विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, August 31, 2020

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का 84 साल की उम्र में निधन


नई दिल्ली: देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का 84 साल की उम्र में निधन हो गया. ब्रेन क्लॉट सर्जरी के बाद वो वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे. मुखर्जी कोरोना वायरस से भी संक्रमित पाए गए थे. पूर्व राष्ट्रपति को 10 अगस्त को उनके मस्तिष्क में क्लॉट हटाने की सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था.


प्रणब मुखर्जी का सियासी सफर


प्रणब मुखर्जी सियासी गलियारे में प्रणब दा के नाम से पुकारे जाते हैं. राजनीति में उनका लंबा अनुभव रहा जिसका लोहा हर कोई मानता है. यूपीए सरकार में प्रणब मुखर्जी के पास वित्त मंत्रालय संभालने के अलावा कई अहम जिम्मेदारियां थीं. उन्हें कांग्रेस के 'संकटमोचक' की संज्ञा दी गई. प्रणब मुखर्जी ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत बांग्ला कांग्रेस से की थी. जुलाई 1969 में वे पहली बार राज्यसभा के लिए चुने गए. इसे बाद वे साल 1975, 1981, 1993 और 1999 में राज्य सभा के सदस्य रहे. इसके अलावा 1980 से 1985 तक राज्य में सदन के नेता भी रहे. मई 2004 में वे चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे और 2012 तक सदन के नेता रहे.


1986 में कांग्रेस से हो गए थे अलग


एक वक्त ऐसा भी आया जब उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी. 1986 में प्रणब दा को कांग्रेस छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा था. इंदिरा गांधी की मौत के बाद राजीव गांधी पीएम बने. राजीव के पीएम बनने के बाद प्रणब मुखर्जी को पार्टी में किनारे कर दिया गया. वे कैबिनेट से बाहर कर दिए गए. इस सब से नाराज होकर आखिरकार प्रणब मुखर्जी ने 1986 में कांग्रेस से अलग होने का फैसला किया और राष्ट्रीय समाजवादी कांग्रेस बनाई. प्रणब मुखर्जी की पार्टी ने 1987 में पश्चिम बंगाल का विधानसभा चुनाव लड़ा, पर उनकी पार्टी को पहले ही चुनाव में बुरी हार का सामना करना पड़ा. इसके बाद प्रणब मुखर्जी ने 1988 में कांग्रेस में दोबारा वापसी कर ली. मुखर्जी को कांग्रेस में दोबारा वापसी का इनाम जल्द ही मिला और उन्हें नरसिम्हा राव की सरकार में 1991 में योजना आयोग का उपाध्यक्ष बनाया गया. 2004 में सोनिया गांधी ने जब पीएम बनने से मना कर दिया था, तो प्रणब मुखर्जी का नाम भी प्रधानमंत्री पद के दावेदारों में शामिल हुआ. प्रणब मुखर्जी को मनमोहन सिंह की सरकार में रक्षा मंत्री, विदेश मंत्री और वित्त मंत्री जैसे अहम पद मिले. 2012 में प्रणब मुखर्जी को कांग्रेस ने राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया और वो एनडीए समर्थित पी.ए. संगमा को हराकर देश के 13वें राष्ट्रपति बने.





 



योगी सरकार ने जारी किए अनलॉक-4 से संबंधित दिशा-निर्देश, जानें क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

लखनऊ। केंद्र के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अनलॉक-4 से संबंधित दिशा-निर्देश रविवार देर जारी कर दिए। राज्य के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी की तरफ से जारी दिशानिर्देश में ज्यादातर बिंदु केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देश के अनुरूप ही हैं। दिशानिर्देशों में कहा गया है कि अब निरुद्ध क्षेत्र (कंटेनमेंट जोन) के बाहर जिलाधिकारी स्थानीय स्तर पर किसी भी तरह का लॉकडाउन नहीं लगा सकेंगे। हालांकि हर शनिवार और रविवार को लागू होने वाली पाबंदियां जारी रहेंगी। दिशानिर्देशों के मुताबिक आगामी सात सितंबर से मेट्रो रेल को चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा। इस सिलसिले में मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) अलग से जारी की जाएगी। 


आगामी 21 सितंबर से सभी सामाजिक, अकादमिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों तथा अन्य सामूहिक गतिविधियों को शुरू करने की इजाजत होगी लेकिन इसमें अधिकतम 100 लोग ही हिस्सा ले सकेंगे। इस दौरान फेस मास्क का इस्तेमाल, सामाजिक दूरी का पालन करना और थर्मल स्कैनिंग, हाथ धोने तथा सैनिटाइजर की व्यवस्था अनिवार्य होगी। इसके अलावा 21 सितंबर से शादी-विवाह संबंधी समारोह और अंतिम संस्कार में अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकेंगे। अभी तक इन मौकों पर क्रमशः 30 और 20 लोग ही शिरकत कर सकते थे। 


राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थानों, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों, राष्ट्रीय कौशल विकास निगम तथा राज्य कौशल विकास अभियानों में या फिर राज्य सरकार अथवा केंद्र सरकार में पंजीकृत अल्पकालिक प्रशिक्षण केंद्रों में कौशल अथवा व्यावसायिक प्रशिक्षण की इजाजत होगी। राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु व्यवसाय एवं विकास संस्थान, भारतीय उद्यमिता संस्थान, उद्यमिता विकास संस्थान, उत्तर प्रदेश और उनके प्रशिक्षण प्रदान करने वालों को भी अनुमति होगी। यह व्यवस्था 21 सितंबर से लागू होगी। इसके लिए संचालन प्रक्रिया केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जाएगी।


 


Sunday, August 30, 2020

पुलिस उप आयुक्त पश्चिमी लॉकडाउन को लेकर हुए पूरी तरह सक्रिय सड़को पर उतर कर किया निरीक्षण




पुष्पेंद्र सिंह सवांददाता लखनऊ

पुलिस उप आयुक्त पश्चिमी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी द्वारा अपने सहयोगी अपर पुलिस उप आयुक्त श्याम नारायण सिंह के साथ पश्चिमी जोन में त्योहार मोहर्रम के दृष्टिगत शान्ति एवं कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के लिए किया गया पैदल गस्त  डीसीपी पश्चिमी द्वारा मोहर्रम के मद्देनजर ड्यूटी में लगे पुलिस बल को चेक किया गया तथा सतर्क रहने हेतु ब्रीफ किया गया । पश्चिमी क्षेत्र के समस्त थाना प्रभारी एवं चौकी प्रभारियों द्वारा समुचित पुलिस बल एवं आर.ए.एफ. टीम के साथ किया गया पैदल गस्त/फ्लैग मार्च । सआदतगंज व बाजारखाला थाना क्षेत्र के संवेदनशील/सार्वजनिक स्थानों पर ड्रोन कैमरे से निगरानी की गई । पश्चिमी क्षेत्र के समस्त थाना प्रभारीयों द्वारा अपने अपने क्षेत्रों में कोविड-19 महामारी से बचाव हेतु सघन चेकिगं अभियान चलाया गया तथा लोगो से सोशल डिस्टेसिंग,मास्क का प्रयोग करने हेतु अपील की गई । बिना मास्क, बिना हेलमेट, अनावश्यक घूमने वाले लागों का चालान भी किया गया । डीसीपी पश्चिमी द्वारा साप्ताहिक लॉकडाउन को प्रभावी बनाने हेतु सभी चौराहों पर तथा बैरियर/चेकिगं प्वाइटं पर लगे पुलिस बल का निरीक्षण किया गया तथा सुरक्षा बंदोबस्त का जायजा लिया गया । पुलिस बल को लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने हेतु  तथा बिना हेलमेट, बिना मास्क, अनावश्यक घूमने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही करने हेतु निर्देशित को किया गया ।


 





Tuesday, August 25, 2020

पुलिस की मिली भगत से दबंगों के हौसले बुलंद एक ही परिवार के ६ लोगों को जान से मारने की कोशिश 

मामला है थाना मिल एरिया जिला रायबरेली का जहां दबंगों ने एक ही परिवार के छे सदस्यों को मामूली सी बात पर धार दार हथियारों से लहूलुहान कर दिया
पीड़ित के परिवार का कहना है सबा D/O काशिम अली जो कि अपने घर की चौखट पर बैठ कर अपने पति से फोन पर बात कर रही थी तभी फुरकान S/O जलील अपनी मोटर साईकिल से तेज रफ्तार में घर के सामने से निकला जब सबा ने उससे बाइक तेज रफ्तार में चलाने को लेे कर उसे मना किया तो फुरकान गाली देता हुआ वहां से तो चला गया लेकिन कुछ ही देर बाद वह अपने साथियों के संग कुल्हाड़ी, डंडा, लोहे की रॉड और धार दार हथियार ले कर सबा के घर पर घुस गया और बिना कुछ कहे सुने अपने साथियों के साथ मिल कर पीड़ित सबा के परिवार पर हमला कर दिया।
दबंगों का कहना था कि सब को जान से मार दो कोई भी बचने न पाए ऐसा कहते हुए दबंगों ने पीड़िता के परिवार वालों को मारते मारते खून से तत्पथ और अधमरा कर दिया।
सोर की आवाज सुन कर जब मोहल्ले वाले एकत्रित होने लगे तो   दबंगी मोहल्ले वालों को आता देख वहां से भाग निकले।
पीड़ित के परिवार वालों ने 112 पर कई बार मदत के लिए कॉल की किन्तु मौके पर पुलिस नहीं पहुंची, परिवार वालों की हालत बिगड़ता देख मोहल्ले वासियों द्वारा घायलों को टैंपो में जैसे तैसे बिठा कर सभी को थाने ले जाया गया घायलों कि स्थिति बिगड़ती देख  थाने से सभी को उपचार के लिए जिला अस्पताल रायबरेली भेज दिया गया है। जहां पर उनका उपचार चल रहा है सभी के सर फूटे हुए है किसी को तेरह टांके लगे है तो किसी को दस।
जब हमारी टीम ने मौके पर पहुंच कर जिला अस्पताल में घायलों से बात की तो पता यह चला कि थाना मिल एरिया द्वारा मामूली धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया किन्तु अपराधी अब भी खुले आम घूम रहें हैं अब तक कि किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
परिवार वालों की माने तो पुलिस द्वारा दबंगों से पैसे खा कर उनको बचाने के लिए पीड़ितों पर सुलह के लिए दबाव बनाया जा रहा है,
पीड़ित परिवार की बेटी ने हमारे चैनल के माध्यम से माननीय मुख्यंत्री योगी आदित्यनाथ जी से इंसाफ़ कि गुहार लगाई है।
अब देखना ये है कि ऐसे में पीड़ित परिवार को न्याय मिलता है या मुद्दे को दबा दिया जाता है।


इमारत ढहने की घटना में अब तक 10 लोगों की मौत

मुंबई। महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में पांच मंजिला आवासीय इमारत के मलबे से बचाव कार्य मंगलवार को जारी रहा और इस दौरान चार साल के एक बच्चे को बचा लिया गया, हालांकि उसकी मां की इस हादसे में मौत हो गयी। पुलिस ने बताया कि मंगलवार को मलबे से नौ और शव बरामद होने से मृतकों की कुल संख्या बढ़कर दस हो गयी। एक अधिकारी ने बताया कि मलबे से अब तक आठ लोगों को बचाया गया है और करीब 10 लोग अब भी लापता हैं। 




उन्होंने बताया कि इमारत ढहने के दौरान पत्थर लगने से घायल एक व्यक्ति की सोमवार रात दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गयी। अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने मंगलवार को तारिक गार्डन के बिल्डर और आर्किटेक्ट सहित पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बिल्डर फारुक काजी, सलाहकार बाहुबली धामने और आर्किटेक्ट गौरव शाह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। सूत्रों ने बताया कि ठाणे के प्रभारी मंत्री एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निर्देश के बाद मंगलवार तड़के बचाव और राहत कार्यों का जायजा लेने के लिए महाड पहुंचे।




Friday, August 21, 2020

साईकिल की सवारी सबसे न्यारी

हमारे बुजुर्गों को नहीं होती थी कोई बीमारी।
क्योंकि साइकिल ही तो थी उनकी मुख्य सवारी।
बीते दिनों की साइकिल आज दोबारा सड़को पर दौड़ रही है।
मानो साइकिल चलाने की एक होड़ सी हो रही है।
बढ़ रहे प्रदुषण के तोड़ में एक विकल्प सा सिद्ध हो रही है।
मानव के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है अपार।
समय बड़ा बलवान यह कहावत है पुरानी।
नए ज़माने के सिर चढ़कर साइकिल की सवारी यह बोल रही है।
साईकिल की सवारी सबसे न्यारी।
बूढ़े बच्चे और जवान सबको लग रही है प्यारी।
कैसा भी हो मार्ग पैडल मारो सुगमता से पार हो जाता।
न डीजल न पैट्रोल बस पैडल लगाने से ही चल जाता।
थोड़ा सा खर्च आता वर्षों साथ निभाता।
कितनी भी हो लंबी दूरी अंत तक साथ निभाता।
समय के प्रभाव ने इसका मान घटाया।
कार और गाड़ियों ने इसका स्थान पाया।
समय बड़ा बलवान, फिर लौट कर आया।
मानव साईकिल चलाने में शर्माया।
लोग क्या कहेंगे इस बात से था घबराया।
कार चला कर जिम जाए वहां भी साईकिल ही पकड़ाया।
कविता रचयिता- डॉ. अशोक कुमार वर्मा


Monday, August 17, 2020

बेबस किसानों मज़दूरों व गरीबो का सहारा  राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन ने  जिला व मण्डल पदाधिकारियों का किया गठन


आज दिन सोमवार को लखनऊ कार्यालय में राष्ट्रीय किसान मज़दूर संगठन के प्रेदश महामंत्री  के आदेश निर्देश पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुवे मीटिंग की गई व जिसमे मज़दूरों की हक़ की लड़ाई के लिए हमेशा उनकी हक़ के लिए संगठन  तन मन धन से आगे रहकर काम करने  व किसानों की समस्याओं को उजागर कर उनकी समस्याओं को हल कराने की बात की गई व शासन प्रशासन से किसानों व मज़दूरों की हर छोटी बड़ी समस्या का निस्तारण कराने व सहायता दिलाने की बात की गई
वही प्रदेश महामंत्री नबी अहमद द्वारा जिला व मण्डल के पदाधिकारियो को पद ग्रहण कराया गया जिसमें मण्डल मीडिया प्रभारी  महिला प्रकोष्ट रज़िया अंसारी  (बानो) व मण्डल मीडिया प्रभारी अता खान व  जिला मीडिया प्रभारी  आर.अंसारी व  मण्डल सचिव महिलासभा महक अंसारी एवं सदर तहसील उपाध्यक्ष अश्वनी व जिला  कार्यकारिणी रि्फत आरा और सलमा को जिला महिला सचिव व सलमा बानो को सरोजनी नगर लखनऊ उपाध्यक्ष महिला प्रकोष्ट के पद पर पदाधिकारियों द्वारा माला पहना कर सम्मानित किया गया व आज संगठन से जुड़े तमाम पदाधिकारियों को वरिष्ट पदाधिकारियो द्वारा दुआओ के साथ  मनोनय पत्र देकर सम्मानित किया गया  वही कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि रहे शोएब अंसारी जिलाध्यक्ष हरदोई  व मोहम्मद वक़ार एडवोकेट हाईकोर्ट  ज़िला उपाध्यक्ष हरदोई व अन्य पदाधिकारी  वही जिला नगर सचिव  महिला प्रकोष्ठ की मीना जी व तमाम संगठन के पदाधिकारी व सदस्य मौजूद रहे
जय जवान जय किसान


