Posts

Showing posts from July, 2020

दुश्मनों के दांत खट्टे करने को आ गया 'राफेल', सुखोई विमान दे रहे हैं सुरक्षा

Image
अंबाला। हिन्दुस्तान के हौसलों को बढ़ाने और दुश्मनों के दांत खट्टे करने के लिए राफेल विमान का पहला बेड़ा अंबाला एयरबेस पहुंचने वाला है। पांच लड़ाकू विमानों का यह बेड़ा हरियाणा के अंबाला एयरबेस में तैनात रहेगा। लड़ाकू विमानों के इस बेड़े ने सोमवार को फ्रांसीसी बंदरगाह शहर बोरदु के मेरिग्नैक एयरबेस से उड़ान भरी थी। ये विमान लगभग 7,000 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद बुधवार दोपहर अंबाला पहुंचे हैं। इस दौरान विमान केवल एक जगह संयुक्त अरब अमीरात में रुका था। अधिकारियों ने बताया कि इन विमानों में एक सीट वाले तीन और दो सीट वाले दो विमान मौजूद हैं। बता दें कि अधिकारियों ने अंबाला सैन्य अड्डे के आसपास नि षेधाज्ञा जारी कर तस्वीरें लेने और वीडियो बनाने पर रोक लगा दी है। हालांकि मीडियाकर्मियों को अब राफेल लड़ाकू विमान की फोटोग्राफी करने की अनुमति मिल गई है।   

बाढ़ की विभीषिका

आये जब यह बारिस का मौसम दिल बहुत घबराता रहता है मेरा मैं बिहार का अबला ग्रामीण हूँ  बाढ़ की विभीषिका से नाता मेरा।   यह बारिस अमीरो को शकून देती गरीबों के छप्पर को तो चूअन देती भींगते बदन और रोजी न रोजगार आशा में दिन निकला थम जा बरसात ।   नदियों में उबाल देख डर लगा रहता घर तो बहेगा ही फसल भी बर्बाद हर वर्ष हमलोगों को देती दोहरी मार बाढ़ से निजात का कोई न करता उपाय।   बचपन से देख रहा सबका यही हाल सरकारें बदलती गयी नहीं बदली चाल बिहार को आगे नही पीछे ले जाते हैं  हर वर्ष सरकार व यह नदियों की धार।।   फिर शूरू होता  बंदरबाट   का  धंधा लाखो  पैकेज  बनते  करोड़ों के  चंदे कुछ बांटकर,  खूब चलता गोरख घंघा फिर वहाँ घडियाली आँसू जाकर बहता।   यह विवशता भरी खेल हमसे खेले हम ग्रामीण फिर भी इनको न बोले यह जीवन कैसे चले इनपर चुप कैसे रहे सवालजबाब जब हो ये विपक्ष को बोले।                                        आशुतोष                                    पटना बिहार 

संतान

राधिका की शादी राहुल से हुए आठ वर्ष व्यतीत हो गए थे किंतु उनके कोई संतान न थी। राधिका जब दूसरे के बच्चों को देखती तो उसका मन घावों से भर जाता और वह भी अपनी गोद में कोई बालक या बालिका को लेने के लिए तरसने लगती। किंतु ईश्वर ने उसे यह सुख प्रदान नहीं किया था। उसकी ममता व्याकुल होकर उससे यही प्रश्न पूछती कि आखिर मैंने ऐसा कौन सा पाप किया था, जो मैं मां न बन सकी। उसने और उसके पति राहुल ने सभी मेडिकल टेस्ट करवा लिए थे। दूर-दूर के सिद्ध और प्रसिद्ध धर्म स्थानों में जा-जाकर ईश्वर से संतान की प्रार्थना भी कर चुके थे। किंतु सब कुछ असफल ही रहा, उनकी गोद न भर सकी। राहुल को भी संतान की कमी बहुत सालती थी किन्तु वह कभी अपनी पीड़ा राधिका के सामने जाहिर नहीं होने देता था और स्वयं को ऑफिस के कामों में अधिकाधिक व्यस्त रखता था। वह समझता था कि इस दुर्भाग्य के पीछे राधिका का कोई दोष नहीं है। संतान का सुख उसके भाग्य में ही नहीं है इसीलिए मेडिकल रिपोर्टों में भी कोई कमी न निकलने के बावजूद उन्हें यह सुख प्राप्त नहीं हो पा रहा। राधिका भी यही कोशिश करती कि वह राहुल के सामने सामान्य रह सके और उसके भीतर ममता का उठ

गरीबी शिक्षा में बाधक नहीं है 

हम जिस युग में जी रहे हैं उसमे आधुनिक तकनीकी हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है जिसे सिखने या इस्तेमाल करने के लिए शिक्षा की अहमियत होती है. शिक्षा हम सभी के उज्जवल भविष्य के लिए एक बहुत ही आवश्यक साधन है. हम अपने जीवन में शिक्षा के इस साधन का उपयोग करके कुछ भी अच्छा प्राप्त कर सकते हैं. ये तो हम हमेसा से सुनते आये हैं की शिक्षा पर दुनिया के हर एक बच्चे का अधिकार है. देश के विकास के लिए प्रत्येक बच्चे का शिक्षित होना बेहद जरुरी है।  लेकिन हमारे देश भारत में क्या इन बातों पर अमल किया जाता है? सभी इस बात से वाकिफ हैं की भारत में गरीब लोगों की संख्या मध्यवर्गीय और अमीर लोगों की तुलना में कई ज्यादा है. इस गरीबी के कारण ऐसे कई लाख बच्चे हैं जिन्हें प्राथमिक शिक्षा भी नसीब नहीं होती और बचपन से ही उन्हें बाल श्रम के दलदल में ढकेल कर उनका मासूम सा बचपन छीन लिया जाता है।  गरीबी के कारण केवल एक परिवार को ही नहीं बल्कि उस देश को भी इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ती है. अशिक्षित लोगों की संख्या बढ़ने से देश के उन्नति पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है।  हमारे देश की हालत को सुधारने का एक मात्र रा

"जब हमारे अन्नदाता ही नहीं होंगे तो हम खाएंगे क्या ??""

हाल ही में जो सभी का पेट भरते है हमारे किसान उनकी हत्या बिहार के कटिहार जिले में कर दी गई । आखिर दोस्तों कब थमेगी हमारे अन्नदाता पर ज़ुल्म ! दोस्तों एक तरफ तो हमारे अन्नदाता उनके लागत का उचित मूल्य और अत्यधिक कर्ज होने व फसल बर्बाद हो जाने के कारण आए दिन खुदकुशी जैसे कदम उठाने को मजबूर होते हैं ,तो वही दूसरी तरफ हमारे अन्नदाता का इस प्रकार से खुलेआम हत्या आखिर क्यों नहीं सरकार हमारे किसानों के लिए सुरक्षा कानून बनाती है? दोस्तों देखना आप कोविड 19 जैसी वैश्विक महामारी के कारण गिरती अर्थव्यवस्था को भी हमारे कृषक वर्ग ही पटरी पर लाएंगे। दोस्तों ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इकनोमिक कोऑपरेशन एंड डेवलपमेंट और इसके साथ ही इंडियन काउंसिल फॉर रिसर्च ऑन इंटरनेशनल इकोनामिक रिलेशंस के एक अध्ययन के मुताबिक भी भारत में पिछले दो दशकों से खेती लगातार घाटे का सौदा बनी हुई है। दोस्तों आज आजादी के 72 साल बीत जाने के बाद भी कृषि घाटे का सौदा बनी हुई है इसके लिए सरकारी नीति ही कहीं ना कहीं परोक्ष या अपरोक्ष रूप से जिम्मेदार  है । साथियों हम देखते हैं  कि हमारे यहां मुद्रास्फीति को नियंत्रित रखने के लिए अनाज की कीमत

