Posts

Showing posts from May, 2021

इरा खान ने लॉन्च किया 'अगत्सु फाउंडेशन'

Image
-अनिल बेदाग़- मुंबई : इरा खान ने हाल ही में अपने सोशल मीडिया पर 'अगत्सु फाउंडेशन' के लॉन्च की घोषणा की है जो मानसिक स्वास्थ्य सहायता और शरीर जागरूकता कार्यक्रमों को बढ़ावा देने और आत्म-प्राप्ति को बढ़ावा देने का प्रयास है।       इरा ने अपने इंस्टाग्राम पर खुद का एक वीडियो अपलोड करते हुए कहा, "मैंने एक सेक्शन 8 कंपनी रजिस्टर की है, जिसे अगत्सु फाउंडेशन कहा जाता है, जो आज लॉन्च हो रही है। अगत्सु का उद्देश्य संतुलन खोजने की कोशिश करना, संतुलन हासिल करने की कोशिश करने का मेरा प्रयास, जीवन को मेरे लिए बेहतर बनाना और आपको अपने जीवन को किसी भी तरह से बेहतर बनाने में मदद करना है। आइए और इसे देखें!"       अगत्सु फाउंडेशन के सोशल मीडिया पेज पर, एक वीडियो अपलोड किया गया था जिसमें यह बताया गया था कि एक आदमी अपने लाइफ में किन बदलावों से गुजरता है, जो बदले में व्यक्ति को अभिभूत कर सकते है।       इरा ने इससे पहले मानसिक स्वास्थ्य पर जागरूकता फैलाने की कोशिश करते हुए, सोशल मीडिया पर डिप्रेशन के साथ अपना अनुभव साझा किया था। इरा अपने मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों के बारे में मुखर रही हैं,

टिप्स म्यूजिक प्रस्तुत करता है फरहान गिलानी का "जब दिल मिले"

Image
-अनिल बेदाग़- लिंक-  https://www.youtube.com/watch? v=iM0OVY9FcX8 मुंबई : कुछ सुंदर धुन और गीत हैं और जब उन्हें एक आधुनिक मोड़ दिया जाता है, तो युवाओं को क्लासिक्स से परिचित कराने में मदद करता है। पुराने संस्करण की तरह, नया "जब दिल मिले" संगीत और गीतात्मक रूप से समृद्ध है और देखने लायक है।     कुमार तौरानी कहते हैं, “पुराने गानों में कुछ जादुई होता है, जो यादों को ताजा करने की ताकत रखता है। नई पीढ़ियों की संवेदनाओं से मेल खाने के लिए बनाए जाने पर वे और भी दिलचस्प हो जाते हैं। ”       गायक फरहान गिलानी कहते हैं, "टिप्स म्यूजिक के साथ काम करना सम्मान की बात है। हालांकि गाने को फिर से बनाया गया है, लेकिन एहसास और वाइब बिल्कुल अलग है। उम्मीद है कि दर्शक इसे पसंद करेंगे।" संगीत अनु मलिक और आतिफ अली ने दिया है।कोरियोग्राफी जीतू सुरजीत, मोहिब खान, ज़ाकीर की है।

जसबीर जस्सी का नया ट्रैक 'दिल मंगदी'

Image
-अनिल बेदाग़- लिंक-  https://youtu.be/b1adTx8wfts मुंबई : जसबीर जस्सी और अनीशा मधोक का नया ट्रैक 'दिल मंगदी'  एक मजेदार शुरुआती कविता के साथ खुलता है और फिर पार्टी बीट्स के साथ क्लब मोड में लॉन्च होता है। जब गीत गति को गति देता है, तो यह नृत्य करने योग्य मनोदशा को बढ़ाता है। हालांकि इस गाने में वेस्टर्न टच है, लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि यह पंजाबी फील के लिहाज से काफी ऊंचा है।     इसकी संगीत समृद्धि, इसकी सूक्ष्मता और दर्शकों के दिलों में गहराई तक पहुंचने की इसकी अलौकिक क्षमता अधिक है। जसबीर जस्सी ने कहा, "हम एक कठिन परिस्थिति के बीच में हैं। संगीत एक महान पलायन है। यह चंगा करता है, शांत करता है और सकारात्मक विचारों को उत्तेजित करता है।"        दिल मंगदी' गाने को प्रमोद शर्मा राणा ने डायरेक्ट किया है। इसमें पूर्व मिस इंडिया प्रतियोगी इशिका तनेजा ने अपना जलवा बिखेरा है। इस गाने के लिरिक्स जसबीर जस्सी ने लिखे हैं, जबकि म्यूजिक सिंबा सिंह और जैरी सिंह ने दिया है। इस गाने के जरिए जसबीर एक बार फिर अपना जादू बिखेरने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