Tuesday, August 11, 2020

मशहूर शायर राहत इंदौरी का इंदौर के अस्पताल में निधन, तीन बार आया हार्ट अटैक

 इस वक्त की बड़ी खबर मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन हो गया है। कोरोना के शुरूआती लक्षणों के बाद उन्हें इंदौर के अरबिंदों अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां उनका आज निधन हो गया। राहत इंदौरी ने अस्पताल जाने से पहले खुद सोशल मीडिया पर पोस्ट करके जानकारी दी कि वह कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती हुए है कृपया मेरे जानने वाले मेरे परिवार मुझे कॉल न करें में में सोशल मीडिया पर सारी अपडेट करता रहूंगा। 




जानकारी के मुताबिक राहत इंदौरी को आज तीन बार हर्टअटैक आया जिसके बाद इंदौरी जी को डॉक्टर्स नहीं बचा पाए। 


 




सात वर्ष आयु में निश्चित होती है वृद्धि जब पेड़ों की शीतल छाया में बसते आप-पंकज पटेल

हाजीपुर( संवाददाता)। पर्यवारण सुरक्षा में निष्ठा दिखाने से आपही की निश्चित प्राकृतिक सुरक्षा होती है। आपकी आयु या आपके साथ निवास करने वाले परिजनों की आयु में सात वर्ष का अतिरिक्त इजाफा हो सकता है,अगर आपके घर के आवासीय क्षेत्र में दस बड़े छायादार या फलदार बड़े वृक्ष हों। क्योंकि एक वैज्ञानिक सत्य है कि एक पेड़ 20 किलो धूल सोखता है,7 सौ किलों प्राण गैस यानी ऑक्सीजन देता है,साथ ही गर्मियों में तो करीब 20 हजार किलो कार्बन डायऑक्साइड का अवशोषण करता है। एक वर्ष में इतने प्राण दायनी स्थिति हमे एक पेड़ प्रदान करता है। इसलिए कहा जाता है कि आयु में अतिरिक्त सात वर्ष की वृद्धि हो जाती है। जो कि हमे पर्यावरण की प्राकृतिक असीम शक्तियों का एहसास कराता है। ये बातें समाजसेवी सह जदयू के प्रदेश संगठन विधानसभा प्रभारी पंकज पटेल ने पृथ्वी दिवस पर पौधरोपण करते हुए कही। वे अपने कुछ समर्थकों व ग्रामीणों के साथ पृथ्वी दिवस पर लोगों को जागरूक कर रहे थे। साथ ही इस क्रम में उन्होंने दो दर्जन के आसपास फलदार पौधे लगाए जो आगे चलकर पर्यावरण सुरक्षा में अपना योगदान करेंगे। मौके पर शिवचन्द्र प्रसाद सिंह,रविशंकर प्रसाद सिंह,शत्रुघ्न कुमार,जयशंकर सिंह,राजीव रंजन लड्डू,भगवान सिंह और संजीव आदि कई उपस्थित रहे। सबों ने पटेल के साथ शोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए पर्यावरण सुरक्षा कार्यक्रम पृथ्वी दिवस पर अपनी प्रकृति के प्रति जवाबदेहियों का निर्वहन किया और जिलेवासियों को बधाई भी दी।


डॉ कफील की रिहाई के लिए लगातार किए जा रहे हैं विरोध




संवाददाता पुष्पेंद्र सिंह।

आज कांग्रेस के ज़िला चेयरमैन मो तौहीद सिद्दीकी नजमी ने अपने हैदरगंज स्थित आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया बीजेपी सरकार अपनी नाकामी छुपाती चली आ रही।

साथ ही बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए नजमी ने यह भी बताया कि जो लोग इनके काले कानून एनआरसी के खिलाफ खड़े होते हैं उनके खिलाफ तुरंत मुकदमा कर उनको जेल भेज दिया जाता है।

यह उनकी बड़ी ना कामयाबी है जो लगातार उजागर हो रही है।

साथ ही नजमी ने कहा कि -डॉ कफील की रिहाई के लिए सड़क से लेकर सदन तक हम आवाज उठाएंगे।

बता दें कि इससे पूर्व भी तौहीद सिद्दीक़ी ने डॉ. कफील खान की रिहाई को ले कर लखनऊ में सिग्नेचर अभियान भी चलाया था,

नजमी ने यह भी कहा कि जितने भी बेगुनाह एनआरसी में गिरफ्तार किए गए हैं उनको भी रिहा किया जाए । 

डॉ कफील की रिहाई के लिए हैदर गंज में की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस।


 

 




Monday, August 10, 2020

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना वायरस से संक्रमित

नयी दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को बताया कि जांच में उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उन्होंने ट्वीट किया,‘‘ अन्य कारणों से अस्पताल गया था जहां पर आज कोविड-19 जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हुई।’’ मुखर्जी ने ट्वीट में कहा कि मैं अनुरोध करता हूं कि जो लोग भी गत एक हफ्ते में मेरे संपर्क में आए हैं, वे खुद पृथक-वास में चले जाएं और अपनी कोविड-19 जांच कराएं। 


पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के कोरोना की चपेट में आने के बाद दुआओं का दौर शुरू हो चुका है। बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रणब मुखर्जी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा कि कृपया ध्यान रखें सर। हम आपके शीघ्र स्वस्थ होने और अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।


 


Saturday, August 8, 2020

सीने में उठे अचानक दर्द के कारण संजय दत्त अस्पताल में भर्ती

बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त को सीने में तकलीफ के बाद शनिवार शाम लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें एक गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया है लेकिन वह स्थिर हैं। संजय दत्त को कोरोना वायरस का भी टेस्ट करवाय है जिसकी रिपोर्ट नेगिटिव आयी हैं। 




दत्त, जिनकी आयु 61 वर्ष है, ने पिछले सप्ताह 29 जुलाई को अपना जन्मदिन मनाया। शनिवार को उन्हें ऑक्सीजन की कमी के स्तर और सीने में तकलीफ का सामना करना पड़ा। उन्हें लीलावती अस्पताल ले जाया गया जहां कोविद -19 के लिए तेजी से प्रतिजन परीक्षण नकारात्मक आया। चूंकि परीक्षण में कम विशिष्टता है, जिसका अर्थ है कि यह एक सकारात्मक मामले होने की संभावना है।


संजय दत्त का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें गैर-कोविद वार्ड में भर्ती कराया गया है। उनके इलाज करने वाले डॉक्टर जलील पारकर, जो खुद पिछले महीने कोविद -19 से संक्रमित हुए थे, ने कहा कि उनके मेडिकल मापदंडों और ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट क्यों हुई, इसका आकलन करने के लिए कुछ और परीक्षण किए जा रहे हैं। अस्पताल के मुख्य परिचालन अधिकारी डॉ. वी. रविशंकर ने कहा, "वह स्थिर है।"


 


काम के मोर्चे पर, संजय दत्त अगली बार 28 अगस्त को डिज़नी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज़ होने वाली महेश भट्ट की आगामी फिल्म सदक 2 में दिखाई देंगे। यह फिल्म सदक की अगली कड़ी है, जिसमें दत्त ने मुख्य भूमिका निभाई थी।


 


 


 


 




*हुसैनिविचार मंच की चेयरमैन रुखसाना नक़वी ने देवा शरीफ में वितरित किए मास्क और सेनेटाइजर




 

रुखसाना नकवी एवं हुसैनी मंच के पदाधिकारी फैय्याज वारसी अब्बास मुखर्जी साहिल जावेद वारसी  गुलज़ार वारसी अरबाज़ शारिक  द्वारा आज देवा में लोगों को सेनेटाइजर एवं मास्क वितरित किया गया साथ ही हज़रत वारिस पाक की दरगाह की जियारत कि, चादर पेश की गई।

देशव्यापी लॉक डाउन में ज़रूरतमंदों की लगातार मदद कर रही हैं रुखसाना नक़वी विषम परिस्थिति में मास्क पहनकर एवं उचित दूरी बनाकर एक दूसरे का सहयोग करती रहती हैं।

हुसैनिविचार मंच की चेयरमैन व (भा.ज.पा)अवध क्षेत्र मीडिया प्रभारी रुखसाना नक़वी कोरोना कि इस वैश्विक महामारी में लोगों के बीच अक्सर उनकी मसीहा बन कर लोगों तक जरूरत का सामान पहुंचाते नज़र आती है,

इससे पूर्व भी रुखसाना नकवी द्वारा अवध क्षेत्र कार्यालय पर कोरोना से बचाव हेतु ऑटोमेटिक सैनिटाइजेशन मशीन लगाई गई थी।

बिना किसी वेद भाव के रुखसाना नकवी द्वारा किया जाता है समाज सेवा का कार्य,

उनका मानना है कि मानव सेवा से बढ़कर इस संसार में कोई धर्म नहीं है, मानव सेवा से उनके मन को जो सुकून मिलता है वह किसी तीर्थ किसी दर्शन से नहीं प्राप्त होता।


 

 




Friday, August 7, 2020

केरल में बड़ा विमान हादसा, दो हिस्सों में बंटा एयर इंडिया का विमान, अब तक 16 लोगों की मौत

एअर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान यहां कोझीकोड हवाईअड्डे की हवाईपट्टी पर फिसलकर करीब 50 फीट गहरी खाई में गिरकर दो हिस्सों में टूट गया। नागरिक विमानन मंत्रालय ने कहा कि विमान में 174 यात्री, 10 बच्चे, दो पायलट और पांच केबिन क्रू सवार थे। दुबई-कालीकट एअर इंडिया एक्सप्रेस विमान हादसे में पुलिस सूत्रों के मुताबिक मृतकों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है।यह विमान दुबई से आ रहा था और इसमें 191 यात्री सवार थे। डीजीसीए ने कोझिकोड में एयर इंडिया के विमान हादसे की विस्तृत जांच के आदेश दिए।


कई लोगों को पास के अस्पतालों में पहुंचाया गया है और इनमें से कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) को मौके पर जाने के निर्देश दिये हैं। शाह ने ट्वीट किया, “केरल के कोझीकोड में एअर इंडिया एक्सप्रेस विमान की दुर्घटना के बारे में जानकर व्यथित हूं। एनडीआरएफ को यथाशीघ्र मौके पर पहुंचकर राहत अभियान में सहायता का निर्देश दिया है।”


डीजीसीए के बयान में कहा गया कि हवाईपट्टी-10 पर उतरने के बाद विमान रुका नहीं और हवाईपट्टी के अंत तक पहुंचकर खाई में गिरने के बाद दो हिस्सों में टूट गया। यात्रियों में 10 नवजात, दो पायलट और चालक दल के चार सदस्य भी शामिल हैं। विमान शाम करीब सात बजकर 40 मिनट पर हवाईपट्टी पर उतरा। विमानन कंपनी के एक प्रव्कात ने कहा कि विमान संभवत: हवाईपट्टी से फिसल गया। बचाव अभियान जारी है। हादसे के वक्त वहां भारी बारिश हो रही थी। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि पुलिस और दमकल कर्मियों को राहत और बचाव अभियान के लिये सभी कदम उठाने को कहा गया है। 


प्रधानमंत्री मोदी ने विमान हादसे पर शोक जताया


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोझिकोड में एअर इंडिया एक्सप्रेस विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने पर शुक्रवार को शोक जताते हुए कहा कि प्रशासन मौके पर है और सभी प्रभावितों को सहायता मुहैया करा रहा है। उन्होंने इस संबंध में केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से भी बात की। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘कोझिकोड में हुए विमान हादसे से शोकाकुल हूं। मेरी संवेदनाएं अपने प्रियजनों को खोने वालों के साथ हैं। घायलों को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हो।’’ मोदी ने लिखा है कि प्रशासन मौके पर है और सभी प्रभावितों को हर प्रकार की सहायता मुहैया करा रहा है।


केरल भूस्खलन से 10 लोगों की मौत, PM मोदी ने मुआवजे का किया ऐलान

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के इडुक्की जिले में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन में 10 लोगों की मौत होने पर शुक्रवार को दुख जताया। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर बताया कि मारे गए प्रत्येक व्यक्ति के परिवार को प्रधानमंत्री आपदा राहत कोष से दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। इसके साथ ही घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘इडुक्की में भूस्खलन में हुई जान की क्षति से दुखी हूं। दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।’’ 




उन्होंने घायलों के शीर्घ स्वस्थ होने की कामना करते हुए कहा कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ)और प्रशासन मौके पर काम कर रहा है तथा प्रभावित लोगों को सहायता की जा रही है। गौरतलब है कि इडुक्की जिले के राजमाला स्थित पेत्तिमुदी में मूसलाधार बारिश के कारण शुक्रवार की सुबह हुए भूस्खलन से दस मजदूरों की मौत हो गई।


पुलिस सूत्रों ने बताया कि कम से कम 70 लोगे के वहां फंसे होने की आशंका है। भूस्खलन के कारण करीब 20 मजूदरों के घर वहां मलबे में दब गए हैं। पुलिस और दमकल कर्मी मौके पर मौजूद हैं और जिला प्रशासन ने अस्पतालों से भी हर स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा है। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने 15 एम्बुलेंस और एक विशेष चिकित्सक दल को रवाना किया है। 




Thursday, August 6, 2020

पांच महीनों बाद फिर से भक्तों को होंगे माता के दर्शन, 16 अगस्त से शुरू होगी वैष्णो देवी यात्रा

जम्मू: वैष्णो देवी यात्रा करने की चाह रखने वाले श्रद्दालुओं का इंतजार अब खत्म होने वाला है. जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने लंबे समय से बंद धार्मिक स्थलों को 16 अगस्त से दोबारा खोलने का फैसला किया है. कोरोना वायरस की वजह से 19 मार्च को यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. हालांकि, सरकारी आदेश में माता वैष्णो देवी की यात्रा शुरू करने का अलग से कोई जिक्र नहीं किया गया है, लेकिन कहा जा रहा है कि अन्य धार्मिक स्थलों की तरह ही यात्रा शुरू कर दी जाएगी. श्रद्धालुओं की संख्या सीमित जरूर हो सकती है. जम्‍मू-कश्‍मीर के प्रमुख सचिव रोहित कंसल ने कहा कि 16 अगस्त, 2020 से जम्मू और कश्मीर में सभी धार्मिक स्थलों और पूजा स्थलों को खोलने का फैसला लिया गया है. लेकिन धार्मिक जुलूस और बड़े धार्मिक आयोजनों के लिए इजाजत नहीं मिलेगी.


हेलीकॉप्टर किराए में 65 प्रतिशत की बढ़ोतरी
इसी बीच हेलीकॉप्टर सेवा का किराया बढ़ गया है. वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए हेलीकॉप्टर किराए में 65 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है. इस हेलीकॉप्टर सेवा के लिए नए टेंडर की प्रक्रिया पूरा होने के बाद यह बढ़े हुए किराए 1 अप्रैल 2020 से लागू होंगे. मतलब यह कि अब जब भी यह सेवा शुरु होती है, तो श्रद्धालुओं को यह बड़ा हुआ किराया देना होगा. फिलहाल, कटरा से सांझी-छत जाने के लिए हेलीकॉप्टर का किराया 1045 रुपये प्रति सवारी था जिसे अब बढ़ाकर 1730 रुपये कर दिया गया है. पहले हेलीकॉप्टर से आने जाने का किराया 2090 रुपये था जिसके लिए अब यात्रियों को 3460 रुपए चुकाने होंगे. वैष्णो देवी यात्रा के लिए अपनी सेवाएं दे रही हिमालयन हेली और ग्लोबल वेक्ट्रा कंपनियों का टेंडर हर 3 साल बाद रिन्यू होता है. नए टेंडर के मुताबिक पहले से श्रद्धालुओं को सेवाएं दे रही यह दोनों हेलीकॉप्टर कंपनियां ही अपनी सेवाएं जारी रखेंगी.