अलग - अलग मापदण्ड

       हर साल की तरह इस साल भी जैसे ही नए साल की पढ़ाई शुरू हुई। प्रिंसिपल मैडम साधना जी ने प्रार्थना स्थल पर खड़े होकर प्रार्थना के बाद अपनी स्पीच देना शुरू किया। उनकी स्पीच सभी बच्चों के लिए और स्कूल में पढ़ाने वाली सभी अध्यापकों के लिए थी।उन्होंने अपने सभी अध्यापकों और स्कूल में आए नए और पढ़ने वाले पुराने विद्यार्थियों को को समझाते हुए अपनी बातों को उनके सामने रखना शुरू किया।              साधना जी ने बड़े ही प्यार से बच्चों को समझाया कि नए साल में सभी अपने किताबों को ध्यान से पढ़े और अपने भविष्य के लिए बडी ही मेहनत से पढ़ाई करें।उन्होंने अपने अध्यापकों से अनुरोध किया कि बच्चों को इस तरीके से पढ़ाया जाए कि उन्हें किसी भी प्रकार के ट्यूशन की जरूरत ना पड़े।उनकी पढ़ाई की सारी परेशानी कक्षा में पढ़ाई के दौरान ही दूर की जाएं और बच्चों के मां-बाप के होने वाली ट्यूशन की फीस का अलग से खर्चे ना हो।             साधना जी ने अपने टीचरों को समझाया कि उन्हें इतनी लगन से पढ़ाये कि जैसे अपने बच्चों को पढ़ाते है।उनकी शिक्षा से बच्चे आगे बढ़े और उन्हें किसी भी ट्यूशन की जरूरत ना पड़े।भाषण के बाद और स

ग़ैर कानूनी कार्यो को उजागर करने वाले पत्रकारों पर ही सम्बन्धित थाना कर रहा मुक़दमा दर्ज

Image
लखनऊ। ग़ैर कानूनी कार्यो को उजागर करने वाले पत्रकारों पर ही सम्बन्धित थाना कर रहा मुक़दमा दर्ज सूत्र वीडयो में चकला सम्बन्धित महिलाओ के बयान के बावजूद पत्रकारों पर आखिर क्यों दर्ज हुआ मुक़दमा सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार क्षेत्रवासियों द्वारा सम्बदन्धित  मामले की तहरीर नही लेंगे थाना प्रभारी मड़ियांव पत्रकारो को ही क्यों वादी बनाने में तुला प्रशासन आइये देखते है च कला सम्बन्धित महिलाओ के बयान का वीडियो साभार से हिंदमोर्चा न्यूज़

शिवराज सिंह चौहान की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, मुख्यमंत्री ने कहा- मेरे संपर्क में आए लोग टेस्ट कराएं

Image
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने उनके संपर्क में आने वालों से कोरोना टेस्ट कराने और करीबियों से क्वारैंटाइन होने की अपील की है। वे कोरोना से संक्रमित होने वाले देश के पहले मुख्यमंत्री हैं। तीन दिन पहले उनके साथ लखनऊ जाने वाले कैबिनेट मंत्री अरविंद भदौरिया की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। शुक्रवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और उनकी पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। शिवराज ने खुद ट्वीट करके जानकारी दी मुख्यमंत्री ने शनिवार को ट्वीट करके खुद अपने संक्रमित होने की जानकारी दी। उन्होंने कहा- मैं कोरोना गाइडलाइन का पूरा पालन कर रहा हूं। डॉक्टर की सलाह के अनुसार खुद को क्वारैंटाइन करूंगा और इलाज कराऊंगा। प्रदेश की जनता से अपील है कि सावधानी रखें, जरा सी असावधानी कोरोना को निमंत्रण देती है। उन्होंने कहा कि मैंने कोरोना से सावधान रहने के हर संभव प्रयास किए, लेकिन समस्याओं को लेकर लोग मिलते ही थे। मेरी उन सब को सलाह है कि जो मुझसे मिले, वे अपना टेस्ट करवा लें। कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं: शिवराज शिवराज ने कहा कि कोरोना से घबराने क

मुख्यमंत्री हुए कोरोना वायरस से संक्रमित

Image
भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री चौहान की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने ट्वीट कर खुद इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि मैं कोरोना पॉजिटिव हो गया हूं। मेरी सभी साथियों से अपील है कि जो भी मेरे संपर्क में आए हैं वह अपना कोरोना टेस्ट करवा लें। मेरे निकट संपर्क वाले कोरेंनटाइन में चले जाएं। मैं कोरोना गाइड लाइन का पूरा पालन कर रहा हूं। डॉक्टर की सलाह के अनुसार स्वयं को क्वारंटाइन करूंगा और इलाज कराऊंगा। मेरी प्रदेश की जनता से अपील है कि सावधानी रखें, जरा सी असावधानी कोरोना को निमंत्रण देती है।  उन्होंने आगे कहा कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है। कोरोना का समय पर इलाज होता है तो कोरोना बिल्कुल ठीक हो जाता है।  

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन

Image
मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन हो गया। मेदांता अस्पताल के निदेशक डॉ. राकेश कपूर ने जानकारी देते हुए बताया कि लालजी टंडन ने लखनऊ के मेदांता अस्पताल में सुबह पांच बजकर 35 मिनट पर ली अंतिम सांस ली। लालजी टंडन के निधन के बाद उनके बेटे और यूपी सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन ने ट्वीट करके कहा कि बाबूजी नहीं रहे।  गौरतलब है कि लालजी टंडन को 11 जून को सांस लेने में दिक्कत, बुखार और पेशाब में परेशानी की वजह से लखनऊ स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी हालत दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही थी। जिसके बाद उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को मध्यप्रदेश का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया था।

""चुनाव , सत्ता और माफिया लूट के लोकतंत्र का सच है भूख और गरीबी""

कोविड 19 से उपजी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से दुनिया के लगभग सभी लोग त्राहिमाम है । लेकिन सबसे अधिक हमारे गरीब मजदूर और किसान लोग है । जब देश में लॉकडाउन लगाया गया था तो हमारे प्रवासी मजदूर जो कभी रोटी के लिए अपना घर छोड़कर दूसरे राज्यों और महानगरों में गए थे, लेकिन हम सभी ने देखा दोस्तों की हमारे देश के रीढ़ प्रवासी मजदूर  हजारों किलोमीटर पैदल ही चल कर अपने घरों की तरफ लौटने के लिए विवश हो गए थे । इनमें से बहुत से प्रवासी मजदूर अपनी मंजिल तक पहुंचने से पहले हीे कहीं किसी ट्रेन के नीचे तो कहीं कुछ हमारे प्रवासी मजदूर बसों और ट्रकों के नीचे कुचलकर मारे गए। हैरानी की बात यह है कि इन प्रवासी मजदूरों पर सभी राजनीतिक दलों ने खूब राजनीति की मुफ्त में अपना प्रचार किया लेकिन वास्तव में किसी भी प्रवासी मजदूरों का मदद नहीं किया गया। लेकिन हमने देखा कि लॉकडाउन के दौरान सरकार ने गरीबों को मुफ्त में राशन मुहैया कराने का निर्णय लिया और बहुत से संपन्न लोगों ने भी अपने सामर्थ्य अनुसार जरूरतमंद लोगों का मदद भी किए । लेकिन इस बिच में देखा गया कि अलग-अलग राज्यों और जिलों में सक्रिय राशन माफिया गरीबों

