनेदपुर)गांव में शनिवार को भाजपा द्वारा ग्राम चौपाल का आयोजन किया गया।जहाँ तेजतर्रार विधायक रामचंद्र यादव ने ग्राम चौपाल लगाकर कई गांव के ग्रामवासियों की समस्याओं को सुना तथा उनके त्वरित समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया।इस दौरान बिजली विभाग के अधिकारियों ने कैम्प लगाकर एक मुश्त समाधान योजना के बारे में लोगो को जानकारी दी तथा बिजली विभाग से संबंधित मामलों को निस्तारित किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाजपा विधायक राम चन्द्र यादव व विशिष्ट अतिथि ब्लाक प्रमुख मवई राजीव तिवारी मौजूद रहे।कार्यक्रम की अध्यक्षता वेद मुनि महाराज के द्वारा किया गया व संचालन मवई मंडल अध्यक्ष अंजनी साहू ने किया।विधायक राम चंद्र यादव का महंत वेद मुनि जी महाराज ने स्वागत किया। इस दौरान उपजिलाधिकारी रुदौली स्वप्निल यादव,पुलिस क्षेत्राधिकारी सुरेंद्र प्रताप तिवारी व खंड विकास अधिकारी मोनिका पाठक मौजूद रही। विधायक रामचंद्र यादव के सामने गांव के लोगों ने अपनी विभिन्न प्रकार की समस्याओं को रखा जिसे गंभीरता स

तेरा सानिध्य

मैं तेरे पास रहूं तेरे साथ रहूं यही काफी है। मंत्रों का बोझ तंत्रो का ओज भारी सा लगता है। तेरी गोद में ममता भरी छाया में सोया रहूं यही काफी है। जन्म जन्मांतर की सिद्धियां युगों-युगों की रिद्धियां अब भारी सी लगती है तेरा हाथ पकड़ कर बस चलता रहूं हर जगह हर क्षण यही काफ़ी है। राजीव डोगरा (भाषा अध्यापक)

रील्स की रंगीन दुनिया और सेलिब्रिटी बनने का सपना

वीरेंद्र बहादुर सिंह  एक लड़का और लड़की पहली बार मिले। लड़के ने लड़की से पूछा, "तुम क्या करती हो?" लड़की ने कहा, "मैं हीरोइन हूं।" लड़के ने हैरानी से आंखें फैला कर नया सवाल किया, "अच्छा, किस फिल्म में काम किया है?" लटकाझटका मारते हुए लड़की ने कहा, "मैं रील्स बनाती हूं।" अब नंबर लड़की का था। लड़की ने सवाल किया, "तुम क्या करते हो?" लड़के ने सीना फुला कर कहा, "मैं सैनिक हूं।" लड़की ने नया सवाल किया, "अच्छा, कहां पोस्टिंग है?" लड़के ने कहा, "मैं पबजी खेलता हूं।" इस तरह की रील्स आप ने कहीं न कहीं जरूर देखी होगी और कहीं न कहीं इस तरह का जोक भी सुना होगा। रील्स के पीछे आज का यंगस्टर्स क्रेजी है।  फिल्म, टेलीविजन, वेब सिरीज और इंटरटेनमेंट की दुनिया ऐसी है, जो हर किसी को एट्रैक करती है। हर आदमी का कभी न कभी तो ऐक्टिंग करने का मन हुआ ही होगा। तमाम लोगों को यह भी भ्रम होता है कि किसी फिल्म या सीरियल में काम करने का मौका मिल जाए तो दुनिया को दिखा दें कि वे भी कुछ कर सकते हैं। लड़कियां तो स्टाइल मारने में आगे ही होती है

चिकित्सा पेशे से जुड़े हर व्यक्ति में नैतिकता, संवेदनशीलता, सहयोग, सेवा, समर्पण का भाव अत्यंत ज़रूरी

कोविड-19 की भयंकर त्रासदी से चिकित्सा पेशे से जुड़े खट्टे-मीठे अनुभव से दो-चार हुए कोविड पीड़ितों की दासतां का स्वतःसंज्ञान नीति निर्धारकों को लेना ज़रूरी - एड किशन भावनानी गोंदिया - वैश्विक रूप से खासकर भारत में आदि-अनादि काल से ही चिकित्सक पेशे से जुड़े व्यक्तियों को खासकर डॉक्टरों को एक भगवान ईश्वर अल्लाह का दर्जा दिया हुआ है। हमारे बड़े बुजुर्ग बताते हैं कि उनके जमाने में और सैकड़ों वर्षो पूर्व डॉक्टरों को वैद्य के रूप में जाना जाता था। उस समय भी हम उन्हें ईश्वर अल्लाह ही दर्जा देते थे। क्योंकि उनमें समर्पण का भाव, नैतिकता, संवेदनशीलता, सहयोग और सेवा का भाव कूट-कूट कर भरा रहता था। उस समय पैसों की इतनी अहमियत नहीं थीं, जितनी सेवा, सहयोग, समर्पण का भाव था। साथियों बात अगर हम वर्तमान चिकित्सा पेशे से जुड़े डॉक्टरों सहित हर व्यक्ति जिनमें हम फार्मा को भी शामिल कर सकते हैं की करें तो हम सब ने टीवी चैनलों, प्रिंट इलेक्ट्रॉनिक मीडिया द्वारा दिखाए कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर देखें कि किस तरह का माहौल था। बीते डेढ़ वर्ष में मैंने स्वयं भी कोविड संबंधी अनेक ग्राउंड रिपोर्टिंग देखी और अपने

तुम एक दीपक जलाये रखना

दीपो का उत्सव तो आता जाता रहेगा। तुम एक दीपक सदा जलाये रखना। प्रेम का दीपक कभी बुझने मत देना विश्वास की लो सदा प्रज्वलित रखना। जीवन मे उतार चढ़ाव आते जाते रहेंगे होली के रंगों को जीवन मे भरे रखना। कितना भी मुखालिफ हो वक़्त तुम्हारा  धाराओं के विपरीत तैरने का हौसला रखना। तुम एक दीपक सदा जलाये रखना..... पग पग पे लोग काटे भी बिछाएंगे अपना बन तेरे दिल को भी दुखायंगे वो बार बार तोडेंगे तेरे हौसले को ऐसे लोगो को नज़रो से गिराये रखना। तुम एक दीपक सदा जलाये रखना..... जीवन है चलने का नाम , चलते रहना हर सुबह उम्मीदों का सूरज उगाए रखना तेरे कर्म ही तेरी परछाई है ये जान लो अपनी बगिया में  प्यारे फूल लगाए रखना। तुम एक दीपक सदा जलाये रखना..... कमल राठौर साहिल  शिवपुर , मध्य प्रदेश

**मेरी भारत माता**

   मेरी भारत माता, तुम हो वीरों की गाथा, तुम को सत सत नमन, तुम को शत शत वंदन,     मेरी भारत माता, तुम हो हम सब की माता, तेरे चरणों में शीश झुकाता,   तुम को शत शत वंदन,      मेरी भारत माता,    तुमसे है मेरा नाता,  तुमको शत-शत नमन,  तुमको शत-शत वंदन,  तु महान है मां,   देश की रक्षा के लिए,  कई वीर जवानों ने,  अपने प्राण दिए मां,   उन शहीदों को भी,     शत शत नमन,    मेरी भारत माता,  तुमको शत-शत वंदन!         प्रस्तुति      कृष्णा चौहान