भारत में 24 घंटे में आए सबसे ज्यादा 56 हजार नए मामले, अमेरिका-ब्राजील को भी पछाड़ा

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. अमेरिका और ब्राजील से भी ज्यादा मामले भारत में दर्ज किए जा रहे हैं. बीतें दिन 56,282 कोरोना के नए मामले दर्ज किए गए हैं, 904 लोगों की मौत भी हुई है. जबकि अमेरिका और ब्राजील में बीते दिन क्रमश: 55,100 और 54,685 मामले आए. वहीं क्रमश: 1,306 और 1,322 मौतें हुई.


स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कुल संक्रमितों की संख्या 19 लाख 64 हजार 536 हो गई है. इनमें पांच लाख 95 हजार एक्टिव केस हैं तो वहीं 13 लाख 28 हजार से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं. अबतक 40 हजार 699 लोग अपनी जान गवां चुके हैं. इसके साथ भारत में संक्रमण से मौत की दर यानी मृत्यु दर भी 2.07% हो गई है. मृत्यु दर में भी लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. 5 अगस्त तक भारत में अब तक 2,21,49,351 सैंपल टेस्ट किए गए है, वहीं 5 अगस्त को एक दिन में 6,64,949 सैंपल टेस्ट किए गए है.


भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश
कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है. लेकिन अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है. भारत से अधिक मामले अमेरिका (4,973,520), ब्राजील (2,862,761) में हैं. देश में कोरोना मामले बढ़ने की रफ्तार भी दुनिया में तीसरे नंबर पर बनी हुई है.


एक्टिव केस के मामले में टॉप-5 राज्य
आंकड़ों के मुताबिक, देश में इस वक्त करीब छह लाख कोरोना के एक्टिव केस हैं. सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. महाराष्ट्र में सवा लाख से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर कर्नाटक, चौथे नंबर पर आंध्र प्रदेश और पांचवे नंबर पर दिल्ली है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का तीसरा स्थान है. यानी कि भारत ऐसा तीसरा देश है, जहां फिलहाल सबसे ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है.


गुजरात के अहमदाबाद में कोविड-19 अस्पताल में आग लगने से आठ मरीजों की मौत

अहमदाबाद। अहमदाबाद में कोविड-19 के मरीजों के उपचार के लिए चिह्नित एक निजी अस्पताल के आईसीयू वार्ड में आग लगने से बृहस्पतिवार को आठ मरीजों की मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि अहमदाबाद में नवरंगपुर इलाके के श्रेय अस्पताल में बृहस्पतिवार तड़के आग लग गई। 


उन्होंने बताया कि अस्पताल में कोविड-19 के करीब 40 अन्य मरीजों को बचा लिया गया और उन्हें शहर के एक अन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अधिकारी ने बताया कि आग लगने का कारण अभी पता नहीं चल पाया है।


 


Wednesday, August 5, 2020

पांच सदी बाद पूरा हुआ राम मंदिर निर्माण का संकल्प: योगी आदित्यनाथ

अयोध्या। राम मंदिर भूमि पूजन सम्पन्न होने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पांच सदी के बाद आज 135 करोड़ भारतवासियों का संकल्प पूरा हो रहा है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में सनातन धर्म के प्रति शुभेच्छा का भाव रखने वालों की भावनाओं को पूरा करने वाले भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं।  



योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश में लोकतांत्रिक तरीकों के साथ ही मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सूझबूझ और प्रयासों के कारण आज संकल्प पूरा हो रहा है। हमने तीन साल पहले अयोध्या में दीपोत्सव का कार्यक्रम शुरू किया था, आज उसकी सिद्धी हो रही है।


इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहा। योगी आदित्यनाथ ने अवध पुरी में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का स्वागत किया।


 


मंदिर की आधारशिला रखी गई राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन सम्पन्न

अयोध्या। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया और मंदिर की आधारशिला रखी। उच्चतम न्यायालय ने पिछले साल दशकों पुराने मुद्दे का समाधान करते हुए अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया था। आज मंदिर निर्माण की नींव रखे जाने के साथ ही राम मंदिर के लिए चलाया गया भाजपा का आंदोलन फलीभूत हो गया, जिसने भगवा दल को सत्ता के शिखर तक पहुंचा दिया। भूमि पूजन समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद थे। 



पुजारियों ने मंत्रोच्चारण के साथ भूमि पूजन की शुरुआत की और फिर मोदी द्वारा मंदिर निर्माण के लिए आधारशिला रखे जाने के साथ ही भूमि पूजन संपन्न हो गया। कार्यक्रम के दौरान नौ शिलाओं की पूजा की गई और मोदी ने मंदिर की नींव की मिट्टी से अपने माथे पर तिलक लगाया। इससे पहले, मोदी हेलीकॉप्टर से अयोध्या पहुंचे जहां मुख्यमंत्री ने उनका स्वागत किया। भूमि पूजन से पहले मोदी हनुमानगढ़ी स्थित मंदिर पहुंचे और राम मंदिर निर्माण के लिए हनुमान जी से आशीर्वाद मांगा। मंदिर में कुछ समय पूजा-अर्चना करने के बाद मोदी राम जन्मभूमि क्षेत्र के लिए रवाना हुए और वहां पहुंचकर भगवान राम को दंडवत प्रणाम किया। इसके बाद भूमि पूजन समारोह हुआ।


 


हिंदुओं की राह बाधित करने के अनेकों किये प्रयास 500 वर्षों के संघर्ष के दौरान

प्रथम किन्ही प्रभु धनुष टंकोरा। रिपु दल बधिर भयहू सुनि सोरा ।। 


लगभग पाँच सौ वर्षों के सतत, दुधुर्ष व उत्कट संघर्ष के बाद 5 अगस्त को अयोध्या में रामलला जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की प्रथम शिला रखी जानी है। जो समय के भीतर झांक सकते हैं वे जानते हैं कि मंदिर निर्माण की प्रक्रिया तो 6 दिसंबर 1992 के दिन ही प्रारंभ हो गई थी जिस दिन बाबरी ढांचे का कलंक भारत भूमि से हटा था। बाबरी ढांचे से लेकर भव्य निर्माण तक का ये घटनाक्रम और आरोह अवरोह, सब प्रारब्ध है और रामरचित लीला मात्र है। श्रीराम भारत के गुलामी से जकड़े हुये समाज जागरण हेतु जितने बरस स्वयं की जन्मभूमि को आतताइयों के कब्जे में रहने देना चाहते थे उतने बरस उन्होंने रहने दिया। जब श्रीराम का मन किया कि अब लीला को नवस्वरूप देना है और नवविलास करना है तो वे तिरपाल को त्याग कर नए भवन की ओर अग्रसर हो गए हैं।



होइहि सोइ जो राम रचि राखा।


को करि तर्क बढ़ावै साखा॥


अस कहि लगे जपन हरिनामा।


गईं सती जहँ प्रभु सुखधामा॥ 


मैं स्वयं अपने अनुभव से कह सकता हूँ कि यदि इतिहास में 6 दिसंबर की वीरोचित घटना नहीं हुई होती तो 9 नवंबर 2019 का विवेकपूर्ण निर्णय भी नहीं हो सकता था। साथ ही यह भी कहना ही होगा कि 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में जितने भी रामभक्त बाबरी विध्वंस में प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से सम्मिलित थे उन सभी में उस दिन रामेश्वरम रामसेतु के निर्माण में संलग्न देव तुल्य वानरों की आत्मा प्रवेश कर गई थी। गिलहरी, नल, नील, जांबवंत, सुग्रीव, अंगद, हनुमान, सहित भैया लक्ष्मण और श्रीराम वहाँ स्वयं स्वयंसेवक रूप मे उपस्थित थे और एक नए युग के जन्म की कथा का प्रारंभ स्वयं अपने हाथों से लिख रहे थे।      


गोस्वामी तुलसीदास के इन शब्दों को प्रत्येक स्वयंसेवक कहते हुये आगे बढ़ रहा था–


कटि तूनीर पीत पट बाँधें।


कर सर धनुष बाम बर काँधें॥


पीत जग्य उपबीत सुहाए।


नख सिख मंजु महाछबि छाए॥


कमर में तरकस और पीतांबर बाँधे हैं। हाथों में बाण और कंधों पर धनुष तथा पीले यज्ञोपवीत सुशोभित हैं। नख से लेकर शिखा तक सब अंग सुंदर हैं, उन पर महान शोभा छाई हुई है और वे साथ-साथ चलते जा रहे हैं।                        


लंका दहन, क्षमा कीजिये बाबरी विध्वंस के बाद देश भर व विश्व मे चले विमर्श के संदर्भ मे कभी किसी प्रसिद्ध लेखक ने लिखा था कि वह विमर्श बड़ा ही भयावह था। समूचे भारतीय व वैश्विक मीडिया ने बड़ा ही अनैतिक, अनर्गल व अनावश्यक प्रलाप किया था। भारतीय सेकुलर विधवा विलाप कर रहे थे और बीबीसी से लेकर न्यूयार्क टाइम्स, मिरर, वाशिंगटन पोस्ट, एकानामिक टाइम्स आदि आदि वही कह रहे थे जो पाकिस्तान का “द डान” कह रहा था। द टाइम मैगज़ीन ने तो लिखा था कि “पवित्र काम भारत में शांति नष्ट किए दे रहा है।“ टाइम ने उस समय “राम का क्रोध” नाम से भी एक स्टोरी भी प्रकाशित की थी। यूनिवर्सिटी आफ केलिफोर्निया से Ayodhya and the Politics of India's Secularism: A Double-Standards Discourse जैसा शोध पत्र भी प्रकाशित हुआ था। इस समूचे विमर्श में एक ही बात पर बल दिया जा रहा था कि भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने ढाँचा गिराए जाने को ग़ैरक़ानूनी घोषित कर दिया है। बाबरी विध्वंस के बाद देश भर में ऐसे लेखन को प्रायोजित किया गया जो हिंदू समाज में घनघोर आत्मग्लानि, दुख, कुंठा व खेद का वातावरण तैयार करे। वामपंथी, तथाकथित सेकुलर व कांग्रेस ने भारत में इस वितंडावादी वातावरण को निर्मित करने हेतु एड़ी चोटी के प्रयास किए। वस्तुतः बाबरी विध्वंस राम काज था, गौरावान्वित कर देने वाला अवसर था, पाँच सौ वर्षों की कुंठा, अवसाद व कलंक को मिटा देने वाला अवसर था। बाबरी विध्वंस पर 6 दिसंबर 1992 से लेकर 9 अक्तूबर 2019 तक न्यायालय द्वारा जितनी भी प्रतिकूल, अनुकूल प्रतिकूल टिप्पणियां की गई थीं उन सभी को इस राष्ट्र के हम हिंदू बंधुओं ने न तो स्मरण करना चाहिए और न ही उन्हें विस्मृत करना चाहिए। मुझे लगता है बाबरी विध्वंस पर हुई तमाम न्यायलीन टिप्पणियों का यथासमय समाशोधन/ न्याय हमारे समाज द्वारा स्वमेव ही कर दिया जाएगा। एक सर्वव्यापी मंथन कभी न कभी होगा जो इस विमर्श के सत्व को स्थापित करेगा। जिस राष्ट्र ने श्रीराम को अपना पूर्वज, अपना कुटुंबपति, अपना पुरोधा, अपना प्रभु, अपना नीतिनियंता और अपना आदर्श माना हो उस समाज में रामकाज करना प्रत्येक नागरिक का प्रथम कर्तव्य है। निस्संदेह मंदिर निर्माण रामकाज ही है और बाबरी का विध्वंस भी रामकाज ही था।


यदि समाज, देश व विश्व यह सोचता है कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण ही अंतिम रामकाज है तो वह गलत सोचता है। आप चिंता न करें मैं यहां मथुरा, काशी आदि आदि की बात नहीं कर रहा हूँ। मथुरा काशी अपने आप में एक सामाजिक कार्य हैं जो समय आने पर विधिवत अभियान का स्वरूप लेगा; मैं तो यहां यह चर्चा कर रहा हूँ कि ये जो पाँच सौ वर्षों तक हमारे माथे पर कलंक का टीका लगा रहा है वह मंदिर बनने मात्र से समाप्त नहीं होगा। इस कलंक को समाप्त करने हेतु हमें हमारे समाज में चले पाँच सौ वर्षों के षड्यंत्रकारी व लज्जाधारी विमर्श के विरुद्ध भी एक व्यापक विमर्श खड़ा करना होगा। मंदिर स्थूल है किंतु मंदिर का व्यापक विमर्श एक दिव्य विचार है। हमें इस दिव्य विचार की स्थापना हेतु कार्य करना होगा ताकि हम हमारी आने वाली पीढ़ियों को आत्मग्लानि, कुंठा व खेद के भाव से निकाल कर वीरोचित भाव से आत्मविभोर कर पाएँ। आप कल्पना कीजिये कि जिस देश में नरेंद्र मोदी के पूर्व किसी प्रधानमंत्री ने सार्वजनिक मंच से जय श्रीराम का उद्घोष ही नहीं किया, उस देश में राममंदिर के निर्माण हेतु एक प्रधानमंत्री का जाना सतह के नीचे कितनी लहरों को जन्म दे रहा होगा।


 


टीका नहीं लगाया, प्रसाद नहीं लिया, पीएम मोदी ने ऐसे सोशल डिस्टेंसिंग का रखा ख्याल

अयोध्या: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या पहुंच गए हैं. इस दौरान पीएम मोदी सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रख रहे हैं. उन्होंने मास्क पहन रखा है. एयरपोर्ट पर सीएम योगी से दो गज की दूरी से नमस्कार किया. इसके बाद उन्होंने हनुमानगढ़ी के दर्शन किए. यहां उन्होंने करीब 10 मिनट तक हनुमान जी की आरती की और वहां उन्होंने बजरंग बली के सामने शीश नवाया. आरती की थाली को खास पहले ही सैनेटाइज किया गया था. कोरोना संकट के कारण उन्हें टीका भी नहीं लगाया गया, न ही उन्होंने प्रसाद दिया गया. हालांकि प्रधानमंत्री ने अपनी जेब से कुछ रुपये निकालकर हनुमानगढ़ी मंदिर में कुछ दान भी चढ़ाया.
इसके बाद राम जन्मभूमि स्थल पहुंचे और रामलला के दर्शन किए. मोदी ने इस दौरान भी लगातार मास्क पहने रखा. उनके साथ मौजूद योगी आदित्यनाथ ने भी मास्क पहने रखा. पीएम मोदी ने रामलला के दर्शन किए और वहां अपना शीश नवाया. इसके बाद अब पीएम मोदी राम जन्मभूमि का भूमि पूजन कर रहे हैं और सभी पूजा-अर्चना के नियमों का पालन करते हुए इस कार्यक्रम को पूरा कर रहे हैं. सबसे पहले उनके हाथ धुलवाए गए और मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी मुख्य स्थान पर बैठे हुए हैं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे 29 साल बाद अयोध्या पहुंचे हैं और इससे पहले वो 1992 में अयोध्या आए थे. उस समय वो राम मंदिर आंदोलन का हिस्सा थे और इस समय वो बतौर प्रधानमंत्री अयोध्या में रामलला के दर्शन करने पहुंचे हैं.