शॉर्ट सर्किट से लगी दैनिक अयोध्या टाइम्स कार्यालय में आग

Image
कानपुर। बर्रा थाना क्षेत्र के बर्रा 3 केडीए मार्केट में संजय नगर निवासी बृजेश मौर्या का दैनिक अयोध्या टाइम्स कार्यालय है साथ ही जिसमें ऑनलाइन फार्म व ग्राफिक्स का काम होता है जिसमें रविवार देर रात अचानक शार्ट सर्किट होने के कारण आग लग गई जहां से धुआं उठते देख आस-पड़ोस के लोगा बाहर आ गये। जिसे देख क्षेत्रीय लोगों ने कार्यालय के बाहर लिखें मोबाइल नंबर पर फोन करके कार्यालय मे आग लगने के बारे में बताया जिनकी बात सुनते ही मौके पर आए कार्यालय ऑनर बृजेश मौर्य ने तुरंत कार्यालय का शटर खोला जिसमें तेज लपटों के साथ सारा सामान जल रहा था जिसपर बृजेश मौर्य और क्षेत्रीय लोगों ने मिलकर आग में बाल्टियो से भर भर कर पानी डाला जिससे लोगों ने थोड़ी देर बाद कार्यालय के अंदर लगी आग पर काबू पाया आग लगने से कार्यालय के अंदर रखा करीब दो से ढाई लाख का सामान जलकर खाक हो गया।

सकारात्मक या नकारात्मक नजरिया

हमारी जिंदगी में नजरिया (attitude) बहुत ज्यादा मायने रखता है। हमारा नजरिया बचपन में ही बन जाता है। हम कैसे विचार करते हैं ये हमारे नजरिए पर निर्भर करता है। अगर हमारी सोच अक्सर सकारात्मक होती है तो हमारा नजरिया सकारात्मक होता है। अन्यथा हमारा नजरिया नकारात्मक होता है। कुछ लोग जरा सी परेशानी आयी औऱ घबराने लगते हैं । उन्हें हमेशा लगता है कि यह मुसीबत हमारा पीछा नहीं छोड़ेगी। एक के बाद दूसरी मुसीबत खड़ी हो जाएगी। इनका कोई अंत नहीं है। यह सोचकर वे ज्यादा परेशान हो जाते हैं। उनका नजरिया ही नकारात्मक बन जाता है। वे हर सफल व्यक्ति में केवल बुराइयाँ ही तलाशते हैं। उन्हें लोगों की अच्छाइयां कभी दिखाई नहीं देती हैं। वे लोगों में केवल नकारात्मक विचारों को फैलाते हैं। न कभी खुश रहते हैं और ना किसी को रहने देते हैं। हमेशा नकारात्मक बातों को करते रहते हैं। जीवनभर अपना नजरिया बदल नहीं पाते हैं। इस वजह से जीवन में सदा असफल रहते हैं। अपनी असफलता का कारण दूसरों को मानते हैं। वे यह समझ नहीं पाते हैं कि उनकी असफलता की असली वजह उनका नकारात्मक नजरिया है। वे अपने आपमें कभी सुधार नहीं करते हैं। सदा दुखी और असन्

उचित फीस

         लॉक डाउन के समय में अपने बच्चों की पढ़ाई खराब होने का डर शर्मा जी को लगातार हो रहा था।फिर कुछ खबर आई कि बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन होगी।अब शर्मा जी को कुछ तस्सली हुई।उन्हें लगा शायद अब बच्चों का 1 साल खराब होने से बच जाएगा।ऑनलाइन पढ़ाई शुरू होने के कुछ दिनों बाद ही फीस की स्लिप भी मिल गयी।फीस स्लिप को देखकर शर्मा जी की खुशी का ठिकाना ना रहा।उन्होंने देखा फीस की स्लिप तो केवल 11000 रुपये की है।जबकि पिछले साल तो एक क्वार्टर की फीस 12000 रुपये थी।          शर्मा जी बहुत खुश थे कि चलो लॉक डाउन में स्कूल वालों ने कुछ तो फीस कम कर दी।तभी अचानक शर्मा जी का माथा ठनका।उन्होंने पिछले साल की स्कूल की फीस की स्लिप निकाली और उसमे 12000 रुपये की पूरी डिटेल देखने के बाद उन्हें समझ में आया कि वह तो बेकार ही खुश हो रहे थे।12000 रुपये क्वार्टर की फीस में 2000 रुपये तो बस की फीस थी।बच्चे जब स्कूल नही जाएंगे और घर पर ही पढ़ाई करेंगे।तो स्कूल की फीस के अलावा बस की फीस तो जाएगी ही नहीं,इसका मतलब इसकी स्लिप तो 10000 रुपये की आनी चाहिए थी।जो कि 11000 रुपये की थी।शर्मा जी अपनी शिकायत लेकर स्कूल की प्रिंसि

जलती आग में घी डालना कोई विपक्षियों से सीखे

कल जब आठ पुलिस कर्मियों की बड़ी ही क्रूरता व निर्दयता से हत्यारे ने हत्या की , तब विपक्ष ने उसे हत्यारा कह-कहकर सरकार के नाक में दम कर दिया था । सोशल मीडिया से लेकर समाचारों के हर पन्नों पर विपक्ष की खोखली बयान बाजियां प्रमुखता से छाई हुई थीं , कि एक ऐसा खूंखार हत्यारा जो हमारे आठ पुलिस कर्मियों को मार कर खुलेआम घूम रहा है । आखिर उसके खिलाफ कार्रवाई कब होगी ? कल पुलिस कर्मियों के साथ दया भाव व घड़ियाली आसूं बहाने वाला यही विपक्ष जो सरकार पर सवालों के अंबार लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा था , अब वही विपक्ष जिसने उसे खूंखार हत्यारे से संबोधित किया , आज उस हत्यारे के एनकाउंटर किए जाने के बाद विपक्ष ने ऐसा रंग बदला कि उसके आगे गिरगिट भी रंग बदलने में मात खा गया । आठ पुलिस कर्मियों के घर वाले कल महज विपक्ष की बयान बाजियां सुनते रहे और आज वही विपक्ष पलटी मार हत्यारे के साथ जा खड़ा हो गया । अब कांग्रेस को ही ले लें , वह खूंखार हत्यारे की हत्या के बाद हत्यारे का पक्षधर बन मानवाधिकार आयोग में जा पहुंचा । कल शहीद हुए पुलिस कर्मियों के पक्ष में महज खोखले राग अलाप रहे इस विपक्ष ने उन आठ पुलिस कर्

बघौली थाना में कोरोना की दस्तक, महिला कांस्टेबल व उसके पति की रिपोर्ट पॉजिटिव

Image
बघौली ध्हरदोई। (अयोध्या टाइम्स)कोरोनावायरस महामारी का कहर दिनों दिन बढ़ता जा रहा है जिसकी चपेट में बघौली थाना भी आ गया है जहां पर तैनात महिला कांस्टेबल तथा उसके पति की रिपोर्ट कोरो ना पाजिटिव आई है थाना परिसर के साथ-साथ क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है बताते चलें कि बघौली थाना में तैनात महिला हेल्थ हेड कांस्टेबल ज्योति कुशवाहा उम्र लगभग 38 वर्ष तथा  देवकांत कुशवाहा पुत्र कालिका प्रसाद कुशवाहा उम्र लगभग 41 वर्ष की जांच दिनांक 10 ध्07ध् 2020 को सैंपल हुआ था जिसके बाद आज रिपोर्ट कोरो ना पाजिटिव आने से थाना परिसर संदेह के घेरे में है इसके साथ बघौली क्षेत्र में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है  बघौली पुलिस कर्मियों के मस्तक पर चिंता की लकीरें साफ दिखाई दे रही हैं जिससे पूरा स्टाफ सदमे में है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अ धीक्षक अहिरोरी मनोज सिंह ने बताया कि बघौली थाना में तैनात महिला कांस्टेबल एवं उसके पति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा उन्हें क्वॉरेंटाइन कराने की व्यवस्था की जा रही है।

अमिताभ और अभिषेक के बाद एश्वर्या राय बच्चन और अराध्या बच्चन भी कोरोना पॉजिटिव

Image
मुंबई अमिताभ और अभिषेक के बाद एश्वर्या राय बच्चन और अराध्या बच्चन भी कोरोना पॉजिटिव.