अभिनेत्री ज़ैनब शेख का दिलचस्प कदम

Image
-अनिल बेदाग़- ज़ैनब शेख एपिसोडिक सीरीज़ नंबर 3  में मुख्य भूमिका निभा रही हैं। यह शो वूट पर प्रसारित हो रहा है। आप इसे देख सकते हैं और इसे कलर्स टीवी पर भी प्रसारित किया जाएगा। प्रोमो शुरू हो चुके हैं। इस शो को बेहद लोकप्रिय अभिनेता रोनित रॉय होस्ट कर रहे हैं। ज़ैनब सुभी के किरदार को दोहरा रही हैं। शो में सुभी होगी ऋषि" की गर्लफ्रेंड। कंटेंट की दुनिया तेजी से ओटीटी की तरफ बढ़ रही है और ज़ैनब के लिए यह बहुत दिलचस्प कदम है।       हमने ज़ैनब से बात की। शो के बारे में उनका क्या कहना है कि इसका निर्देशन मेरे पसंदीदा निर्देशक में से एक सबरीना ने किया है, जिसके साथ मैंने काम किया है। मैं सुभी का किरदार निभा रही हूं जो एक स्वतंत्र लड़की है जो ऋषि की युवा प्रेमिका है। वह बहुत शांत है लेकिन एक ही समय में दुष्ट है। यह वूट पर है और कलर्स पर भी प्रीमियर होगा। मुझे खुशी है कि मैं अपने तरीके से मनोरंजन के द्वारा घर पर लोगों के लिए योगदान कर सकती हूं। मैं सभी से शो देखने का अनुरोध करती हूं। अन्य बातों के अलावा, आइए हम सभी यथासंभव घर के अंदर रहें और एसओपी का पूरी तरह से पालन करें। हमें वायरस को हरा

हंसी का दंगल दिखाएगी "हंगामा 2"

Image
अनिल बेदाग़- मुंबई : फ़िल्म घोषणा के बाद से ही प्रियदर्शन के निर्देशन में बनी हंगामा २, २००३ की सुपर-हिट फिल्म की अगली कड़ी है, २०२१ की सबसे बहुप्रतीक्षित फिल्मों में से एक है। यह फिल्म कलाकारों और अपने जेनर के साथ चर्चा में बनी रही है और यह बहुप्रतीक्षित मल्टीस्टारर फिल्मो में से एक है। इसमें मिजान, प्रणिता सुभाष, परेश रावल और शिल्पा शेट्टी कुंद्रा मुख्य भूमिका में हैं। इस साल की शुरुआत में फिल्म की शूटिंग पूरी कर ली गई थी और कॉमिक केदीवाने दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए पूरी तरह तैयार है जबकि निर्माता इस साल एक थिएट्रिकल रिलीज़ के लिए कमर कस रहे थे, तो वही कोरोना की दूसरी लहर ने देश को घेर लिया, जिसके कारण अधिकांश राज्यो ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए पूर्ण रूप से लॉकडाउन में चले गए।       वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए, निर्माता रतन जैन ने पुष्टि की है कि बहुप्रतीक्षित पारिवारिक मनोरंजक फ़िल्म, वास्तव में इस साल एक ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो रही है। एक आधिकारिक बयान में, रतन जैन ने कहा, "हंगामा 2 एक हल्की-फुल्की फिल्म है जिसका सभी आयु के लोग में आनंद ले सकते हैं और हमें

'सुपर डांसर 4' में शिल्पा शेट्टी कुंद्रा की वापसी

Image
-अनिल बेदाग़- मुंबई : मुश्किल दिनों में अपने परिवार के साथ देने के बाद, शिल्पा शेट्टी कुंद्रा आखिरकार अपने लोकप्रिय डांस रियलिटी शो, 'सुपर डांसर 4' में जज के रूप में लौट आयी हैं। शो में हमेशा अपने विशेष मनोरंजन तड़का जोड़ते हुए शिल्पा निस्संदेह सभी की पसंदीदा रही है।  जब दिवा अपने छोटे से ब्रेक पर थी, हमने छोटे बच्चों को सुना और शो में शामिल सभी लोग वास्तव में उन्हें मिस कर रहे थे और शिल्पा के वापस आने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे।       एक बार फिर 'सुपर डांसर 4' के एपिसोड की शूटिंग को लेकर उत्साहित शिल्पा ने कहा, "मैं 'सुपर डांसर 4' के सेट पर वापस आकर बहुत खुश हूं। ये बच्चे और पूरा क्रू मेरा पूरा परिवार है और मैंने निश्चित रूप से उन्हें याद किया। मैं आखिरकार वापस आ गयी हूं और हम एक धमाका कर रहे हैं। जैसा कि मैंने हमेशा कहा है, मेरे लिए यहां होना और लड़कों और लड़कियों के इन अविश्वसनीय रूप से प्रतिभाशाली समूह को देखना मेरे लिए सम्मान की बात है।" पेशेवर मोर्चे पर, शिल्पा शेट्टी कुंद्रा अगली बार बहुप्रतीक्षित फ़िल्म 'निकम्मा' और 'हंगामा 2'