सदी के श्रेष्ठ कार्यो में अंकित राम मंदिर निर्माण  

भारत की एकता संप्रभूता और आस्था को एक नई गाथा अयोध्या नगरी में  लिखी जाएगी जब भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण कार्य की नींव रखी जाएगी।सदी के महानतम कार्यो में से एक यह दो सदी के संघर्षो का इतिहास समेटने हुए खड़ा होने को उत्सुक है।वही पूरा भारतवर्ष राममय नजर आ रहा है।अदभूत और मनोरम है यह दृश्य जिसको हमारी न्यायपालिका ने यह गौरव हासिल करने का सौभाग्य तमाम सबूतो और साक्ष्यों के आधार पर देकर करोडो भक्तों का मान बढ़ाया है।आज पूरा भारतवर्ष खुश है ।हर कोई इस सदी के इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनना चाहता है।भारत ही नहीं कई देशों में भी इसका सीधा प्रसारण होगा।
जिनके हृदय श्रीराम वसै तिन और का नाम लियो न लियो।।यह पंक्ति हमारे अराध्य की महत्ता को दर्शाता है। दो अक्षर का यह नाम पूरे ब्रह्माण्ड पर भारी है।इनके नाम लेने मात्र से ही व्यक्ति का मोक्ष है।यहाँ तक परमपिता परमेश्वर शिव भी इनके नाम का जप करते हैं।जीवन की सत्यता का सार है राम नाम, मोक्ष का द्वार है राम नाम, सभी कष्टो के निवारण इन्हीं नामो में निहित है। ऐसे मर्यादा पुरूषोत्तम के मंदिर निर्माण  के अवसर पर हम भारतवासी उनके भक्ति में नहाकर हमारे गौरवशाली इतिहास को चार चाँद लगा रहा है। आज की आस्था तथा इतिहास की यह गौरव गाथा का परिचायक युगो युगो तक याद रखा जाएगा। वेद पुराण और धार्मिक ग्रंथो और हिन्दू कलेंडर के अनुसार प्रभू श्री राम को भगवान् विष्णु जी की 10वीं अवतारों में से 7वां अवतार माना गया है। भगवान् श्री राम की अराधना घरो में भी करते हैं और अपने परिवार और जीवन की सुख-शांति और समृद्धि की कामना करते हैं। पूरे देश में लोग मर्यादा पुरूषोत्तम की लीलाओ का बखान करते हैं उनके प्रति अपार श्रद्धा और विश्वास के साथ लोग उन्हें मर्यादा पुरूषोत्तम मनाते है।  सभी लोग प्रभू श्री राम का दर्शन मंदिरो में करने को कई वर्षो से उत्सुक  है।भक्त हमेशा रामचरितमानस का अखंड पाठ करते हैं और साथ ही मंदिरों और घरों में धार्मिक भजन, कीर्तन और भक्ति गीतों के साथ पूजा आरती भी करते है। आज  विश्व पटल पर उनकी महिमा वखानऔर भक्ति में  लीन अयोध्या,नगरी अदभूत लग रही है।
प्रभू राम को घर मिले प्रतीक्षा में हैं भक्त
पीड़ाहार,की पीड़ा दूर करते रामभक्त। 
हो रहा निर्माण कार्य शूरू पाँच अगस्त 
भव्य मंदिर होगा वहाँ जहाँ होंगे प्रभू।।
सजेगी नित दरबार गूँजेगी मंत्रोचार
घूम गूगल से महकेगी अयोध्या नगर।
आस पास दूर दरार से लोग आएँगे
चार चाँद लगेगा जब पर्यटन बढ जाएँगे।
वो घड़ी आयी है जिसका सबको इन्तजार
आइये इस ऐतिहासिक पल को दे प्यार।
आशुतोष, पटना बिहार 


कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक भी हुए कोरोना संक्रमित, बोले- संपर्क में आए लोग अपनी जांच कराएं

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक भी कोविड-19 के मरीज हो गए हैं। प्रदेश के कानून मंत्री पाठक ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा कि कोरोना के लक्षण होने के बाद मैंने डॉक्टरों की सलाह पर अपना टेस्ट कराया था जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पाठक ने कहा कि पिछले कुछ दिनों के दौरान जो लोग भी मेरे संपर्क में आए हैं उनसे अनुरोध है कि वे सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए खुद पृथक-वास में चले जायें और अपनी जांच कराएं। 


गौरतलब है कि इससे पहले प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मोती सिंह और महेंद्र सिंह भी कोरोना की जद में आ चुके हैं। इसके अलावा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी इस वायरस के मरीज हुए हैं। हाल में कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण का कोविड-19 संक्रमित होने के बाद निधन हो गया था।


 


रामलला के अस्थायी मंदिर में पीएम मोदी ने की पूजा-अर्चना

रामलला के अस्थायी मंदिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूजा-अर्चना की। यहां पीएम मोदी ने परिसर की परिक्रमा की औरसाष्टांग दंडवत प्रणाम किया। जिसके बाद पीएम मोदी ने पारिजात के पौधे का रोपन किया। पारिजात के पौधे का भी अपना एक विशेष महत्व है। पारिजात के फूल को भगवान हरि के श्रृंगार और पूजन में प्रयोग किया जाता है, इसलिए इस मनमोहक और सुगंधित पुष्प को हरसिंगार के नाम से भी जाना जाता है।



हनुमान पूजन के साथ शुरू हुआ अनुष्ठान, मोदी ने राम के काज के लिए ली अनुमति

हनुमानगढ़ी में नरेंद्र मोदी पहुंचे और सबसे पहले शीश नवाजा। उन्होंने आरती उतारी और पूजा अर्चना की और मंदिर की परिक्रमा की। यही से शुरुआत होती है भगवान की भक्ति की प्रभु राम की पूजा की। वहां पर पीएम मोदी को एक पगड़ी पहनाई गई जिसपर एक मुकुट भी बंधा हुआ है। कार्यक्रम अच्छी तरह से संपन्न हो इसके लिए अनुमति ली जाती है, भगवान के सेवक हनुमान से। कहा जाता है कि लंका विजय करने के बाद हनुमान यहां एक गुफा में रहते थे और राम जन्मभूमि और रामकोट की रक्षा करते थे। इसी कारण इसका नाम हनुमानगढ़ या हनुमान कोट पड़ा। इसे ही हनुमानजी का घर भी कहा गया।



शिलान्यास के लिए होगा चांदी के फावड़े और कन्नी का इस्तेमाल

अयोध्या. राम मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम कुछ देर में शुरू होने वाला है. 12:30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमिपूजन कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे. इसके कुछ ही देर बाद पीएम मोदी के करकमलों से राम मंदिर की आधारशिला की स्थापना होगी. खास बात है कि मंदिर की नींव खोदने के लिए चांदी का फावड़े का इस्तेमाल किया जाएगा जबकि नींव की ईंट पर सीमेंट लगाने के लिए चांदी की कन्नी का भी प्रयोग किया जाएगा. पीएम मोदी नींव खोदने के लिए चांदी के इसी फावड़े का इस्तेमाल करेंगे.


मेहमानों को चांदी का सिक्का
इसके अलावा इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले हर मेहमान को लड्डू के साथ-साथ चांदी का एक सिक्का भी दिया जाएगा. चांदी के सिक्के के एक तरफ राम दरबार की छवि है जिसमें भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान हैं और दूसरी तरफ ट्रस्ट का प्रतीक चिह्न है.


 


हरे और भगवा रंग वस्त्र में रामलला ने मन मोहा
रामलला को जो वस्त्र पहनाए गए हैं उनकी पहली झलक सामने आ चुकी है. रामलला को हरे और भगवा रंग के वस्त्र पहनाए गए हैं. इन वस्त्रों में रामलला की छटा देखते ही बन रही है. बतादें कि रामलला के वस्त्र मखमल के कपड़े से बने हैं. इन वस्त्रों पर 9 तरह के रत्नों को लगाया गया है.


हनुमान गढ़ी पहुंचे पीएम मोदी, सोशल डिस्टेंसिंग का रखा जा रहा है खास ख्याल

अयोध्या. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर के भूमिपूजन लिए अयोध्या पहुंच गए हैं. आजाद भारत में मोदी राम जन्मभूमि जाने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं. अयोध्या पहुंचकर पीएम ने हनुमान गढ़ी के दर्शन किए. मोदी का विशेष विमान 10:35 बजे लखनऊ एयरपोर्ट पर लैंड हुआ था, इसके बाद 10:45 बजे अयोध्या के लिए प्रस्थान किया. करीब 11:30 बजे मोदी का हैलीकॉप्टर अयोध्या के साकेत कॉलेज पहुंचा. यूपी सीएम ने उनका स्वागत किया. 2 गज की दूरी से मोदी और योगी ने एक दूसरे को नमस्कार किया.



पीएम मोदी के हाथों होगा भूमि पूजन
करीब 12 बजे तक पीएम नरेंद्र मोदी राम जन्मभूमि परिसर में पहुंचेंगे. यहां रामलला परिसर में 12:15 बजे पीएम मोदी पारिजात के पौधे का रोपण करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी 12:30 बजे भूमिपूजन कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे. ठीक 12:40 बजे पीएम नरेंद्र मोदी के करकमलों से राम मंदिर की आधारशिला की स्थापना होगी. 1.10 बजे पीएम मोदी नृत्यगोपाल दास वेदांती जी सहित राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट कमेटी के लोगों से मुलाकात करेंगे. इस मुलाकात के बाद करीब 2:05 बजे पीएम मोदी साकेत कॉलेज के हेलीपैड के लिये रवाना होंगे. इसके बाद करीब 2:20 बजे पीएम मोदी का हेलिकॉप्टर वापस लखनऊ के लिए उड़ान भरेगा.


राम मंदिर निर्माण को लेकर मनोज तिवारी ने जताई खुशी, भगवान राम के लिए गाया ये गाना

बीजेपी नेता और भोजपुरी इंडस्ट्री के पॉपुलर सिंगर-एक्टर रहे मनोज तिवारी अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर काफी एक्साइटेड हैं. इस मौके पर उन्होंने राम मंदिर निर्माण और राम कथा को लेकर एक गाना बनाया है. इसे उन्होंने बहुत ही खूबसूरती से गाया है. इस गाने को टीम फिल्म भोजपुरी पर लॉन्च किया गया है. इस गाने को अब तक हजारों बार देखा जा चुका है. गाने के शुरुआत में मनोज तिवारी कहते हैं,"500 सालों का इंजतार और अब अयोध्या में राम मंदिर का भव्यय शिलान्यास. सौ साल मतलब एक सदी. पांच सदी. " वह गाने के जरिए कह रहे हैं कि पांच सदी के इंतजार को, मिलकर हमें सजाना है. जहां जगत में राम पधारे उसी अयोध्या जाना है. गाने का शीर्षक भी 'जहां जगत में राम पधारे' है. इस गीत को मनोज तिवारी अयोध्या भूमिपूजन स्पेशल गीत बताया है. इस गान के बोल खुद मनोज तिवारी ने लिखा है.


अयोध्या जाने पर दुखी होंगे मनोज तिवारी


बता दें कि मनोज तिवारी भूमि पूजन के दौरान आयोध्या में नहीं रहेंगे. एक न्यूज चैन को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा,"वह अयोध्या जाएंगे तो दुखी हो जाएंगे कि हम उस समय धरती पर हैं और अयोध्या में नहीं है. बड़ी टीस हो सकती है, ऐसा सोचते ही मैं रोने लगूंगा" इस दौरान मनोज तिवारी भावुक भी दिखाई दिए. और इसी गीत की एक लाइन को गाकर बताते हैं.


गाने में प्रधानमंत्री की तारीफ


मनोज तिवारी गाने में मोदी के काल में राम मंदिर बनने पर खुशी जताई है. बता दें कि मनोज तिवारी हाल ही में दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटे हैं. लेकिन वह उत्तरी पूर्वी दिल्ली से लोकसभा सांसद है. भाजपा के सक्रिय नेता है. उन्होंने काफी वक्त पहले ही भोजपुरी फिल्मों से दूरी बना ली थी.


29 साल बाद अयोध्या पहुंचे मोदी, रामलला के दर्शन करने वाले पहले प्रधानमंत्री होंगे, दोपहर 12.30 बजे राम मंदिर के लिए भूमि पूजन करेंगे, 32 सेकंड का मुहूर्त

आज राम काज का दिन है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंच गए हैं। वे रामलला के दर्शन और हनुमान गढ़ी जाने वाले पहले प्रधानमंत्री होंगे। दोपहर 12:30 बजे मोदी राम मंदिर की नींव रखेंगे। मोदी, जिनकी पार्टी भाजपा ने 10 में से 8 लोकसभा चुनाव में यही वादा दोहराया था।...और सबसे खूबसूरत बात यह कि इसका सबसे पहला न्योता उन इकबाल अंसारी को भेजा गया, जो बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे थे।


492 साल पहले बाबर के कहने पर अयोध्या में विवादित ढांचा बना था। 1885 में पहली बार यह मामला अदालत में गया। 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने रामलला के पक्ष में फैसला सुनाया। इसके ठीक नौ महीने बाद अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमिपूजन होने जा रहा है।


आजादी के बाद मोदी इकलौते ऐसे प्रधानमंत्री होंगे, जो इस पद पर रहते हुए रामलला के दरबार में होंगे। उनसे पहले इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी और खुद नरेंद्र मोदी बतौर प्रधानमंत्री अयोध्या पहुंचे, लेकिन रामलला के दर्शन नहीं कर पाए थे।


मोदी 29 साल बाद अयोध्या में


इससे पहले मोदी 1991 में अयोध्या गए थे। तब भाजपा अध्यक्ष रहे मुरली मनोहर जोशी तिरंगा यात्रा निकाल रहे थे और यात्रा में मोदी उनके साथ रहते थे। मोदी ने 2019 के लोकसभा चुनाव के वक्त फैजाबाद-अंबेडकर नगर में एक रैली को सं‍बोधित किया था, लेकिन अयोध्या नहीं गए थे।


सीएम योगी और राज्यपाल अयोध्या पहुंचे, दोनों का कोरोना टेस्ट आया निगेटिव

अयोध्या: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंच चुके हैं. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी अयोध्या पहुंच चुकी हैं. अयोध्या पहुंचने से पहले दोनों का कोरोना टेस्ट हुआ, जिसमें दोनों निगेटिव आए. इनके अलावा यूपी के दोनों उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य की कोरोना रिपोर्ट भी निगेटिव आई है. कार्यक्रम में शामिल होने आ रहे मेहमानों का भी भूमि पूजन स्थान में पहुंचने से पहले कोरोना टेस्ट होगा. ये सभी टेस्ट रैपिड एंटीजन टेस्टिंग के जरिए होगा, ताकि सिर्फ 15 मिनट में नतीजा मिल जाए. इसके बाद ही किसी भी मेहमान को अंदर जाने दिया जाएगा.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोपहर 12 बजे राम जन्मभूमि पहुंचेंगे और 12 बजकर 5 मिनट पर रामलला के दर्शन करेंगे. इसके बाद राम जन्मभूमि परिसर में 12 बजकर 15 मिनट पर पारिजात के पौधे को लगाएंगे. ठीक 12 बजकर 30 मिनट पर भूमि पूजन को संपन्न करेंगे और 12 बजकर 40 मिनट पर राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे. इसके बाद 1 बजकर 15 मिनट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन होगा और ये करीब 1 घंटा चलेगा. इसके बाद वो 2 बजकर 5 मिनट पर साकेत स्थित हैलीपेड रवाना होंगे और वहां से दिल्ली के लिए निकलेंगे.


अयोध्या में कोरोना के खतरे को टालने के लिए भी विशेष इंतजाम
यहां सबसे बड़ा खतरा बने कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता बरती गई है. हाल ही में भूमि पूजन से जुड़े पुजारी और सुरक्षाकर्मी संक्रमित पाए गए थे, जिसके बाद इसको लेकर ज्यादा एहतियात रखी जा रही है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, यूपी पुलिस ने पीएम को कोरोना के खतरे से बचाने के लिए उनके करीबी सुरक्षा में 150 ऐसे पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है, जो हाल ही में कोरोना से जंग जीतकर आए हैं.