अनुपन खेर की मां ,भाई, भाभी और भतीजी को हुआ कोरोना का संक्रमण

Image
कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है अभी अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक बच्चन के कोविड 19 पॉजिटिव होने की खबरों ने सभी को हैरान करके रख दिया था। अब खबर आ रही है कि अनुपन खेर की मां दुलारी देवी सहित घर के कई सदस्य कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। घर के कई सदस्यों के संक्रमित होने के बाद अनुपन खेर ने भी अपना कोविड 19 का टेस्ट करवाया हैं जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आयी हैं। फिलहाल अनुपम खैर की मां को कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती करवाया है। जानकारी के मुताबिक अनुपन खेर के भाई, भाभी और भतीजी को कोरोना संक्रमित है। अनुपन खेर ने अपने मां और परिवार के सदस्यों के कोरोना पॉजिटिव होने के जानकारी खुद सोशल मीडिया से दी हैं। अनुपम खैर ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा-अनुपम खेर ने आगे लिखा, 'मैंने अपना भी कोरोना टेस्ट करवाया, जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। मैंने इसकी जानकारी बीएमसी को भी दी है।' वहीं वीडियो में अनुपम खेर ने कहा,'पिछले कुछ दिनों से मेरी मां दुलारी देवी को कुछ दिनों से भूख नहीं लग रही थी। वह कुछ भी नहीं खा रही थी और सोती रहती थी। तो हमने डॉक्टर की सलाह पर उनका ब्लड टेस्ट करवाया, उसमें सब

अमिताभ बच्चन के बंग्लो 'जलसा' की सुरक्षा बढ़ाई गई

Image
मुंबई। मुंबई पुलिस ने अभिनेता अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक बच्चन के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद नानावती अस्पताल और यहां जुहू स्थित उनके दो बंगलों के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी है। अमिताभ और अभिषेक नानावती अस्पताल में भर्ती हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अमिताभ और अभिषेक ने शनिवार को जब यह जानकारी दी कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और अस्पताल में भर्ती हैं, तो उसके बाद कुछ लोगों ने विले पार्ले (पश्चिम) स्थित चिकित्सकीय केंद्र के बाहर एकत्र होने की कोशिश की, लेकिन उनसे वहां से जाने को कहा गया और बताया गया कि उन्हें सड़क पर खड़े होने की अनुमति नहीं है। सांताक्रूज पुलिस थाने के वरिष्ठ निरीक्षक श्रीराम कोरेगांवकर ने कहा, ‘‘हमने अस्पताल के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी है, ताकि वहां लोग एकत्र न हों। अस्पताल में कोविड-19 के और भी म रीज भर्ती हैं और उन्हें इससे असुविधा नहीं होनी चाहिए। हमारे अधिकारी अस्पताल के बाहर तैनात हैं और किसी को वहां एकत्र होने की अनुमति नहीं दी जा रही।’’ जुहू पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि अभिनेता के बंगलों के बाहर अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था

महानायक अमिताभ बच्चन हुए कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में भर्ती

Image
बॉलीवुड के महानायक अभिताभ बच्चन की अचानक तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें मुंबई के नानावती अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल में अमिताभ बच्चन की कोरोना वायरस की जांच भी हुई जहां उनके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई। अमिताभ बच्चन ने अपने कोरोना पॉजिटिव होने की बात खुद सोशल मीडिया पर अपने फैंस को दी। हैं।  अमिताभ बच्चन ने ट्विचर पर लिखा- मेरा कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है। अस्पताल में भर्ती किया गया है। अस्पताल अथॉरिटीज़ को जानकारी दे रही हैं। परिवार और स्टाफ का भी कोरोना वायरस का टेस्ट किया गया है, जिसकी रिपोर्ट का इंतज़ार किया जा रहा है। पिछले 10 दिनों में जो लोग भी मेरे करीब आए हैं, उनसे गुज़ारिश है कि वो अपनी जांच करा लें। आपको बता दें कि अमिताभ बच्चन हाल ही में फिल्म गुलाबो-सिताबों में नजर आये थे। अमिताभ ने इस फिल्म में पहली बार अयुष्मान खुराना के साथ काम किया था। इस फिल्म को अमेजन प्राइम वीजियो पर रिलीज किया गया था। इसके अलावा अभी अमिताभ कई बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं जिनकी शूटिंग लॉकडाउन के कारण रुकी हुई थी।    

बढ़ती जनसंख्या बनतीं बड़ा खतरा

जनसंख्या दिवस का उद्देश्य है कि बढ़ती जनसंख्या को रोकने का प्रयास किया जाए।  जिसके लिए हमें समय-समय पर बढ़ती जनसंख्या के नुकसान ओ की जानकारी दी जाती है ताकि हम यहां समझे की बढ़ती जनसंख्या हमारे लिए क्यों रोकना आवश्यक है किंतु इसके बावजूद भी हमारे देश की जनसंख्या प्रत्येक वर्ष तेजी से बढ़ती जा रही है एक और जहां हम एक बड़ी जनसंख्या वाला देश होने के कारण खुद पर गर्व का अनुभव करते हैं क्योंकि हमारे देश में युवाओं की जनसंख्या अन्य किसी देश की जनसंख्या से अधिक है वहीं दूसरी और यही बढ़ती हुई जनसंख्या हमारे लिए परेशानियां भी बन रही है। बेरोजगार लोगों का बढ़ता आंकड़ा और बढ़ती ग़रीबी जनसंख्या की ही देन है। अधिक जनसंख्या के चलते हमारे संसाधन कम पड़ जाते हैं। जिसकी वज़ह से हम एक विकसित शक्तिशाली देश बनने का सपना जो देखते हैं, उसमें रुकावट पैदा होती है। बेरोजगारी और ग़रीबी अपराधों को बढ़ाती है। लोगों का जीवन असुरक्षित हो जाता है। स्त्रियों को सबसे अधिक अपराधों का शिकार होना पड़ता है। विचार करिए कोरोनावायरस ने किस तरह हमारी और हमारे सिस्टम की पोल खोली हैं। हमारे पास अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं केवल दिल

बढ़ती जनसंख्या को रोकना जरुरी

दरअसल हम मूलभूत समस्याओं से अक्सर मुँह मोड़ते रहे हैं।कारण चाहे कुछ भी रहे हों लेकिन ऐसा रहा है।ये भी सच है कि वर्षोंवर्ष से हम सिर्फ तात्कालिक रूप से ही किसी चीज का इलाज करते है सार्वकालिक रूप से नहीं और परिणाम हम भुगतते ही हैं।भारत देश में अनेकानक जटिल से जटिल समस्याएँ हैं जो देश की उन्नति और प्रगति में बाधा पैदा करती हैं।जैसे गरीबी,बेरोजगारी,बेकारी,भुखमरी, शिक्षा का लगातार गिरता स्तर,महिला सुरक्षा,कानून की पालना,राजनीति में घुसता धर्म और गुंडागर्दी,स्वास्थ्य सेवाओं का गिरना आदि-आदि।इन्हीं समस्याओं में से एक समस्या ऐसी भी है जो इन्हीं में कई समस्याओं की जड़ है।यदि उस समस्या का निपटारा कर दिया जाए तो सम्भवतः कई समस्याएं खुद-ब-खुद दूर हो जाएगी।वह समस्या है निरन्तर सुरसा राक्षसी की तरह मुँह फैलाती जनसंख्या की बढ़ोतरी।यह भी जटिल समस्याओं में से एक है।आज की तारीख में समस्त विश्व में चीन के बाद भारत सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है।यदि यही हाल रहा तो लगभग दो हजार तीस तक हम इस मामले में चीन को पछाड़ कर विश्व में पहले स्थान पर होंगे। हमारी जनसंख्या वृदधि की दर का इसी से अनुमान लगाया जा सकता है कि