'गुम है किसी के प्यार में' ने तय किया 200 एपिसोड्स सफ़र

Image
-अनिल बेदाग़- मुंबई : अक्टूबर 2020 में लॉन्च होने के बाद से बहुत ही कम समय के भीतर, स्टार प्लस के शो 'गुम है किसी के प्यार में' ने एक आधुनिक महाराष्ट्रीयन परिवार के अपने प्रगतिशील चित्रण के साथ देश में हलचल मचा दी है। इसकी बारीक और दिलचस्प कहानी, प्रतिभाशाली कलाकार, अच्छी तरह से परिभाषित किरदारों को बड़ी बारीकी से निभाया गया है। इस शो ने हाल ही में 24 मई, 2021 को 200 एपिसोड का सफल प्रदर्शन पूरा किया। देश भर में लाखों दर्शकों को आकर्षित करने के बाद, यह शो अब और भी दिलचस्प घटनाओं की ओर बढ़ रहा है। नाटक और रोमांस के सम्मोहक मिश्रण ने एक दर्शकों में जबरदस्त उत्साह पैदा कर दिया है और टेलीविजन पर बेजोड़ वफादारी की कमान संभाली है। यह शो भारतीय टेलीविजन पर टॉप रेटेड फिक्शन शो के रूप में उभरा है।          निर्माता राजेश राम सिंह कहते हैं, “गुम है किसी के प्यार में' शो के 200 एपिसोड्स का पूरा होना हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि है। इस शो के कलाकारों के लिए यह दर्शकों का प्यार ही है जो इस शो से इतनी गहराई से जुड़े हैं। शो ने शुरू से ही अपना जादू बिखेरा है और इसके किरदारों को दर्शकों ने खूब सरा

स्टार प्लस के 'पंड्या स्टोर' ने लगाया शतक

Image
 -अनिल बेदाग़- मुंबई : स्टार प्लस के सबसे चर्चित शो में से एक, पंड्या स्टोर ने दर्शकों को अपनी शानदार कहानी से बांधे रखा है। इस शो में न केवल एक बेहतरीन कहानी है, बल्कि इसके कलाकारों ने अपने दर्शकों को बेहतरीन समय देने की अपनी पूरी कोशिश की है। शो के टाइम स्लॉट में बदलाव के बाद भी अपने वफादार दर्शकों से पूरी तरह से जुड़े हुए लोगों का ध्यान आकर्षित करने में कामयाब रहा है। शो ने अपने 100 एपिसोड पूरे होने का जश्न मनाया।      मुख्य अभिनेता किंशुक महाजन कहते हैं, "यह हम सभी के लिए खुशी का क्षण है कि हमने 100 एपिसोड पूरे कर लिए हैं। इसके अलावा मैं अपने प्रशंसकों और दर्शकों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने लगातार हमारा समर्थन किया है और हम पर अपने प्यार की बरसात की है। कलाकारों और क्रू के प्रत्येक सदस्य को धन्यवाद देकर इस मौके का जश्न मनाने का इससे  बेहतर तरीका क्या हो सकता है, जिनका इस शो को सफल बनाने के पीछे असली हाथ हैं। पूरी यूनिट यह सुनिश्चित करने के लिए अपना दिल और आत्मा लगा देती है कि हम प्रत्येक एपिसोड के साथ दर्शकों को बांधे रखें। चैनल, प्रोड्यूसर्स, को-एक्टर्स और हमारे पूरे क

कोविड-19 से अनाथ हुए बच्चों के भविष्य का रणनीतिक रोडमैप, योजनाएं सरकारों द्वारा तात्कालिक बनाना जरूरी