पुलिस के मुताबिक, ऐसा इसलिए किया गया है, क्योंकि इन पुलिसकर्मियों के शरीर में कोरोना की एंडीबॉडीज विकसित हो गई हैं और अब कुछ समय तक न तो उनमें संक्रमण का खतरा है और न ही उनसे संक्रमण फैलने का खतरा है. इसलिए ऐसे पुलिसकर्मियों को पीएम के सबसे करीब रखा गया है.


32 महीने के अंदर पूरा होगा राम मंदिर का निर्माण

उत्तर प्रदेश: अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर को लेकर भूमि पूजन की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. आखिरी कुछ घंटों का वक्त और बचा है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत डेढ़ सौ से ज्यादा लोग इस दौरान राम जन्मभूमि पर मौजूद होंगे. लेकिन अब सब के ज़हन में सवाल यही है कि इस भूमि पूजन के बाद आखिर यह भव्य राम मंदिर कब तक बनकर तैयार हो जाएगा. आप के जहन में उठ रहे इसी सवाल का जवाब तलाशा है एबीपी न्यूज़ ने अपनी इस खास रिपोर्ट में.


अयोध्या में हर तरफ इस वक्त रौनक है. हर तरफ लोग बेसब्री से भूमि पूजन का इंतजार कर रहे हैं. भूमि पूजन को लेकर पूरा अयोध्या जगमगा रहा है, लेकिन इस सब के बीच अब राम के भक्त और देश भर से अयोध्या पहुंचने की इच्छा रखने वाले श्रद्धालु यह भी जानना चाह रहे हैं कि इस भूमि पूजन के बाद कितना वक्त और लगेगा राम मंदिर के निर्माण में. इस सवाल का जवाब जानने के लिए एबीपी न्यूज़ ने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के ट्रस्टी स्वामी परमानंद महाराज से बात की. इस बातचीत के दौरान स्वामी परमानंद महाराज ने बताया कि अभी राम मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम तय किया गया है, लेकिन इसके बाद पूरा जोर होगा जल्द से जल्द मंदिर निर्माण पूरा करने का.


लेकिन सवाल यह था कि आखिर श्रद्धालुओं को राम मंदिर के भीतर पहुंचकर रामलला के दर्शन करने का मौका कब मिलेगा. इस सवाल के जवाब में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के ट्रस्टी स्वामी परमानंद ने बताया कि फिलहाल जैसे ही भूमि पूजन का कार्यक्रम पूरा होगा. उसके बाद से ही जल्द से जल्द मंदिर निर्माण को लेकर काम शुरू हो जाएगा. इसी के मद्देनजर ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण करने वाली कंपनी को मंदिर निर्माण पूरा करने के लिए अगले 32 महीने का वक्त दिया है. यानी अब से 2 साल 8 महीने बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण पूरा हो सकता है.


इस बीच श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के ट्रस्टी परमानंद जी महाराज ने एक अहम जानकारी और साझा की. परमानंद जी महाराज के मुताबिक देशभर में जिन जिन जगहों पर शिला पूजन हुआ है, उन सभी शिलाओं का इस्तेमाल राम मंदिर के निर्माण में किया जाएगा. इतना ही नहीं अयोध्या के कारसेवक पुरम में बनाई गई कार्यशाला में जो पत्थर तराश के रखे गए हैं, उनका भी इस्तेमाल राम मंदिर के निर्माण में होगा.


इन शिलाओं और पत्थरों के अलावा भी अयोध्या के कारसेवक पुरम में हजारों हजार की संख्या में ईंट भी रखी हुई हैं, जिनको देश के अलग-अलग हिस्सों से आए श्रद्धालुओं ने अपनी श्रद्धा के तौर पर यहां पर रखा है. इसके अलावा कारसेवक पुरम में जो ईंट रखी हुई हैं उन ईंटों का इस्तेमाल भी राम मंदिर के निर्माण में किया जाएगा.


इसके अलावा जो भी श्रद्धालु श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए चंदा देंगे, उनको चंदे की जो रसीद मिलेगी, वह भी अपने आप में खास होगी. क्योंकि वह रसीद आम रसीदों से हटकर होगी. वह रसीद ऐसी होगी, जिसको लोग हमेशा के लिए यादगार बना कर अपने पास रख सकेंगे.


तो कुल मिलाकर भूमि पूजन कल यानी 5 अगस्त 2020 को जरूर हो जाएगा, लेकिन फिलहाल जिस तरह से तैयारी की जा रही है, उससे तो यही लग रहा है कि साल 2023 में होने वाली रामनवमी तक मंदिर का निर्माण पूरा हो जाएगा और श्रद्धालु श्री रामलला विराजमान के दर्शन कर सकेंगे.


 


रामलला की नगरी तैयार, नरेंद्र मोदी का इंतजार, अयोध्या के लिए दिल्ली से रवाना हुए पीएम

अयोध्या में राम मंदिर भूमिपूजन समारोह के लिए तैयारियां कर ली गई हैं। भूमिपूजन समारोह में मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राम मंदिर ट्रस्ट के प्रमुख नृत्य गोपाल दास, उ.प्र. की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे।


अयोध्या के लिए प्रधानमंत्री दिल्ली से रवाना हुए। सुबह 10 बजकर 35 मिनट पर लखनऊ पहुचेंगे पीएम मोदी। वहीं 10 बजकर 40 मिनट पर अयोध्या के लिए रवाना होंगे। पीएम मोदी कुर्ता और धोती पहने नजर आए। 


अयोध्या पहुंचे योग गुरु बाबा रामदेव, बोले- रामराज्य का संकल्प जरूर पूरा होगा

अयोध्या. राम मंदिर भूमि पूजन के लिए अब बस कुछ ही घंटों का वक्त रह गया है. अयोध्या में इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनने के लिए देश की कई जानी-मानी हस्तियां यहां पहुंची हैं. योगगुरु बाबा रामदेव भी राम नगरी अयोध्या पहुंचे हैं. बाबा रामदेव ने बुधवार सुबह हनुमान गढ़ी में बजरंग बली के दर्शन किए. रामदेव ने दर्शन से पहले एबीपी न्यूज के साथ बातचीत भी की. रामदेव ने बताया कि वो बजरंग बली से आशीर्वाद मांगने आए हैं. उन्होंने कहा, "मैं बजरंग बली से ये ही मांगने आया हू्ं कि राम मंदिर का काम बिना रुकावट के पूरा हो जाए. बजरंग बली की हम पर कृपा बनी रहें."


 


"भगवान राम हमारी संस्कृति, जीवन की मर्यादा"
रामदेव ने पूरा भरोसा जताया है कि राम मंदिर दुनिया का सबसे दिव्य और श्रेष्ठ मंदिर होगा. उन्होंने कहा "मुझे विश्वास है कि श्रेष्ठ मंदिर बनने के साथ ही राम और सीता जैसा चरित्र इस राष्ट्र का होगा. क्योंकि भगवान राम सिर्फ एक इंसान ही नहीं थे. बल्कि वे हमारी संस्कृति हैं. भगवान राम हमारे आध्यात्म है. हमारी परंपरा और हमारे जीवन की मर्यादा है. भगवान राम ही हमारी अस्मिता है." रामदेव ने बातचीत के अंत में ये भी कहा कि राम राज्य का संकल्प जरूर पूरा होगा.


भूमि पूजन से पहले 3.51 लाख दीयों से जगमग हुई अयोध्या
मंगलवार को रोशनी में नहाया अयोध्या बुधवार रात तक जगमग रहेगा. अयोध्या धाम में 3,51,000 दिए जलाए गए हैं. जिला प्रशासन ने बताया कि राम की पैड़ी समेत अयोध्या धाम के 50 स्थानों पर दिए जलाए गए. अयोध्या धाम के सभी मंदिरों में दिये जलाए गए हैं. प्रशासन के अनुसार 1 लाख 25 हजार दीपक सरयू घाट (राम की पैड़ी) पर इसके अलावा 25 हजार भरतकूप, छोटी चौक में 11 हजार, बड़ी चौक में 12 हजार हनुमान गढ़ी में 11000, जन्मभूमि में 101, इसके अन्य कई जगह भी दीपक जलाए गए.


Tuesday, August 4, 2020

बॉलीवुड फ़िल्म सीक्रेट पॉकेटमार से डेब्यू करेंगे आयुष और अवंतिका

-फ़िल्म पीआरओ कुमार युडी की रिपोर्ट।
मुम्बई।बॉलीवुड की दुनिया एक ऐसी दुनिया जो ग्लैमर से भरी हुई हैं और हमेशा से ही बॉलीवुड में नए-नए चेहरे नज़र आते ही रहें हैं।इसी श्रेणी में लखनऊ के आयुष उपाध्याय और गुजरात की अवंतिका दावे भी डेब्यू करने जा रहीं हैं।बॉलीवुड फ़िल्म सीक्रेट पॉकेटमार से ही दोनों अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत करने जा रहें हैं।यह फ़िल्म काफी समय से चर्चा का विषय बना हुआ हैं।जिसकी कहानी में दर्शकों को रोमांस,थ्रिलर और एक्शन भरपूर देखने को मिलेगा।फिल्म के लीड रोल में आयुष कुमार उपाध्याय,जबकि उनके साथ लीड एक्ट्रेस में अवंतिका दावे को फाइनल किया गया है।अवंतिका पहले से मॉडलिंग करती हैं।लेकिन,यह उनकी पहली फ़िल्म होगी।इस बात की जानकारी आयुष कुमार उपाध्याय ने अपने इंस्टाग्राम के एक पोस्ट में दिया हैं।
 उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में अवंतिका की एक तस्वीर शेयर किया हैं और लिखा हैं कि फिल्म डायरेक्टर अखिलेश कुमार उपाध्याय अवंतिका दावे को फिल्म सीक्रेट पॉकेटमार से बॉलीवुड में लॉन्च करने का फैसला कर चुके हैं।फिल्म की शूटिंग अतिशीघ्र पूरी हो जाएगी। बॉलीवुड में ये नई जोड़ी बहुत जल्द दर्शकों को सिनेमा घरों में देखने को मिलेगी।आयुष ने ये भी लिखा हैं कि करीब 500 से ज्यादा लडकियो के ऑडिशन लेने के बाद अवंतिका को इस फिल्म की अभिनेत्री के रोल में सेलेक्ट किया गया ।


एनएसएनआईएस पटियाला और सीएसएस-एसआरआईएचईआर ने खेल संबंधी परिवेश को बुनियादी स्तर पर मजबूती प्रदान करने के लिए खेल फिजियोथेरेपी और खेल न्यूट्रीशन में पाठ्यक्रम शुरू किए

इस बात को सुनिश्चित करने के एक प्रयास के रूप में कि खेल विज्ञान को एथलीटों को प्रशिक्षित करने के लिए बुनियादी स्तर पर भी लागू किया जाए, एनएसएनआईएस पटियाला ने सीएसएस-एसआरआईएचईआर, चेन्नई (डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी) के साथ, खेल विज्ञान विषयों में संयुक्त रूप से छह महीने के प्रमाण पत्र पाठ्यक्रमों का संचालन करने के लिए एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य, खेल विज्ञान के क्षेत्र में काम करने वाले योग्य युवा पेशेवरों को विशेषज्ञता के क्षेत्र में आगे बढ़ने का अवसर प्रदान करना है। पहले चरण में, खेल फिजियोथेरेपी और खेल न्यूट्रीशन पाठ्यक्रमों की शुरुआत ऑनलाइन माध्यम से की जा रही हैं, उन पाठ्यक्रमों के लिए 3 अगस्त 2020 से नामांकन प्रारंभ किए गए हैं। इन पाठ्यक्रमों का उद्देश्य उन पेशेवरों को प्रशिक्षण प्रदान करना है जो कि सामुदायिक कोचों और विकासात्मक कोचों के साथ मिलकर जमीनी स्तर के प्रशिक्षण में खेल विज्ञान का उपयोग कर सकते हैं।


खेल फिजियोथेरेपी पाठ्यक्रम की लिखित प्रवेश परीक्षा में शामिल होने की पात्रता फिजियोथेरेपी (ऑर्थो/खेल) में परास्नातक की डिग्री है। जिन लोगों के पास किसी खेल संस्थान, खेल टीम या क्लब में तीन वर्ष काम करने का अनुभव प्राप्त होने के साथ-साथ फिजियोथेरेपी में स्नातक की डिग्री है, वे भी इस पाठ्यक्रम के लिए आवेदन कर सकते हैं। खेल न्यूट्रीशन पाठ्यक्रम के लिए, जो व्यक्ति प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के योग्य हैं, उनके पास किसी भी विषय में परास्नातक की डिग्री होनी चाहिए, जिसमें खाद्य और पोषण, एप्लाइड न्यूट्रीशन, सार्वजनिक स्वास्थ्य पोषण, नैदानिक पोषण और आहार विज्ञान, खाद्य विज्ञान और गुणवत्ता नियंत्रण या खेल न्यूट्रीशन भी शामिल हैं। उपरोक्त में से किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री रखने वाले, और साथ ही किसी भी मान्यता प्राप्त खेल संस्थान, क्लब या राज्य या राष्ट्रीय स्तर की टीम में तीन वर्ष काम करने का अनुभव रखने वाले भी प्रवेश परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।


छह महीने के पाठ्यक्रम को ऑनलाइन पढ़ाया जाएगा, जिसमें खेल फिजियोथेरेपी और खेल न्यूट्रीशन के सभी महत्वपूर्ण पहलू शामिल होंगे। पाठ्यक्रम के भाग के रूप में, दो सप्ताह की शारीरिक कार्यशाला भी आयोजित की जाएगी, और जिसका आयोजन कोविड महामारी के बाद किया जाएगा। अंतिम रूप से प्रमाणपत्र देने के लिए, उपस्थित लोगों का मूल्यांकन ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी और लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा।


भारतीय खेल प्राधिकरण के वरिष्ठ कार्यकारी निदेशक (अकादमिक), कर्नल आरएस बिश्नोई ने जमीनी स्तर के कोचों की खेल शिक्षा में, खेल विज्ञान को शामिल करने के महत्व के संदर्भ में कहा कि, "खेल विज्ञान में नए पाठ्यक्रमों को शामिल करने का उद्देश्य, ज्यादा वैज्ञानिक तरीके से प्रशिक्षण प्रदान करके बुनियादी स्तर पर खेल संबंधी परिवेश को मजबूती प्रदान करना है। इन पाठ्यक्रमों को पूरा करने के बाद, ये पेशेवर जमीनी स्तर पर सामुदायिक कोचों और विकासात्मक कोचों के साथ काम करने के लिए तैयार हो जाएंगे और जूनियर एथलीटों को बेहतर प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। दूसरे चरण में भारतीय खेल प्राधिकरण, एक्सरसाइज फिजियोलॉजी, खेल बायोमैकेनिक्स, स्ट्रेंथ एंड कंडिशन, खेल साइकोलॉजी में भी पाठ्यक्रमों की शुरुआत करेगा।"


पाठ्यक्रम की अध्ययन सूची के संदर्भ में सीएसएस-एसआरआईएचईआर के निदेशक, प्रोफेसर अरुणमुगम ने कहा कि, “इन पाठ्यक्रमों को खेल फिजियोथेरेपी और खेल न्यूट्रीशन के क्षेत्र में नवीनतम अंतर्राष्ट्रीय चलनों को शामिल करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। पाठ्यक्रम में खेल विज्ञान को शामिल करना, यहां तक ​​कि जमीनी स्तर पर भी, इस क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवरों को एक एथलीट की जरूरतों को ठीक प्रकार से समझने में सहायता प्रदान करेगा। इन पाठ्यक्रमों को सर्वश्रेष्ठ भारतीय संकाय और विदेशी विशेषज्ञों द्वारा पढ़ाया जाएगा।”