देश को प्रकृति और विकास के बीच संतुलन की आवश्कता

कोरोना वायरस महामारी के चलते लगभग 2 माह के लॉकडाउन के बाद भारत सहित विश्व के लगभग 75 प्रतिशत देश अपनी अर्थव्यवस्थाएँ धीरे-धीरे खोलते जा रहे हैं। अब आर्थिक गतिविधियाँ पुनः तेज़ी से आगे बढ़ेंगी। परंतु लॉकडाउन के दौरान जब विनिर्माण सहित समस्त प्रकार की आर्थिक गतिविधियाँ बंद रहीं तब हम सभी ने यह पाया कि वायु प्रदूषण एवं नदियों में प्रदूषण का स्तर बहुत कम हो गया है। देश के कई भागों में तो आसमान इतना साफ़ दृष्टिगोचर हो रहा है कि लगभग 100 किलोमीटर दूर स्थित पहाड़ भी साफ़ दिखाई देने लगे हैं, कई लोगों ने अपनी ज़िंदगी में इतना साफ़ आसमान पहले कभी नहीं देखा था। इसका आश्य तो यही है कि यदि हम आर्थिक गतिविधियों को व्यवस्थित तरीक़े से संचालित करें तो प्रकृति के साथ संतुलन बनाए रखा जा सकता है।   हर देश में सामाजिक और आर्थिक स्थितियाँ भिन्न-भिन्न होती हैं। इन्हीं परिस्थितियों के अनुरूप आर्थिक या पर्यावरण की समस्याओं के समाधान की योजना भी बनती है। आज विश्व में कई ऐसे देश हैं जिनकी ऊर्जा की खपत जीवाश्म ऊर्जा पर निर्भर है। इससे पर्यावरण दूषित होता है। हमारे अपने देश, भारत में भी अभी तक हम ऊर्जा की पू

गैंगस्टर की गिरफ्तारी का कॉमेडी ड्रामा

आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाले एक खूंखार अपराधी को सात रात और सात दिनों तक उत्तर प्रदेश पुलिस की चालीस थानों की टीमें और पांच राज्यों की पुलिस दिन रात ढूंढ़ती है, किन्तु पकड़ने में असफल रहती है, और एक दिन अचानक वह उज्जैन के महाकाल मंदिर के प्रांगण में टहलता दिखाई देता है। वह सात दिनों में 1200 किमी की यात्रा करता है, गाड़ी में बैठ कर आराम से खाते पीते मंदिर पहुंचता है, वीआईपी दर्शन की पर्ची कटवा कर, इसप्रकार आराम से घूम फिर रहा था, मानो वो फरार न हो कर घूमने आया हो।          जिस गैंगस्टर को उत्तर प्रदेश के बड़े-बड़े अधिकारी तथा पांच राज्यों की पुलिस नहीं पकड़ पाई, उसे महाकाल मंदिर का एक गार्ड जिसका नाम लखन है, पहचान लेता है। वह इस पर लगातार दो घंटे तक नजर बनाए रखता है और स्थानीय पुलिस वालों को इसकी सूचना देता है और पुलिस विकास दुबे को वहां से गिरफ्तार कर लेती है।        जब पुलिस वाले उसको पकड़ने के लिए भाग दौड़ कर रहे थे तो वह उज्जैन में महाकाल से शायद अपने बचने की प्रार्थना करने गया था कि कहीं पुलिस उसका एनकाउंटर न कर दे।इस दौरान वह दस से ज्यादा टोलप्लाजा पर टोल देने के लिए रुका ह

विश्व जनसंख्या समस्या पर वैश्विक चेतना 2020

साल दर साल विश्व जनसंख्या विस्फोट की स्थिति में हो रही वृद्धि के मद्देनजर, इस स्थिति से अनभिज्ञ हो चुकी समस्त मानव जाति को एक मंच पर लाकर उन्हें बढ़ती हुई जनसंख्या के प्रति सचेत करने की एक पहल विश्व जनसंख्या दिवस (11 जुलाई) के रूप में आयोजित की जाती है। जिसमें दुनिया के लगभग सभी देश मिलकर जनसंख्या विस्फोट से उत्पन्न हो रही समस्त समस्याओं पर आपसी विचार-विमर्श करते हुए इन समस्याओं से निजात पाने हेतु कई वैश्विक सुझावों पर सहमति जाहिर करते हैं। हालांकि इस वर्ष जनसंख्या दिवस का विषय ' परिवार योजना एक मानव अधिकार है ' के अंतर्गत स्वस्थ व सुदृढ़ परिवार की स्थापना में समस्त मानव जाति की भागीदारी को सुनिश्चित करना, मगर फिर भी हर वर्ष जनसंख्या दिवस की भाँति इस बार भी बढ़ती जनसंख्या को केंद्र में रखकर, समस्त मानव जाति को जनसंख्या के महत्व को समझाया जाएगा। हालांकि जनसंख्या किसी भी राष्ट्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। संसाधनों के मुकाबले अगर जनसंख्या की वृद्धि कम है तो यह किसी भी राष्ट्र की बेहतर सामाजिक-आर्थिक स्थिति को प्रेरित करती है। जनसंख्या वृद्धि के प्रति सचेत करते हुए

कानपुर SP बोले, गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने भागने की कोशिश की, आत्मरक्षा में पुलिस ने फायरिंग की

Image
आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी विकास दुबे का एनकाउंटर कर दिया गया है। कानपुर मुठभेड़ की मौत की पुष्टि पुलिस ने की है। कानपुर पश्चिम के एसपी ने बताया कि विकास दुबे को जब लाया जा रहा था तब गाड़ी पलट गई, इसमें जो पुलिसकर्मी घायल हुए उसने उनका पिस्टल छीनने की कोशिश की। पुलिस ने उसे चारों तरफ से घेर कर आत्मसमर्पण कराने की कोशिश की जिसमें उसने जवाबी फायरिंग की। आत्मरक्षा में पुलिस ने फायरिंग की। जिसके बाद उसे कानपुर के अस्पताल लाया गया और चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गौरतलब है कि विकास दुबे को कानपुर ला रही एसटीएफ के काफिले की गाड़ी पलट गई। हादसा कानपुर टोल प्लाजा से 25 किलोमीटर दूर हुआ। इससे पहले कल विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था।  

हथियार छीनकर भागने की कोशिश में गैंगस्टर विकास दुबे का द एंड, शव लेकर हैलट अस्पताल पहुंची पुलिस और STF

Image
विकास दुबे को मध्य प्रदेश से कानपुर लेकर आ रहे उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स(एसटीएफ) का वाहन पलट गया। मौके पर पुलिस पहुंची है। इस हादसे में सभी घायलों को अस्पताल ले जाया गया। इस बीच सबसे बड़ी खबर जो सूत्रों के हवाले से आ रही है कि विकास दुबे ने भागने की कोशिश की और वह मुठभेड़ में मारा गया है। हथियार छीनकर भागने की कोशिश में 5 लाख के ईनामी बदमाश विकास दुबे को ढेर कर दिया। कानपुर के हैलेट अस्पताल में विकास की डेड बॉडी लेकर पुलिस पहुंची है।   