गोंदिया - वैश्विक महामारी कोविड-19 ने काल का ग्रास बनाकर लाखों मानव जीवो की इह लीला समाप्त कर ली। और अभी भी तांडव मचाना जारी है।..बात अगर हम भारत की करें तो यहां इस महामारी की दूसरी लहर की तीव्रता में हल्का सा सुधार आना शुरू हुआ था, लेकिन इससे घातक बीमारी ब्लैक फंगस और वाइट फंगस ने तीव्रता से पैर पसारना शुरू कर दिया है और 15 राज्यों में पैर पसार दिया है जिसमें से 12 राज्यों ने इसे महामारी अधिनियम 1897 के तहत महामारी घोषित कर दिया है...बात अगर हम इन महामारीयों से ग्रस्त भारतीय परिवारों की करें तो इस भारी त्रासदी में देश के बड़ी संख्या में बच्चे अनाथ हो गए हैं याने उनके माता-पिता तथा परिवारों के सदस्य काल के गाल में समा गए हैं और यह मासूम बच्चे अनाथ हो गए हैं हालांकि राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने कहा कि उन्हें ऐसे कई मामलों की जानकारी मिली है कि कई एनजीओ उन बच्चों के बारे में बता रहे हैं जो कोविड-19 की वजह से माँ-बाप की मौत के बाद अनाथ हो गए हैं। एनसीआरपी, कमिशन फ़ॉर प्रोटेक्शन ऑफ़ चाइल्ड राइट्स (सीपीसीआर) एक्ट, 2005 के सेक्शन 3 के तहत बनाई गई एक वैधानिक बॉडी है, जिसका काम द

विकास पुत्र की लालसा में अबला

सन 2005  की वो हसी शाम थी।जिस दिन हमारी शादी कुर्सी से हुई आज सोलह वर्ष हो गये लेकिन विकास पुत्र का जन्म नही हुआ ।महिला, माता, बूढे, बुजुर्ग, की दर्द भरी कहानी जो विकास के खोखले दावो की पोल खोलता गंगा तट पर दफन हो गया । क्या कुर्सी के कुमारों एक भी विकास पुत्र पैदा कर पाएँगे?  वैसे कुमारों ने अपनी सेहत और अपने उठने बैठने के तौर तरीके में खूब विकास की है। देखा जाय तो ऊँचे ऊँचे बिल्डिंग बनी, व्यापारियो के ऋण माफ किए गये,म्यूजियम, यौवन की उन्नति के लिए जगह जगह रास लीलापार्क, ओवरब्रिज, पुल पुलिया, सडक, पानी, बिजली लेकिन सबसे जरूरी स्वास्थ्य व्यवस्था पूरे साम्राज्य में ऐसी विखरी कि आज कुमारो को विनास पुरूष का तगमा लिए फिर रहे हैं। ऐसी शादी का क्या जो विगत सत्रह सालो में एक स्वास्थ्य रूपी स्वस्थ पुत्र पैदा नही कर पायी।रोते विलखते लोग परिजन दर दर ठोकर खाएँ और कुमारो भीडिओ फेसबुक और व्हाट एक के जरिए चंद चाटुकार से भोजन का स्वाद पूछकर विकास का वखान चैनल पर करते रहे ।शहर की राजधानी की नामी गिरामी अस्पताल में मरीज के साथ हैवानियत बालात्कार क्या नही ? मुजफ्फरपुर चमकी, चारा, अलकतरा सेल्टर होम,सृजन

मौनी रॉय ने दिया इस्कॉन फाउंडेशन में योगदान

Image
-अनिल बेदाग़- मुंबई : मौनी रॉय उन कुछ अभिनेत्रियों में से एक रही हैं जिन्होंने हमेशा नेक कामों का समर्थन किया है। इस भयानक महामारी के दौरान मौनी अपने साथी देशवासियों की यथा संभव मदद करती रही हैं। वह अब इस्कॉन फाउंडेशन की प्रमुख मायापुर के बारे में जानकारी साझा करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रही है और पश्चिम बंगाल का यह छोटा शहर चिकित्सा सुविधाओं की कमी के कारण कैसे पीड़ित है यह बात रही है।        अस्पताल, ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑन-कॉल डॉक्टर और संबंधित चिकित्सा आपूर्ति नहीं होने से आसपास के क्षेत्रों के साथ-साथ बस्ती के लोग भी पीड़ित हैं। इस्कॉन फाउंडेशन मायापुर में एक चिकित्सा सुविधा का निर्माण कर रहा है जो कोविड -19 से पीड़ित लोगों को उचित चिकित्सा सहायता प्राप्त करने में मदद करेगी। मौनी रॉय ने अब इस नेक काम के लिए अपनी क्षमता अनुसार इस्कॉन फाउंडेशन को दान दिया है। उसी के बारे में बात करते हुए एक वीडियो साझा करने के लिए मौनी ने सोशल मीडिया का सहारा लिया।      मौनी रॉय ने हाल ही में इस कोविड -19 संकट के बीच जरूरतमंद लोगों की मदद करने की दिशा में उनके इस नेक काम को आगे बढ़ाते हुए गिव इंडि