इन पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन फॉर्म, तीन अगस्त से 10 अगस्त तक ऑनलाइन उपलब्ध होंगे, जिसके बाद पात्र उम्मीदवारों के लिए 16 अगस्त, 2020 को लिखित ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। इन पाठ्यक्रमों की शुरुआत 24 अगस्त, 2020 से होगी।



भारत की एक और ऐतिहासिक उपलब्धि, 2 करोड़ से भी अधिक ‘कोविड टेस्‍ट’ का नया रिकॉर्ड बना

भारत ने एक और ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल कर अब तक 2,02,02,858 कोविड-19 सैंपल का परीक्षण (टेस्‍टिंग) सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। यह कोविड-19 से निपटने के लिए केंद्र के मार्गदर्शन में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों द्वारा इस अत्‍यंत कारगर रणनीति को अपनाने से ही संभव हो पाया है - ‘आक्रामक तरीके से परीक्षण करें, मरीज के संपर्क में आए लोगों का कुशलतापूर्वक पता लगाएं और तुरंत आइसोलेट एवं उपचार करें’। इस दृष्टिकोण पर प्रभावकारी ढंग से अमल करने से देश भर में टेस्‍टिंग क्षमता काफी बढ़ गई है और इसकी बदौलत लोगों के व्यापक कोविड परीक्षण में भी काफी आसानी हो रही है।


पिछले 24 घंटों में 3,81,027 सैंपल का परीक्षण होने के साथ ही टेस्ट प्रति मिलियन (टीपीएम) की संख्या बढ़कर 14640 के आंकड़े को छू गई है। मौजूदा समय में, भारत में प्रति मिलियन कोविड टेस्‍टिंग की संख्‍या 14640 है। देश भर में टीपीएम में निरंतर वृद्धि का रुख देखा जा रहा है जो तेजी से विस्‍तृत होते टेस्‍टिंग नेटवर्क को दर्शाता है। एक और विशेष बात यह है कि 24 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में प्रति मिलियन आबादी पर कोविड टेस्‍ट की संख्‍या राष्ट्रीय औसत से कहीं अधिक आंकी गई है।


देश में टेस्टिंग लैब नेटवर्क निरंतर विस्‍तृत एवं मजबूत हो रहा है। देश भर में 1348 लैब हैं जिनमें से 914 लैब सरकारी क्षेत्र में और 434 लैब निजी क्षेत्र में हैं। इनमें निम्‍नलिखित शामिल है:


• वास्तविक समय में आरटी पीसीआर आधारित टेस्टिंग लैब: 686 (सरकारी 418 + निजी: 268)


• ट्रूनैट आधारित टेस्टिंग लैब : 556 (सरकारी: 465 + निजी: 91)


• सीबीनैट आधारित टेस्टिंग लैब: 106 (सरकारी: 31 + निजी: 75)


कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मुद्दों पर समस्‍त प्रामाणिक एवं अद्यतन जानकारियों, दिशा-निर्देशों और एडवाइजरी के लिए कृपया नियमित रूप से यहां जाएं: https://www.mohfw.gov.in/ and @MoHFW_INDIA


कोविड-19 से संबंधित तकनीकी प्रश्‍न technicalquery.covid19@gov.in पर और अन्‍य प्रश्‍न  ncov2019@gov.in तथा @CovidIndiaSeva पर भेजे जा सकते हैं।


कोविड-19 से संबंधित किसी भी प्रश्न का उत्‍तर जानने के लिए कृपया स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर: +91-11-23978046 अथवा 1075 (टोल-फ्री) पर कॉल करें। कोविड-19 पर राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के हेल्पलाइन नंबरों की सूची https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdf पर भी उपलब्ध है।



नैनो विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान (आईएनएसटी) के वैज्ञानिकों ने मोतियाबिंद की सरल, सस्ती और बिना ऑपरेशन के इलाज की तकनीक विकसित की है

मोतियाबिंद अंधेपन का एक प्रमुख रूप है जो तब होता है जब हमारी आंखों में लेंस बनाने वाले क्रिस्टलीय प्रोटीन की संरचना बिगड़ जाती है, जिससे क्षतिग्रस्त या अव्यवस्थित प्रोटीन एकत्र होकर एक और नीली या भूरी परत बनाते हैं, जो अंततः लेंस की पारदर्शिता को प्रभावित करता है। इस प्रकार, इन समुच्चयों के गठन के साथ-साथ रोग की प्रगति के प्रारंभिक चरण में रोकना मोतियाबिंद की एक प्रमुख उपचार रणनीति है, और इस कार्य के लिए सामग्री मोतियाबिंद की रोकथाम को सस्ती और सुलभ बना सकती है।


भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत आने वाले एक स्वायत्त संस्थान नैनो विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान (आईएनएसटी) के वैज्ञानिकों की एक टीम ने गैर-स्टेरॉयडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग (गैर-दाहक या उत्तजेक दवा)-एनएसएआईडी एस्पिरिन से नैनोरोड विकसित किया है, जो एक लोकप्रिय दवा है जिसका उपयोग दर्द, बुखार, या सूजन को कम करने के लिए किया जाता है और यह मोतियाबिंद के खिलाफ एक प्रभावी गैर-आक्रामक छोटे अणु-आधारित नैनोथेरेप्यूटिक्स के रूप में भी पाया गया।


जर्नल ऑफ मैटेरियल्स केमिस्ट्री बी में प्रकाशित उनका शोध एक सस्ते और कम जटिल तरीके से मोतियाबिंद को रोकने में मदद कर सकता है। उन्होंने स्व-निर्माण की एंटी-एग्रीगेशन क्षमता का उपयोग मोतियाबिंद के खिलाफ एक प्रभावी गैर-प्रमुख छोटे अणु-आधारित नैनोटेराप्यूटिक्स के रूप में किया है। एस्पिरिन नैनोरोड क्रिस्टलीय प्रोटीन और इसके विखंडन से प्राप्त विभिन्न पेप्टाइड्स के एकत्रीकरण को रोकता है, जो मोतियाबिंद बनने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे जैव-आणविक संबंधों के माध्यम से प्रोटीन/पेप्टाइड के एकत्रीकरण को रोकते हैं, जो बीटा-टर्न जैसे क्रिस्टलीय पेप्टाइड्स की संरचना में बदल देते हैं, जो कॉइल्स (लच्छे) और कुंडल में अमाइलॉइड बनने के लिए जिम्मेदार होते हैं। ये क्रिस्टलीन, और क्रिस्टलीन व्युत्पन्न पेप्टाइड समुच्चय के एकत्रीकरण को रोककर मोतियाबिंद बनने में रोकने के लिए पाए गए थे। उम्र बढ़ने के साथ और विभिन्न परिस्थितियों में, लेंस प्रोटीन क्रिस्टलीन समुच्चय नेत्र लेंस में अपारदर्शी संरचनाओं का निर्माण करता है, जो दृष्टि को बाधित करता है और बाद में मोतियाबिंद का कारण भी बनता है।


संचित अल्फा-क्रिस्टलीन प्रोटीन और क्रिस्टलीन व्युत्पन्न पेप्टाइड समुच्चय वृद्ध और मोतियाबिंद मानव लेंस में लक्षित असहमति को मोतियाबिंद बनने की रोकथाम के लिए एक व्यवहार्य चिकित्सीय रणनीति माना जाता है। एस्पिरिन नैनोरोड्स आणविक स्व-जमा होने की प्रक्रिया का उपयोग करके उत्पादित किए जाते हैं, जो आम तौर पर नैनोकणों के संश्लेषण के लिए उपयोग किए जाने वाले उच्च लागत और श्रमसाध्य भौतिक तरीकों की तुलना में एस्पिरिन नैनोरोड उत्पन्न करने के लिए कम लागत और उच्च-स्तरीय तकनीक से होता है।


आणविक गतिकी (एमडी) अनुकरण पर आधारित कम्प्यूटेशनल अध्ययन एस्पिरिन के एंटी-एग्रीगेशन व्यवहार और आणविक पेप्टाइड्स और एस्पिरिन के बीच प्रोटीन (पेप्टाइड) की प्रकृति के आणविक तंत्र की जांच करने के लिए किए गए थे। यह देखा गया कि पेप्टाइड-एस्पिरिन (अवरोधक) अंतःक्रियाओं ने पेप्टाइड्स को द्वितीयक संरचनाओं को बीटा-टर्न से बदल दिया, जो एमाइलॉयड्स बनने के लिए जिम्मेदार हैं, विभिन्न कॉइल्स (लच्छे) और कुंडल (हेलिक्स) में, इसके एकत्रीकरण को भी रोकते हैं। इस अनुकरण ने एस्पिरिन के मॉडल मोतियाबिंद पेप्टाइड्स द्वारा अमाइलॉइड जैसे फाइब्रिल गठन के लिए एक संभावित अवरोधक के रूप में कार्य करने की क्षमता को उजागर किया है।


कई प्राकृतिक यौगिकों को पहले ही क्रिस्टलीन एकत्रीकरण के लिए संभावित एकत्रीकरण अवरोधक के रूप में चिह्नित किया गया है, लेकिन इस दिशा में गैर-स्टेरॉयडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग (गैर-दाहक या उत्तजेक दवा)-एनएसएआईडी जैसे एस्पिरिन उपयोगिता एक नया प्रतिमान भी स्थापित करेगी। इसके अलावा, अपने नैनो-आकार के कारण एस्पिरिन नैनोरोड्स जैव उपलब्धता, दवा की गुणवत्ता, कम विषाक्तता आदि में सुधार करेंगे। इसलिए, आई-ड्रॉप के रूप में एस्पिरिन नैनोरोड्स मोतियाबिंद के इलाज के लिए एक प्रभावी और व्यवहार्य विकल्प के रूप में कार्य करने वाला है।


प्रयोग करने में आसान और कम लागत वाले इस वैकल्पिक उपचार पद्धति से विकासशील देशों में उन रोगियों को लाभ होगा जो मोतियाबिंद के महंगे उपचार और शल्यचिकित्सा का खर्च वहन नहीं कर सकते।



Monday, August 3, 2020

अयोध्या शिलान्यास कार्यक्रम में प्रधानमंत्री की भागीदारी असंवैधानिक - जेड0के0 फैज़ान

संविधान की संरचना लोकतांत्रिक व धर्मनिरपेक्ष व्यवस्था पर आधारित है।


खेतासराय(जौनपुर):- पीपुल्स अवेयरनेस फोरम के जनरल सिकरेट्री व सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता जेड0के0 ने पत्रकारों से वार्तालाप के दौरान देश के संवैधानिक मूल्यों के खिलाफ सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों पर टिप्पणी करतते हुए कहा कि अयोध्या शिलान्यास कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी की भागीदारी असंवैधानिक है संविधान की संरचना धर्मनिरपेक्षता पर आधारित है। और धर्मनिरपेक्षता शब्द स्पष्ट रूप से इसके शुरुआती शब्दों में लिखा गया है। जिसे प्रधानमंत्री द्वारा शपथ ली गई है। 


उन्होंने कहा कि यह सच है कि अतीत में मोदी जी आरएसएस के सदस्य रहे   उन्होंने मस्जिद को शहीद करने और उसके स्थान पर मंदिर बनाने के संघर्ष में भाग लिया। लेकिन अब वह इस देश के प्रधानमंत्री हैं और प्रधानमंत्री किसी एक वर्ग या धर्म के नहीं हैं। ऐसे में उन्होंने अयोध्या जाकर मन्दिर बनवना और एक मन्दिर की आधारशिला रखना, सरकार की पूरी लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष व्यवस्था के खिलाफ है। 


उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि लेकिन यहां सांप्रदायिकता आंखें मूंदे हुए है इसलिए मोदी जी को नफरत फैलाने के अलावा कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा है।श्री फैज़ान ने याद किया कि स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी जब वह मुंबई में एक सरकारी भवन के उद्घाटन के अवसर पर केंद्र सरकार में संचार मंत्री थे, उन्होंने धार्मिक संस्कारों के अनुसार मौके पर नारियल जलाने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है, या तो इस इमारत का उद्घाटन सभी धर्मों के धार्मिक संस्कारों से होगा या किसी के अनुसार नहीं होगा।
                
5 अगस्त को शिलान्यास कार्यक्रम पर टिप्पणी करते हुए कहा कि यह एक धार्मिक मुद्दा है। लेकिन अब यह सवाल पूछा जाना चाहिए कि मंदिर बनाने का तरीका स्पष्ट है। इस शिलान्यास का आग्रह क्या था। कोरोना महामारी समाप्त होने के बाद भी काम किया जा सकता था। उन्होंने कहा कि एक तरफ लॉकडाउन इतना गंभीर था कि मुसलमानों को ईद के मौके पर एक बार में पांच से अधिक लोगों को नमाज अदा करने की अनुमति नहीं थी। दूसरी ओर अयोध्या में एक भीड़ इकट्ठा हो रही है। जिसमें देश के प्रधानमंत्री भी भाग ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि वास्तव में केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण आज देश में करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं। 


सरकार लोगों की नाराजगी से बचने के लिए इस तरह की चालाक रणनीति का सहारा ले रही है। देश की आर्थिक व्यवस्था अराजक हो गई है। उन्होंने कहा कि पहले तब्लीगी जमात, फिर सरकार पाकिस्तान और चीन और अब अयोध्या में शालीनता जैसे मुद्दों का प्रचार करके लोगों का ध्यान वास्तविक मुद्दे से हटाने की कोशिश कर रही है। यह सबसे बड़ी शर्म की बात है। मुद्दा यह है कि पिछले एक पखवाड़े से मीडिया उसी चीज और प्रसारण में व्यस्त है। जैसे कि मुसलमान अभी भी इसे बाधित करने में सक्रिय हैं। उन्होंने चिंता व्यक्त की कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ऐसे कार्यक्रमों का एक नियमित हिस्सा है। प्रसारण जो मुसलमानों के जख्मों को सलाम कर रहा है और यह आपसी भाईचारे और देश के हित में नहीं है


मां की बरसी पर शारदा में स्नान करने व जल लेने गए दो भाई शारदा मे डूवे एक को ग्रामीणों की मदद से निकाला दुसरे की तलाश जारी

ठा. अमित सिंह
दैनिक अयोध्या टाइम्स क्राईम रिपोर्टर पीलीभीत


तहसील कलीनगर क्षेत्र के गांव नौजलिया नकटहा के रहने वाला युवक सुशांत वैद्य पुत्र समरेश वैद्य अपने मामा और भाई के साथ अपने मां की बरसी पर पर शारदा में स्नान करने व जल लाने गए थे वही अचानक शारदा में स्नान करने के दौरान युवक सुशांत व उसके भाई का पैर फिसल गया पैर फिसलने के बाद युवक शारदा में डूबने लगे मौके पर मैजूद ग्रामीणों ने एक युवक को वहार निकाल लिया और दुसरा युवक नदी में वहाव अधिक होने के चलते कुछ पता नहीं लग सका ग्रामीणों ने इसकी जानकारी SSB व पुलिस को दी मौके पर पहुंची पुलिस व SSB लगातार शारदा नदी में दुसरे युवक की तलाश कर रही है रम नगरा चौकी इंचार्ज संजय सिंह यादव भी मौके पर खोजबीन पर आ रहे हैं


अमरिया दबंग व्यक्तियों ने पैसे के लेनदेन पर पत्रकार व उसके परिजनों से घर मे घुसकर अबैध हथियारों के साथ की मारपीट