विकास दुबे पुलिस एनकाउंटर में मारा गया

Image
विकास दुबे को मध्य प्रदेश से कानपुर लेकर आ रहे उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स(एसटीएफ) का वाहन पलट गया। मौके पर पुलिस पहुंची है। इस हादसे में सभी घायलों को अस्पताल ले जाया गया। इस बीच सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि विकास दुबे ने भागने की कोशिश की और वह मुठभेड़ में मारा गया है।

उत्तर प्रदेश में फिर से लॉकडाउन

Image
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से लॉकडाउन लगने जा रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार ने कल रात 10 बजे से 13 जुलाई को सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन का ऐलान किया है। हालांकि इस लॉकडाउन में जरूरी सामानों की दुकानें खुली रहेंगी। सभी कार्यालय, बाजार और व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। आवश्यक सेवाओं को अनुमति दी जाएगी। ट्रेनों का संचालन जारी रहेगा। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के और 17 मरीजों की मौत हो गई, जबकि संक्रमण के 1,248 नये मामले सामने आने के बाद प्रदेश में इसके कुल मामले बढ़ कर 32,362 हो गये हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद में बृहस्पतिवार को बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित 17 और लोगों की मौत के साथ इस महामारी से मरने वाले लेागों की कुलसंख्या बढ़कर 862 हो गई है।   

पुलिस के हत्थे आया मोस्ट वांटेड विकास दुबे, मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार

Image
गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश में उत्तर प्रदेश पुलिस जगह-जगह खाक छान रही थी और एक-एक कर उसके गुर्गे को ठिकाने भी लगा रही थी। लेकिन इन सब के बीच पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई। खबरों के अनुसार आखिरकार आठ पुलिसकर्मियों की निर्मम हत्या के आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को गिरफ्तार कर लिया गया है।  उत्तर प्रदेश सरकार के सूत्रों का कहना है कि कानपुर मुठभेड़ के मुख्य आरोपी विकास दुबे को उज्जैन के एक पुलिस स्टेशन में गिरफ्तार किया गया।   

भारत में चीन की 59 ऐप बैन

भारत में चीन की 59 ऐप बैन कर देने से चीन बौखला गया है। चीन के विदेश मंत्री ने भारत के फैसले को परेशान करने वाला बताया है। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने चाइनीज ऐप्स की एक लिस्ट तैयार कर केंद्र सरकार से अपील की थी कि इनको बैन किया जाए। क्योंकि इनके जरिए चीन भारतीय डेटा हैक कर सकता है और इसीलिए भारत सरकार ने तुरंत इन 59 ऐप को बैन कर दिया है और आगे और भी चीनी ऐप पर प्रतिबंध लग सकता है।         टेलीग्राफ एक्ट के तहत संचार मंत्रालय को इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर को किसी भी वेबसाइट या ऐप का डेटा रोकने को कहने का हक है। अगले एक-दो दिन में यह डेटा रोक दिया जाएगा। गूगल प्ले स्टोर, ऐप स्टोर से ये ऐप हटा दिए गए हैं। इनके अपडेट भी नहीं मिलेंगे। डेटा रोकने पर यूजर्स को फीड मिलनी बंद हो जाएगी और केवल पुरानी वीडियो ही मिलेंगे।इन एप्स के जरिए हिंदुस्तानियों का डेटा दूसरे देशों में जा रहा था। चीन ने इसी तरह फेसबुक और गूगल को बैन कर दिया था। दुबई में व्हाट्सएप पर चैट तो कर सकते हैं पर व्हाट्सएप कॉल नहीं कर सकते।         एप्पल की रिपोर्ट ने भी दावा किया है कि यहां पर डेटा सुरक्षित नहीं है। इन 59 ऐप में टिक ट

डीसीपी के आदेशो पर पश्चिमी ठाकुरगंज पुलिस अपराधों पर लगाम लगाने के लिये लगातार दिख रही मुस्तैद

Image
पुष्पेंद्र सिंह सवांददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स लखनऊ  डीसीपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी के आदेशों पर काम कर रही पश्चिमी पुलिस लगातार बढ़ रहे अपराधों पर नियंत्रण करने के लिये डीसीपी और पश्चिमी पुलिस लगातार रोडो पर नजर आ रहे है। लखनऊ ठाकुरगंज क्षेत्र में पुलिस ने किया पैदल मार्च अपराधों को बढ़ावा देने वालों को और संदिग्ध गतिविधियों को भांपने के लिये बालागंज से कैम्पवेल रोड तक हुआ मार्च जिसमें लोगों को मांस लगाने के लिए बोला गया और सामाजिक दूरी भी बनाने को कहा गया । भीड़ भाड़ न  हो लोगों को समझाया गया। जिससे जनता को किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े ।  वही दूसरी तरफ आदेशो का पालन न करने वाले लोगो के खिलाप चलाया जा रहा चेकिंग अभियान। लगातार चौराहों पर पुलिस चला रही चेकिंग अ भियान। बालागंज चौराहे पर गाड़ियों पर तीन लोग सवार होकर चल रहे और बगैर मास्क लोगों के भी  किये गये चालान।मार्च में थाना ठाकुरगंज प्रभारी राजकुमार सिंह व बालागंज चौकी प्रभारी विजय कुमार सिंह और अन्य भरी पुलिस बल के साथ मौजूद रहे।      

बालागंज चौराहे से कैम्पवेल रोड तक किया पैदल मार्च

Image
पुष्पेंद्र सिंह सवांददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स लखनऊ  लखनऊ ठाकुरगंज क्षेत्र में पुलिस ने किया पैदल मार्च अपराधों को नियंत्रण करने के लिये  और संदिग्ध गतिविधियों को भांपने के लिये बालागंज से कैम्पवेल रोड तक हुआ मार्च जिसमें लोगों को मांस लगाने के लिए बोला गया और सामाजिक दूरी भी बनाने को कहा गया भीड़ भाड़ न लोगों को समझाया गया मार्च में थाना ठाकुरगंज प्रभारी राजकुमार सिंह व बालागंज चौकी प्रभारी विजय कुमार सिंह और अन्य पुलिस बल के साथ मौजूद रहे।    

पिनाहट में आर्थिक तंगी व बेरोजगारी के चलते लगाई युवक ने लगाई फांसी, मौत

पिनाहट । थाना पिनाहट क्षेत्र के गांव पडुआ पुरा में आर्थिक तंगी व बेरोजगारी के चलते युवक ने फांसी लगा ली ।जिससे युवक की मौत हो गयी । मौत की सूचना से घर में कोहराम मच गया ।      जानकारी के अनुसार थाना पिनाहट क्षेत्र के गांव पडुआ पुरा निवासी बेरोजगारी और आर्थिक तंगी के कारण बीती रात करीब 12 बजे अपने घर में फांसी लगा ली । सूचना पर पहुंची पुलिस घायल को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिनाहट पहुंची ।जहां डॉक्टरों ने उसे रैफर कर दिया।      