ठा. अमित सिंह दैनिक अयोध्या टाइम्स क्राईम रिपोर्टर पीलीभीत


पीलीभीत थाना अमरिया क्षेत्र के ग्राम भौनी का मामला जहां भौनी निवासी दबंग मंसूर अली पर भौनी निवासी पत्रकार ज़ाहिद अली के 20000 रु आ रहे थे जिसका काफी समय से उससे कहा जा रहा था वह टाल मटोल करता रहा जब दूसरे लोगों से कहा कि पैसे दिलवा दो तब दबंग मंसूर अली बौखला कर अपने लड़को ब भाइयों को लेकर अवैध हथियारों के साथ घर पर आ गया और गंदी गंदी गालियां देने के साथ घर के लोगों के साथ व घर की औरतों के साथ मारपीट की जिसमे उसके भाई मोइन अली, व मोहम्मद नईम,और उसके पुत्र अरबाज अली,शहबाज अली,व उसका साथी मोहम्मद आसिम पुत्र कासिम अली व कुछ अन्य लोग थे रात के समय मे जिनकी पहचान नही हो सकी। दबंग मंसूर अली आये दिन गांव में भी लोगों को गालियाँ देता रहता है कोई भी उसके मुंह नही लगता है क्योंकि ये दबंग है व उसके छः भाई हैं और उसके छः लड़के है सब गाँव मे अपनी दबंगई दिखाते रहते हैं ये गांव में साम्प्रदायिक रंग भी देने की कोशिश करता रहता है ये पहले रोड होल्डअप की घटना को भी अंजाम दे चुका है इसके संपर्क हिस्ट्रीशीटरों से रहते हैं जिनका इसके घर आना जाना लगा रहता है उसके अलावा ये अभी गौकशी के मामले में संलिप्त पाया गया था जिसकी शिकायत पर एक वार इसके घर पर डायल 112 पुलिस भी आई थी लेकिन इसने पुलिस के आने पर दरवाजा बंद करके सारा माल ठिकाने लगा दिया और काफी समय मे दरवाजा खोला जिसपर पुलिस को गुमराह करके बोला मैं नहा रहा था अगर ये नहा रहा था तो इसके बच्चे व औरते सब घर पर थे किसी ने दरवाजा क्यों नही खोला ये ऐसे ही बच निकलता है गांव में कोई भी इसके मुंह नही लगता है इसकी दबंगई की बजह से अगर कोई भी पुलिस को खवर करने को कहता है तब ये उसे जानमाल की धमकी देता है इसलिए कोई भी इसकी शिकायत नही करता है आज भी इसने मारपीट के बाद ये धमकी देता हुआ गया है कि अगर कुछ किया मेरा तो समझ लेना एक एक को काटकर फेंक दूँगा जिसकी सूचना पीड़ित ने डायल 112 को दी जो मौके पर पहुंची और उसके बाद पीड़ित ने थाना अमरिया जाकर इसकी लिखित तहरीर देकर पुलिस से कार्यवाही की मांग की है पीड़ित व उसके परिवार को दबंग मंसूर अली पुत्र मकसूद अली,से जान माल का खतरा है और ये गांव की एक बदचलन औरत से झूंठे मुकदमे में फ़साने की धमकी देता है यूपी सरकार की इतनी सख्ती के बाबजूद भी दबंग अपनी दबंगई से बाज नही आ रहे हैं अगर समय रहते ऐसे लोगों पर कार्यवाही नही की जाती है तो ऐसे लोग समाज के लिए खतरा वन सकते हैं और किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं।ऐसे लोगों पर सख्त कार्यवाही करके समाज को सुरक्षित किया जाये


रक्षाबंधन के त्यौहार पर सेहरामऊउत्तरी  पुलिस पूरी तरीके से निभा रही है अपनी ड्यूटी

ठा. अमित सिंह दैनिक अयोध्या टाइम्स क्राईम रिपोर्टर पीलीभीत


 पीलीभीत पूरनपुर थाना सेहरामऊ उत्तरी के ग्राम जोगराजपुर से जहां सेहरामऊ उत्तरी की पुलिस पूरी तरीके से मुस्तैद वा सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सभी को रहने की सलाह दी बा वहां से आने जाने वाले लोगों को मार्केट में बिना मास्क लगाए जाने वाले लोगों को मास्क लगाकर रहने को आगाह किया कोरोना जैसी महामारी के चलते पूरे देश में  मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है जिसको देखते हुए थाना सेहरामऊ उत्तरी की पुलिस पूरी तरीके से अपनी ड्यूटी का निर्वाहन कर रही है


भाई-बहन के अटूट बंधन का प्रतीक है रक्षा बंधन दो पहिया वाहन वालो को नहीं था आज चालान का डर हर्षोल्लास के साथ मनाया गया त्योहार

ठा. अमित सिंह दैनिक अयोध्या टाइम्स क्राईम रिपोर्टर पीलीभीत


पीलीभीत में आज रक्षाबंधन के पर्व को लेकर बाजार गुलजार हो गया है। वही मिठाइयां की दुकानें भी सजी रही पवित्र धागों के इस त्योहार में बदलते समय के साथ-साथ कई तब्दीलियां देखने को मिल रही हैं। समय के साथ राखी का परिवर्तित स्वरूप बाजार में अलग-अलग रूप और रंगों में उपलब्ध है। वहीं ऑनलाइन भी राखियों की रेंज उपलब्ध है। परंपरागत रूप से बहनें अपने भाई को रेशम का एक धागा बांधकर इस पर्व को मनाती रही हैं, लेकिन अब इनकी जगह नए डिजाइन वाली आकर्षक राखियों ने ले ली है। शहर के बाजार में इस समय रक्षाबंधन का रंग तेजी से चढ़ रहा है। बाजारों में एक से बढ़कर एक सुंदर राखियां अलग-अलग दामों में उपलब्ध है। इन राखियों को बहनें दूर दराज रहने वाले अपने भाइयों को पोस्ट कर रही हैं। इसके अलावा सरहद पर तैनात जवानों को भी पहले से राखी भेजना शुरू कर दी हैं! ताकि उन तक समय से पहले पहुंच सके
ऐसे में पर्व को यादगार बनाने में बहन और भाई दोनों पूरी तैयारी में जुट गए हैं। एक ओर जहां बहनें भाइयों की कलाई सजाने के लिए राखियों की खरीदारी में जुट चुकी हैं! तो भाई भी बहनों को उपहार स्वरूप देने के लिए गिफ्ट आइटमों की खरीददारी करने में लगे हुए हैं। कुछ लोग तो मोटरसकिल पर अपने परिवार को ले जाते दिखे जिन्हें न ही चालान का डर था नहीं दुर्घटना का बस अपनी मस्ती में जाते दिखे।


सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक गंदी फोटो बनाकर अभद्र टिप्पणी करने वाला हुआ गिरफ्तार

दैनिक अयोध्या टाइम्स क्राईम रिपोर्टर पीलीभीत ठा. अमित सिंह


 पीलीभीत पुरनपुर थाना प्रभारी सेहरामऊ उत्तरी पुष्कर सिंह ने तत्काल प्रभाव से मामला संज्ञान में लेकर आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है।  प्रधानमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने वाला व्यक्ति 129 विधानसभा पूरनपुर की ग्राम पंचायत सुल्तानपुर का रहने वाला है। जो कि अन्य समुदाय से आता है भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को जानकारी लगने के बाद प्रभारी निरीक्षक को जानकारी दी प्रभारी निरीक्षक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए चौकी इंचार्ज को कार्रवाई के निर्देश दिए इसके फलस्वरूप आरोपी व्यक्ति को तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार कर लिया गया जो कि क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है
जगह जगह पुलिस की अच्छी कार्यशैली की चर्चाएं हो रही हैं।भारतीय जनता के पदाधिकारियों ने प्रभारी निरीक्षक पुष्कर सिंह के कार्य की सराहना की है वहीं भारतीय जनता पार्टी के सुल्तानपुर मंडल अध्यक्ष एडवोकेट नितिन दीक्षित  बा  आशुतोष शर्मा ने कहा जिस तरह से सेहरामऊ उत्तरी पुलिस एवं प्रभारी निरीक्षक पुष्कर सिंह ने आरोपी को गिरफ्तार किया है उत्तर प्रदेश पुलिस के हर पुलिसकर्मी को इसी प्रकार से कार्य करना चाहिए। प्रभारी निरीक्षक ने आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर आज दिनांक 3 अगस्त 2020 को थाना हाजा पर पंजीकृत मुकदमा अपराध संख्या 136/2020 धारा 153ए/295a/504/505 आईपीसी 67 आईटी एक्ट के अभियुक्त गण 1-रईस मोहम्मद उर्फ गुड्डू पुत्र मुबारक निवासी ग्राम सुल्तानपुर थाना सेहरामऊ उत्तरी जनपद पीलीभीत 2-सईम पुत्र अब्दुल अहमद निवासी ग्राम गोरा थाना सेहरामऊ उत्तरी जनपद पीलीभीत को गिरफ्तार कर चालान कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश करने हेतु रवाना किया गया ।


आमने-सामने मोटरसाइकिल टकराने से हुई 2 लोगों की मौत

फतेहपुर/गाजीपुर थाना क्षेत्र के इन्द्रों के पुल से गम्हरी मार्ग के बीच में  आमने सामने बाइक टकराने  से हुआ हादसा जिसमे दो लोगो कि मौत हो गई एक व्यक्त गम्भीर रूप से घायल जिसमें से एक मोटरसाइकिल गाजीपुर के भावली गांव की जो कि सूत्रों से पता चला भौली निवासी नानका पुत्र कामता जो कि वो अपनी भाभी को राखी बधाने गम्हरी आया था और छोड़ कर वापिस अपने गांव भाऊली जा रहा था  और दूसरी मोटरसाइकिल हसवा के 2 लोग थे   मौके पर गाजीपुर थानाध्यक्ष कमलेश कुमार पाल एवम पूरी टीम के साथ मौके पर पहुँचे और घायल को हॉस्पिटल पहुँचाया और मृतकों को पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया दोनो कि गाड़ियों को अपने कब्जे में लेकर थाने पहुँचाया।


अयोध्या पहुंचे सीएम योगी, Tweet कर कहा- सदियों की प्रतीक्षा अब हो रही पूरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को अयोध्या पहुंचे हैं, यहां पर सीएम ने तैयारियों का जायजा लिया और सुरक्षा व्यवस्था को परखा.


अयोध्या. करीब 500 साल के लंबे इंतजार के बाद 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों भूमि पूजन और राम मंदिर निर्माण के कार्य का शुभारंभ होना है. इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरफ से ट्वीट कर लोगों से अपील की गई है. सीएम योगी ने लिखा कि कई शताब्दियों की प्रतीक्षा अब पूर्ण हो रही है, व्रत फलित हो रहे हैं, संकल्प सिद्ध हो रहा है. सभी श्रद्धालुजन घर पर दीप जलाएं, श्रीरामचरितमानस का पाठ करें. प्रभु श्री राम का आशीष सभी जनों को प्राप्त होगा.


सीएम योगी आदित्यनाथ सोमवार को अयोध्या पहुंचे हैं, यहां पर सीएम ने तैयारियों का जायजा लिया और सुरक्षा व्यवस्था को परखा. सीएम योगी यहां मौजूद अधिकारियों को निर्देश देते दिखे, उनसे जानकारी लेते हुए नज़र आए. मुख्यमंत्री ने इस दौरान भूमि पूजन स्थल के अलावा हनुमानगढ़ी मंदिर का दौरा भी किया. दरअसल सीएम योगी रविवार को अयोध्या जाने वाले थे, लेकिन कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण के निधन के कारण उनका दौरा रद्द कर दिया गया था.


इससे पहले शनिवार को अयोध्या दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों से अपील की थी कि कोरोना काल में लोग अपने घरों पर ही रहकर रामलला के मंदिर के भूमि पूजन के उत्सव को मनाएं. उन्होंने कहा था कि आधारशिला रखने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आएंगे. उस दौरान पूरी अयोध्या भूमि पूजन में अपने घरों से ही सम्मिलित हों. लोग अपने घरों से ही धार्मिक अनुष्ठान करें और घरों पर ही दीपक जलाएं.


रक्षाबंधन पर महिलाओं को मिला फ्री यात्रा का तोहफा

फतेहपुर | रक्षाबंधन पर्व पर प्रदेश सरकार ने एक बार फिर से महिलाओं को नि:शुल्क यात्रा का तोहफा प्रदान किया है। जिसके बाद महिलाएं रात रविवार की 12 बजे से सोमवार की रात 12 बजे तक की अवधि के दौरान फ्री यात्रा का लाभ ले सकेंगी। उच्चाधिकारियों का फरमान आने के बाद रोडवेज नें यात्रा के दौरान दिए गए निर्देशों का पालन करने के क्रम में बरती जाने वाली सावधानियों के साथ बसों के बेड़े को तैयार करना शुरू कर दिया है।


सभी बसों में होगी यह सुविधा


कोविड-19 को देखते हुए यह सुविधा रोडवेज की सभी बसों में प्रदान की गई है। इसके साथ ही अनुबंधित बसों में भी यह सुविधा दी जाएगी। अनुबंधित बसों में यात्रा करने वाली महिलाओं का यात्री के आधार पर सम्पूर्ण आय के समतुल्य भुगतान किया जाएगा। महिलाओं को होने वाली असुविधा को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।


बिना मास्क व खड़े होकर यात्रा पर रहेगा प्रतिबंध


बसों में यात्रा शुरू करने के पहले महिलाओं को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। इसके साथ ही कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए बस में चढ़ने के पहले यात्रियों के हाथों को सेनिटाइज कराए जाने व सीट के आधार पर ही यात्रा करवाने के निर्देश दिए गए हैं। खड़े होकर यात्रा करने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है।


शून्य मूल्य का टिकट होगा जारी


यात्रा करने वाली महिलाओं को ईटीएम मशीन से शून्य मूल्य का टिकट जारी किया जाएगा। टिकट जारी न होने की दशा में परिचालक द्वारा ब्लैक बुक से टिकट जारी किया जाएगा। इसके साथ ही यात्रा के दौरान सभी महिला यात्रियों का टिकट चेक किया जाएगा लेकिन रुपए नहीं वसूल किए जाएंगे।


टिकटों का प्रारुप करना होगा जमा रोडवेज के प्रबंध निदेशक डॉ. राजशेखर ने क्षेत्रीय प्रबंधक को निर्देशित किया कहा कि सभी महिला यात्रियों के टिकटों का प्रारुप जमा करना होगा। इसके साथ ही एआरएम एमएल केसरवानी ने बताया कि यात्रा के लिए बसों को सेनिटाइज कराए जाने का काम शुरू करा दिया गया है साथ ही सभी चालकों व परिचालकों को सुगम यात्रा कराए जाने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं।


संयुक्त विकास मंच बलरामपुर में बलरामपुर के वीर सपूत श्री वीर विनय कायस्थ जी के जन्मदिवस पर बलरामपुर जनपद के मुख्य चौराहे पर स्थापित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की