घरेलू कलह के चलते कलयुगी पति ने पत्नी को उतारा मौत के घाट

पुष्पेंद्र सिंह सवांददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स लखनऊ  पत्नी के सर पर छोटे सिलेंडर से हमला कर किया मौत के हवाले लखनऊ। ठाकुरगंज थाना क्षेत्र के आदर्शनगर मल्लपुर में बुधवार की सुबह एक कलयुगी पति ने गैस के छोटे सिलेंडर से अपनी पत्नी के सर पर वार कर उसकी हत्या कर दी। पत्नी की हत्या कर पति आराम से फरार हो गया। घटना के बाद स्थानीय लोगो की सूचना पर पहुची ठाकुरगंज पुलिस ने मौका  ए वारदात पर मिले सुबूतों को कब्जे में लेने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसीपी का कहना है कि घरेलू विवाद में हत्या हुई है।आरोपी पति फरार तलाश जारी है। जानकारी के अनुसार मूल रूप से जिला सीतापुर की रहने वाली हैं 40 वर्षीय गुड़िया ठाकुरगंज के आदर्शनगर मल्लपुर में रहती थी। पति की मौत के बाद गुड़िया ने अपने देवर अम्बर के साथ दूसरी शादी की थी। बताया जा रहा है कि गुड़िया और अम्बर के बीच मनमुटाव की वजह से अम्बर अलग रहता था गुड़िया के पहले पति से उसके बच्चे है लेकिन वो भी अपनी माँ के साथ नही रहते है। बुधवार की सुबह गुड़िया का पति अम्बर गुड़िया के पास आया था और पति पत्नी के बीच हुए झगड़े के बाद अम्बर ने घर मे रक्खे 5 ल

दवाई लेकर जा रहे दंपत्ति को बाइक सवार युवकों ने मारी गोली

Image
गंभीर हालत में दोनों को सैफई मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया ब्यूरो चीफ:-प्रशान्त यादव दैनिक अयोध्या टाइम्स मैनपुरी:- घटना की जानकारी मिलते ही एसपी अस्पताल पहुंचे हमलावरों की तलाश में पुलिस दे रही है दबिश। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम अगौथा के निकट बाइक से जा रहे दंपति को अज्ञात लोगों ने गोली मार दी। गंभीरावस्था में दोनों को जिला अस्पताल लाया गया जहां से उन्हें सैफई मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी, एएसपी भारी पुलिस बल के साथ जिला अस्पताल पहुंच गए। लोगों की भारी भीड़ अस्पताल में जमा थी। गोली किसने और क्यों मारी इस संबंध में कोई ठोस जानकारी सामने नहीं आई है।कोतवाली के ग्राम बृजपुर निवासी महेश चंद्र यादव के पुत्र रोहित यादव ने एक वर्ष पूर्व पास के ही गांव की  निवासी ज्योति से प्रेम विवाह किया था।मंगलवार को दोनों दवाई लेने कीरतपुर गए गए थे। वापस लौटते समय गांव जाने वाले मार्ग पर दो बाइकों पर आए 6 लोगों ने उन्हें घेर लिया और दोनों को गोली मार दी। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़ पड़े। लोगों को आता देख हमलावर भाग खड़े हुए। मौके पर पहुंचे लोगों ने दोनों घायलों को

जिला कार्यकारिणी के सदस्य द्वारा  विधायक राम गोपाल को माला पहनाकर स्वागत किया

Image
जिला संवाददाता अर्जुन कुमार गुप्ता* बाराबंकी:  मसौली में पूर्व विधायक आदरणीय  रामगोपाल रावत  की मौजूदगी में जिला कार्यकारिणी में मनोनीत सदस्य अशोक यादव व जैसीराम यादव का सभी कार्यकर्ताओं व प्राधिकारियों के द्वारा माला पहनाकर स्वागत किया गया ।कार्यक्रम का आयोजन पूर्व विधानसभा अध्यक्ष/जिला पंचायत सदस्य शकील अहमद सिद्दीक़ जी के प्रतिष्ठान पर किया गया।  पूर्व विधायक आदरणीय  रामगोपाल रावत ने मनोनी त सदस्यों का माला पहनाकर स्वागत करते हुए कहा कि ऐसे मेहनती और कर्मठ लोगो को जिम्मेदारी मिली है जो पद पर न रहते हुए भी पार्टी के लिए दिन रात काम करते थे आज इन्हें जिम्मेदारी मिलने से जिले में संगठन को और मजबूती मिलेगी और कार्यकर्ताओं में नये जोश का संचार हुआ है हम सभी कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर संगठन को मजबूत करने के लिए   निश्चित ही हम सबकी मेहनत रंग लाएगी और हम 2022मे विजय पताका फहराने का काम करेंगे ।  इस अवसर पर मौजूद जिला पंचायत सदस्य शकील सिद्दीकी, बलराम सिंह जी लल्लू प्रधान जी मेढिया,मास्टर रामनरेश यादव जी, मोईन अंसारी, अनवार कुरैशी,फारुख वेल्डर, हफीज़ वारिस शिवम सिंह, लवलेश यादव, मुन्न

रुद्रनगर के बाद मुरारी दास गली में फूटा को रोना बम

विशेष संवाददाता नरेश कुमार पांडे बलदीराय  रुद्रनगर के बाद नगर के मुरारी दास गली में को रोना बम फूटा है! एक ही परिवार के 2 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं !इस बात का खुलासा लखनऊ में इलाज के दौरान हुआ! फिलहाल पूरे परिवार का अभी तक स्वास्थ्य परीक्षण नहीं हुआ है ।      

राष्ट्रीय युवा क्रान्ति मोर्चा व वीर भगत सिंह युवा मोर्चा ने किया पौधारोपण

Image
दैनिक अयोध्या टाइम्स,रामपुर- शाहबाद क्षेत्र मे राष्ट्रीय युवा क्रान्ति मोर्चा व वीर भगत सिंह युवा मोर्चा से सौजन्य से पौधारोपण कार्यक्रम किया और लगातार चल रही मुहिम "हर घर तुलसी व ड्रीम ग्रीन रामपुर मुहिम" के अर्तगत क्षेत्र के शिव मंदिर (लक्खी वाग) शाहबाद कोतवाली, नशा मुक्ति केन्द्र, विकास खण्ड, भारत संचार निगम लि0 व क्षेत्र के ही गांव ऊचागांव व मोतीपुरा मे भी 500 से अधिक पौधारोपण कार्य किया गया इस बार अवसर पर कोतवाल शाहबाद प्रभारी नरेन्द्र त्यागी व सैफनी चौकी प्रभारी इंद्रेश कुमार ने सभी युवाओ की उत्साहवर्धन किया व भविष्य मे सामाजिक कार्य मे लगे रहने की अपील की इस मौके पर वीर भगत सिंह युवा मोर्चा के अध्यक्ष रजत कुमार व राष्ट्रीय युवा क्रान्ति मोर्चा के प्रदेश प्रभारी व मुहिम के संयोजक सुनील यादव (राष्ट्रीय खिलाडी कव्वडी) भाजपा नेता मौनी पांडेय, संगठन प्रभारी आकाश शंकर मनवीर यादव,अमित सक्सैना, संजीव यादव,सत्यवीर यादव, सतेन्द्र यादव, नरेन्द्र कुमार, मन्नु ठाकुर आदि रहे ।  

लगातार कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति के बावजूद केन्द्र का रोडमैप सामने न आ पाना है अक्षमता- प्रमोद तिवारी