बलरामपुर के गर्व हैँ  वीर विनय कायस्थ : मोहम्मद इरफान खान पठान
 बलरामपुर संयुक्त विकास मंच बलरामपुर में बलरामपुर के वीर सपूत श्री वीर विनय कायस्थ जी के जन्मदिवस पर बलरामपुर जनपद के मुख्य चौराहे पर स्थापित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित कीl
 बलरामपुर संयुक्त विकास मंच के अध्यक्ष मोहम्मद इरफान खान पठान ने बताया कि 2 अगस्त को वीर विनय कायस्थ जी की जयंती बलरामपुर संयुक्त विकास मंच के संस्थापक वरिष्ठ समाजसेवी स्वर्गीय आजाद सिंह जी के अथक परिश्रम के परिणाम स्वरूप बलरामपुर जनपद के मुख्य चौराहे पर बलरामपुर के वीर सपूत वीर विनय कायस्थ जी की स्थापित प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित करने का शुभ अवसर प्राप्त हुआl संस्था के संस्थापक स्वर्गीय  आजाद सिंह जी ने प्रतिमा स्थापना के लिए अथक संघर्ष किया था बलरामपुर जनपद इसका संपूर्ण साक्षी है इसलिए हमारे लिए वीर विनय कायस्था जी का विशेष महत्व है हम ही नहीं वरन बलरामपुर जनपद के समस्त वासियों का गर्व है वीर विनय कायस्था जी,आज उनके जन्म दिवस के अवसर पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए गर्व की अनुभूति हो रही है हमारा संगठन लगातार देश के महान विभूतियों, वीर सपूतों, शहीदों का स्मरण क्षणों का आयोजन करता रहता है बलरामपुर संयुक्त विकास मंच के द्वारा आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में संस्था के पदाधिकारी,  सदस्य एवं अन्य लोगों ने बलरामपुर जनपद के वीर शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की उक्त अवसर पर संस्था अध्यक्ष एंव वरिष्ठ समाजसेवी मोहम्मद इरफान खान पठान, अजीत शुक्ला, आसिफ शाह, शादाब खान यूनिक टेलर, समसुद्दीन अंसारी, संदीप पांडे, समाजसेवी गोपी नेता, मोहम्मद इकबाल फहीम, पुनीत कश्यप, रौनक श्रीवास्तव, आदि ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित कीl


सामूहिक आयोजन रद्द, घर पर ही मनाया गया रक्षाबन्धान का त्योहार

नैनी, प्रयागराज। माँ माधुरी वेलफेयर फाउण्डेशन के तत्वाधान में  वर्चुअल बैठक फाउण्डेशन के अध्यक्ष देवाशीष श्रीवास्तव (देवा) की अध्यक्षता में हुई थी। जिसमें सर्वसम्मति से फैसला लेते हुए रक्षाबंधन का पवित्र त्योहार क्षेत्र के थानों एवम सार्वजनिक न मानने की घोषणा की गई थी। 
आपको बतादें की विगत 6 वर्षों से फाउण्डेशन से जुड़ी बहने रक्षाबंधन के पवित्र त्योहार पर थानों पर जा कर कोतवाल समेत पुलिसकर्मी भाइयो को रक्षासूत्र बांध कर उनकी लम्बी उम्र एवं प्रदेश में महिलाओं की रक्षा हेतु सपथ दिलाती है। किन्तु इस वर्ष कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ते  कोविड-19 को देखते हुए कार्यक्रम को रद्द करने का एलान हो गया था। जिसे देखते हुए पावन त्योहार को फाउण्डेशन से जुड़ी महिलाओं ने अपने घर पर ही मनाया और सामाजिक दूरी का भी ध्यान दिया साथ ही माक्स और सेनिटाइजर भी रक्षासूत्र बांधने के बाद भाई को भेंट किया गया।


चोरी की मोटर साइकिल तथा तमन्चे व कारतूस सहित एक गिरफ्तार

दैनिक अयोध्या टाइम्स संवाददाता मोहम्मद कलीम अंसारी
सहारनपुर थाना फतेहपुर पुलिस ने एक बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए वाहन चैकिंग के दोरान एक शातिर चोर को फर्जी नम्बर प्लेट लगी चोरी की मोटर साइकिल एवम देशी तमन्चा व कारतूस सहित गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की हे।छुटमलपुर से गिरफ्तार इस शातिर चोर दिलीप उर्फ होलू पुञ किशन उर्फ कृष्णा निवासी आदर्श कालोनी 23 बटालियन के पीछे मुरादाबाद के कब्जे से पुलिस को चोरी की मोटर साइकिल सहित एक देशी तमन्चा तथा कारतूस भी मिले।पुलिस का कहना है,कि पकड़े गये  बदमाश पर पन्द्रह हजार का इनाम था।इतना ही नही इस पर संगीन मामले भी दर्ज है।पुलिस द्वारा इसका चालान कर जेल भेज दिया है।इसके अलावा गंगोह एवम थाना मिर्जापुर  पुलिस ने आज दो अभियुक्तों को शराब सहित पकडा।गंगोह पुलिस ने अतर सिंह पुञ मान सिंह को अवैध शराब सहित पकड़ा तथा थाना मिर्जापुर पुलिस ने अभियुक्त बनारसी पुञ फुला को 32 पव्वे शराब सहित गिरफ्तार किया।इन दोनों का चालान कर जेल भेज दिया है।


निचावडी़ में सरकारी हैंड पंप खराब पड़े गांव के लोग परेशान

माधौगढ़ विकास खण्ड के ग्राम पंचायत कुटरा के गांव निचावडी़  मे गर्मी का मौसम हो या बारिश वहाँ पर पीने के पानी का कोई प्रबंध ही नहीं है। जो प्रबंध है वह केवल दिखावा  है  गांव में सरकारी हैंड पंप है गांव के लोग पानी की बूंद बूंद के लिए तरसते हैं गांव की यह समस्या चंद दिनों की नहीं है जानकारी अनुसार यह समस्या पिछले कई महीनों से बनी हुई है पर ग्राम प्रधान सत्यवीर व सचिव का इस तरफ कोई ध्यान नहीं है। और पिछले लंबे समय से चली आ रही इस समस्या का हल करने के लिए प्रशासन द्वारा कोई भी कदम नहीं उठाया गया। यह समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। यह नहीं कि प्रशासन के पास साधन नहीं है। गांव में नल होने के बावजूद कई महीनों से बंद पड़े हुआ है । सरकारी हैंड पंप सफेद हाथी बनकर रह गया है और उसकी मरम्मत करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया। ग्राम प्रधान व सचिव को भलीभांति समस्या का पता है लेकिन क्योंकि यदि यह पानी की सुविधा सुचारु ढंग से चले तो जनता को तो राहत मिल जाएगी लोग परेशान है पर समस्या का हल नहीं हो रहा


लंबे उम्र की कामना के साथ भाइओं की कलाई पर बहनों ने बांधी राखी

दैनिक अयोध्या टाइम्स ब्यूरो जालौन ।भाई-बहन के अटूट प्रेम व आस्था का पर्व रक्षाबंधन सोमवार को धूमधाम से मनाया गया। बहनों ने अपने भाईयों की कलाई पर राखी बांध कर जीवन भर रक्षा का वचन लिया, भाईयों का मूंह मीठा किया और भाईयों से नेग भी ली। नगर सहित पूरे देश में रक्षाबंधन श्रावण पूर्णिमा को मनाया जाता है। सुबह से ही बहनें स्नान कर, नए कपड़े पहन भाईयों को राखी बांधने की तैयारी में जुट गई। रक्षाबंधन को लेकर घरों में भी उत्सवी माहौल रहा। सुबह से ही मिठाईयों की दुकानों पर लोगों की भीड़ जुटी रही। रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त लगभग पूरे दिन रहा। मौसम ने भी पूरा साथ दिया। घरों व बाजारों में राखी के गीत बजते रहे और उल्लास के माहौल में लोगों ने रक्षाबंधन मनाया। इसी के साथ ही सनातन धर्म में पवित्र माना जाने वाला सावन मास भी संपन्न हो गया। मंगलवार से भादव मास के कृष्ण पक्ष की शुरूआत है। इसी पक्ष में अष्टमी को पूरा देश कृष्ण जन्माष्टमी भी मनाता हैं।


मैथिलीशरण गुप्त पार्क में गहोई नवयुवक मंडल के जिलाध्यक्ष आकाश  गहोई की अध्यक्षता में हुआ पौधारोपण का कार्यक्रम

दैनिक अयोध्या टाइम्स ब्यूरो जालौन


 राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की जयंती पर  सोमवार को  गहोई नवयुवक मंडल के जिला अध्यक्ष आकाश गहोई के अध्यक्षता में पौधारोपण का कार्यक्रम संपन्न हुआ। जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर नवागंतुक पुलिस अधीक्षक डॉ यशवीर सिंह और विशिष्ठ अतिथि  गौरीशंकर वर्मा सदर विधायक और जिलाध्यक्ष रामेन्द्र सिंह सेंगर  बना जी भी पहुचे।कार्यक्रम शहर के माता पुरा मोहल्ला में स्थित मैथिलीशरण गुप्त पार्क में संपन्न हुआ इस दौरान पार्क के संरक्षक अशोक गुप्ता 'महाबली' भी मौजूद रहे । कार्यक्रम की शुरुआत पुलिस अधीक्षक ने पौधारोपण करके की इसके बाद विधायक और जिलाध्यक्ष ने भी पौधा रोपण किए । सभी अतिथियों ने  राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त  की रचनाओं के विषय में चर्चा की । इस दौरान प्रशांत गुप्ता (बॉबी) राम प्रकाश शर्मा (बबलू काका) नीरज अग्रवाल, विशाल गुप्ता, आदित्य तिवारी, शक्ति गहोई, विधायक प्रतिनिधि प्रशांत तिवारी आदि मौजूद है ।


रक्षाबन्धन के दिन टूटे पुल से गिरी बाइक दो भाई डूबे



दैनिक अयोध्या टाइम्स जिला संवाददाता देवेश कटियार कन्नौज।    सुरसा(हरदोई) जिले के ऐंचामऊ के पुल पर त्यौहार के दिन बड़ा हादसा हो गया। यहाँ टूटे पुल से एक मोटरसाईकिल नहर में जा गिरी।जिससे बाइक सवार दो सगे भाई नहर में गोते लगाते हुए डूब गए ।गोताखोरों की मदद से  दो भाइयों की तलाश जारी रही। कबर लिखे जाने तक दोनों भाइयों का कुछ पता नही चल सका। जानकारी के अनुसार सुरसा थाना क्षेत्र सुजौरा गाँव निवासी चंद्रपाल व् सौरभ पुत्रगण धरम गज रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने बाइक से जा रहे थे। जैसे ही उनकी बाइक ऐंचा मऊ पुल पर पहुंची तो पुल टूटा होने के कारण उनकी बाइक नहर में जा गिरी। हादसा होते ही पास के लोगों ने दौड़कर बचाने का  प्रयास किया।मामले की सूचना थाना  पुलिस को दी गई। कुछ देर बाद गोताखोरों को बुलाकर नहर में डूबे भाइयों की खोजबीन करायी गयी लेकिन काफी प्रयास के वाबजूद खबर लिखे जाने तक कुछ भी पता न चल सका।

 

 




कालपी पुलिस ने कानपुर नगर का पंजीकृत गिरोह 99 का गैग लीडर तमंचा व कारतूस के साथ गिरफ्तार    

दैनिक अयोध्या टाइम्स ब्यूरो जालौन


 पकडे़ गये आरोपी पर दर्ज है कानपुर में कई अभियोग                                                                   
कालपी - कालपी कोतवाली पुलिस के हाथों एक बडी़ सफलता हाथ लगी है।कानपुर नगर का पंजीकृत गिरोह 99 का गैग लीडर एक तमंचा व एक कारतूस के साथ गिरफ्तार किया तथा पकडे़ गये आरोपी पर कानपुर में कई अभियोग पंजीकृत है।                                        कालपी सर्किल के पुलिस उपाधीक्षक राजीव प्रताप सिंह ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शिवगोपाल सिंह की मौजूदगी में प्रेस नोट में बताया कि पुलिस अधीक्षक डा०यशवीर सिंह द्वारा अपराधियों के विरुद्ध चलाये गये अभियान के क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक डा०अवधेश कुमार सिंह  के निर्देशन में कालपी कोतवाली पुलिस की ज्ञानभारती चौकी इंचार्ज रविशंकर मिश्रा ने 2 अगस्त की रात्रि कान्स्टेबल अजीत भदौरिया,आर्दश तिवारी,प्रवीण राज शर्मा, त्रिलोकी नाथ त्रिवेदी आदि ने अभियुक्त अशोक बसोर पुत्र दुलीचन्द उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम छौक को अवैध तंमचा 315 बोर मय 1 अदद जिंदा कारतूस के साथ कानपुर झांसी मार्ग से छौक जाने वाले रास्ते के पास से गिरफ्तार किया गया।पकडे़ गये अभियुक्त जनपद कानपुर नगर में पंजीकृत गिरोह 99 का गैगलीडर है।जिसके विरूद्ध कानपुर नगर के थाना चकेरी कानपुर में मु०अ०स०1266/14 धारा 394 व 411 व मु०अ०स०1100/15 धारा 394,307,411 भादवि के तहत अभियोग दर्ज है।इसके अलावा मु०अ०स०1269/15 धारा 3/25 ए एक्ट व मु०अ०स०296/16 धारा 3(1)  गैगस्टर एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत है। कालपुरुष पुलिस ने उक्त आरोपी को धारा 3/25 के तहत जेल भेजा गया।


वाहन चोरों के गिरोह का पर्दाफाश, छह शातिर गिरफ्तार 





प्रयागराज। पडोसी जनपद प्रतापगढ में आसपुर देवसरा पुलिस ने वाहन चोरों के गिरोह को पर्दाफाश करके छह शातिरों को गिरफ्तार किया है। इन शातिरों की निशानदेही पर पुलिस ने चोरी की सात बाइक बरामद की है, जबकि गिरोह का सरगना भागने में सफल रहा। पुलिस उसकी तलाश में लगी है। देवसरा थाने के एसआइ अजय कुमार व एसआइ अश्वनी कुमार पटेल ने मुखबिर की खास सूचना पर फोर्स के साथ रविवार को देर शाम दाउदपुर चौराहे पर स्थित बिनैका स्कूल के पास से घेरेबंदी करके राजेश सरोज पुत्र सालिल राम निवासी केवटली, नील कमल उर्फ प्रिंस पुत्र छोटेलाल व सूरज गौतम पुत्र अमृतलाल गौतम निवासीगण बिझला को पकड़कर लिया। उनके पास से चार बाइक बरामद की। इनका एक साथी गिरोह का सरगना विजय सरोज अपनी बाइक छोड़कर मौके से भाग निकला।


निशानदेही पर चोरी की तीन बाइक पुलिस ने की बरामद
पकड़े गए शातिरों की निशानदेही पर पुलिस टीम ने तेलियानी पुलिया नहर के पास वाहन चोर गिरोह के सदस्य रंजीत पुत्र जयंत्री प्रसाद निवासी बिझला, नन्हेलाल पुत्र रामनरेश निवासी केवटली, सुरेंद् विश्वकर्मा पुत्र प्यारेलाल विश्वकर्मा निवासी गोदलपट्टी को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से भी चोरी की तीन बाइक बरामद की गई। एसओ के अनुसार गिरफ्तार राजेश, नीलकमल व सूरज ने कबूल किया कि मौके से फरार होने विजय सरोज था। उसके साथ मिलकर वे लोग बाइक चुराते हैं। चोरी की गई स्प्लेंडर प्लस, सुपर स्प्लेंडर, एचएफ डीलक्स को क्रमश: जीआइसी प्रतापगढ़, अजीतनगर स्थित मॉल व मदाफरपुर बाजार से चोरी की थी। इसके अलावा एक और सुपर स्प्लेंडर जिला अस्पताल प्रतापगढ़ से चुराई थी। पल्सर, डिस्कवर को कहीं से चुराकर विजय सरोज ने उन्हें बेचने के लिए दी थी, जबकि बरामद टीवीएस विक्टर विजय की है।


फर्जी रजिस्ट्रेशन पेपर बनाकर बेच देते थे चोरी की बाइक

एसओ सुनील कुमार सिंह ने बताया कि यह शातिर लोग नंबर प्लेट बदलकर और फर्जी रजिस्ट्रेशन पेपर बनाकर बाइक को दूसरे व्यक्ति को बेच देते थे। गैंग के छह लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया। जबकि मौके से फरार  गैंग के सरगना विजय सरोज की तलाश की जा रही है।