लालगंज, प्रतापगढ़।  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने देश मे कोरोना संक्रमण के लगातार बढने के बावजूद केंद्र की मोदी सरकार द्वारा अभी तक कोई रोडमैप सामने नही ला पाने को सरकार की सबसे बडी अक्षमता ठहराया है। श्री तिवारी ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि केन्द्र के पास कोरोना संक्रमण की इतनी विकराल स्थिति बन जाने के बाद भी रोडमैप तो नही है बल्कि वह आज संक्रमण के क्षेत्र मे सोवियत रूस को भी पीछे छोडकर तीसरे नंबर पर आ गया है। प्रमोद तिवारी ने सरकार पर तगड़ा कटाक्ष किया कि यह स्पर्धा विकास या सम्पन्नता मे नही बल्कि सोवियत रूस को हमने कोरोना संक्रमण मे पीछे छोडा है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि इस समय सरकार सिर्फ सोशल डिस्टेसिंग व मास्क लगाने का जनता को उपदेश दे रही है लेकिन वह यह नही बता पा रही कि सरकार किस जिम्मेदारी का कोरोना संक्रमण मे निर्वहन कर रही है। उन्होने प्रधानमंत्री से कहा कि देश मे लगभग सात लाख से अधिक कोरोना संक्रमण की संख्या हो गई है यही नही ताजा अध्ययन की रिर्पोट के हवाले का जिक्र करते हुए प्रमोद तिवारी ने दावा किया है कि ज्याद

ओज कवि अंजनी अमोघ के राष्ट्रीय कवि संगम के प्रदेश अध्यक्ष बनने पर साहित्यकारों मे खुशी 

लालगंज, प्रतापगढ़।  नगर मे स्थानीय साहित्यकारों की सोमवार को हुई बैठक मे प्रख्यात ओज कवि अंजनी अमोघ को साहित्यिक संस्था राष्ट्रीय कवि संगम के काशी प्रान्त का अध्यक्ष चयनित किये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त की गई। साहित्यकारो ने अंजनी अमोघ को मिली इस जिम्मेदारी को लेकर कहा कि इससे प्रतापगढ़ का साहित्यिक स्वरूप प्रदेश भर मे नया आयाम हासिल कर सका है। व्यंग तथा ओज के कवि अमोघ कई साहित्य पुरस्कारो से भी सम्मानित हो चुके है। राष्ट्रीय कवि संगम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश गुप्ता व प्रान्त प्रभारी सर्वेश ने साहित्य सृजन मे अंजनी अमोघ के योगदान को सराहा है। बैठक की अध्यक्षता प्राचार्य डा. शक्तिधर नाथ पाण्डेय व संचालन साहित्यकार सुनील प्रभाकर ने किया। इस मौके पर जयराम पाण्डेय, अनूप प्रतापगढ़ी, आशुतोष आशू, अनूप अनुपम, सौरभ ओझा, सुधांशु उपाध्याय, संयुकत अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष अनिल महेश, चेयरपर्सन प्रतिनिधि संतोष द्विवेदी, ब्लाक प्रमुख ददन सिंह, रूरल बार के राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञानप्रकाश शुक्ल आदि ने साहित्य सृजन मे प्रतापगढ़ के योगदान पर प्रकाश भी डाला।      

कोरोना में कलाकार

एक सामान्य नागरिक की तरह एक व्यक्ति, जो ‘कलाकार‘ भी हो सकता है, के जीवन-यापन और रोजगार की स्थितियों पर सहानुभूति सहित विचार करने का प्रयास करें तो कुछ बातें ध्यान में आती हैं (संभव है स्वाभिमानी कलाकारों को किसी की ‘सहानुभूति‘ की आवश्यकता न हो, फिर भी यहां उनकी स्थितियों पर तत्वतः विचार का प्रयास है) अपने संपर्क के कलाकारों, खासकर प्रदर्शनकारी कलाओं से जुड़े कलाकार और जिनमें साहित्यकारों को भी शामिल कर लिया जाय तो उनकी आवाज आपको अधिक सुनाई पड़ेगी, क्योंकि इस वर्ग की अभिव्यक्तियां अन्य की तुलना में अधिक मुखर होती हैं और उनके लिए मंच भी होता है। ऐसे बहुतेरे कलाकार हैं जो वेतनभोगी हैं, जिनके आय का नियमित साधन है। ऐसे भी कलाकार होते हैं, जो अपनी कला के माध्यम से कोई आय उपार्जन नहीं करते, जिनमें रामधुन आदि की प्रभात-फेरी निकालने वाले, आल्हा गाने वाले, खेत-खार में ददरिया गाते, बंसी बजाने वाले और नवरात्रि के दौरान मांदर बजाने वाले, माता सेवा के गीत गाने वाले अनगिन अनाम कलाकार हैं। निसंदेह, ऐसे भी कलाकार हैं जिनका जीवन-यापन, पेशा, आजीविका का एकमात्र/मुख्य साधन कलाकारी है। यह भी याद रखना और दु

""राजनैतिक संरक्षण के बिना हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे जैसा अपराधी नहीं पैदा हो सकता ""

Image
आपको बता दें कि कानपुर में जो गुरुवार को हमारे 8 पुलिसकर्मियों की हत्या को अंजाम दिया था जो अपराधी विकास दुबे वह खादी का चोला पहन चुका था, राजनैतिक दलों में सक्रिय  रहा हैं और तो और प्रधान के साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष भी रह चुका है । आज हम देख रहे है की राजनीति भाई- भतीजावाद बाहुबल और धनबल के साथ ही चापलूसी जो करते हैं उन्हीं के लिए यह दरवाजा खुला हुआ है । ऐसा ही देखने को हमें मिलता है कि पंचायत चुनाव से लेकर विधानसभा से लेकर लोकसभा तक और तो औ र विश्वविद्यालय का जो छात्र संघ चुनाव होता है वहां भी बाहुबल , धनबल भाई- भतीजावाद के साथ-साथ चापलूसी को ही मौका दिया जाता है। वैसे ही विकास दुबे राजनेताओं के संरक्षण से खादी का चोला पहना और राजनीति में प्रवेश भी किया साथ ही ना जाने कितने यह हिस्ट्रीशीटर ने अपराध किया जिसका कोई आंकड़ा स्पष्ट रूप से हम नहीं कह सकते है ,अगर हम आंकड़े देखें तो हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर गिरोह बनाकर लूट हत्या से लेकर डकैती जैसे कई मुकदमे अलग-अलग थानों में दर्ज हुआ है और तो और यह बिकास दुबे शिवली थाना के बाहर भाजपा के मंत्री की हत्या में भी नामजाद हुआ था।  जैसा कि सुन

कानपुर में पुलिस टीम पर बडा हमला, सीओ सहित 8 पुलिसकर्मी हुए शहीद

Image
कानपुर के थाना चैबेपुर क्षेत्र के विकरू गांव की घटना, दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर बदमाशो ने बरसाई गोलियां मरने वालों में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा व एसओ शिवराजपुर महेश यादव भी। कानपुर नगर, कानपुर के चैबेपुर थाना क्षेत्र के विकरू गांव में दबिश देने के लिए पहुंची पुलिस टीम पर बदमाशो ने ताबड-तोड गोलिया बरसाई। अचानक हुए इस हमले में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मी शहदी हो गये। घटना की पुष्टि एडीजी जय नारायण सिंह ने की है। पुलिस शातिर बदमाश विबास दुबे को पकडने गयी थी। शहीद हुए पुलिसकर्मियों में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा और एसओ शिवराजपुर महेश यादव भी है।                जानकार के अनुसार गुरूवार की रात लगभग 12 बजे चैबेपुर पुलिस तथा बिठूर पुलिस ने संयुक्त रूप से शातिर अपराधी विकास दुबे के गांव बिरू में उसके घर पर दबिश दी। बिठूर एसओ कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि विकास और उसके कई साथियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। उन्होने घर के अंदर तथा दत से गोली चलाई। फायरिंग में एसओ बिठूर तथा एक दरोगा सहित  सिपाही अजय सेंगर, अजय कश्यप, सिपाही शिवमूरत, दरोगा प्रभाकर पांडेय, होमगाड जयराम पटेल सहित अन्य पुलि