श्री राजपूत करणी सेना ने मनाई सम्राट पृथ्वीराज चौहान जयंती

Image
-अनिल बेदाग़- मुंबई : वीर सम्राट पृथ्वीराज चौहान की जयंती का नेत्रदीपक आयोजन श्री राजपूत करणी सेना, मुंबई द्वारा किया गया।  इस दौरान राष्ट्र गौरव पृथ्वीराज चौहान को याद किया गया एवं उनकी वीरता पर आधारित विभिन्न प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। बुधवार को अंधेरी पश्चिम, डी. एन. नगर मे करणी सेना मुंबई मे आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ करणी सेना मुंबई अध्यक्ष दिलीप राजपूत ने किया।           विख्यात कलाकार एवं करणी सेना की मुंबई महिला अध्यक्ष आरती नागपाल, मुंबई प्रदेश के महासचिव दीपक चव्हान मौजूद थे। वक्ताओं ने वीरों, महापुरुषों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का स्मरण और उनके आदर्शों का अनुसरण करने व समाज में भाईचारे के साथ रहने का आह्वान किया।        कार्यक्रम के दौरान राजपूत वंश का उदय, राजपूत समाज में नारी का महत्व शीर्षक पर परिसंवाद का आयोजन हुआ। इस मौके पर विराज राजपूत, प्रेम चव्हाण, जय चव्हाण, निहाल भाटी विनायक हातातागले, अनिताजी, ललित सोलंकी आदि मौजूद रहे।  

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापाकर में 308 लोगों को दिए गए कोरोना के टीका

राजापाकर (वैशाली) संवाददाता, दैनिक अयोध्या टाइम्स  राजापाकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित बैघनाथपुर चकसिकंदर एवं भोजपट्टी  स्थित स्वास्थ्य केंद्रों में गुरूवार को  308 व्यक्तियों को कोरोना की वैक्सीन दी गई। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राजेश कुमार एवं बीसीसीएम रवि कुमार ने संयुक्त रूप से बताया कि 18 से 44 आयु वर्ग के 220 लोगों को  कोवि शील्ड के टीके दिए गए। वही 45 से ऊपर  वाले 88 लोगों  कोवैक्सीन के टीके दिए गए। राजापाकर बाजार निवासी पत्रकार अरुण श्रीवास्तव के पुत्र व पुत्री क्रमशः  उज्जवल श्रीवास्तव एवं नंदनी  ने बताया कि वे दोनों टीके लेने के बाद अपने को महफूज होने का अनुभव कर रहे हैं। हमें  किसी तरह की परेशानी महसूस नहीं हुई

दो प्राथमिकी अभियुक्त को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा

राजापाकर( वैशाली) संवाददाता, दैनिक अयोध्या टाइम्स राजापाकर थाना की पुलिस ने बुधवार की रात थाना कांड संख्या 107/21 के प्राथमिकी अभियुक्त नागेश्वर साहनी का पुत्र सुनील साहनी एवं शाहिद साह का पुत्र फूल मोहम्मद दोनों साकिन चौसीमा  कल्याणपुर को एस आई पंकज शर्मा एवं संजीत कुमार ने बीते बुधवार की रात गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया है। दोनों गिरफ्तार अभियुक्त पर पुलिस अनुसंधान में बाधा डालने एवं मारपीट किए जाने का आरोप था।

तलाब में रखा मछली की रखबाली करना पड़ा महंगा मारपीट किया जख्मी

 गोरौल(वैशाली)संवाददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स गोरौल थाना क्षेत्र के धाने गोरौल गांव में तलाब में रखा मछली की रखबाली करना एक व्यक्ति को महंगा पडा। रखबाली के दौरान ही कुछ लोग आ धमके और उसे मारपीट कर बुरी तरह जख्मी कर दिया। जख्मी हालत में उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। जहा से उसे अच्छे इलाज हेतु सदर अस्पताल हाजीपुर रेफर कर दिया गया है। इस सम्बंध में  गांव के ही रवि कुमार के द्वारा थाने में दर्ज कराई गई प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि वह अपने तलाब में पलने के लिये रखे मछली की रखबाली कर रहा था कि कुछ लोग आ धमके और मछली मारने का प्रयास करने लगा। मना करने पर सभी ने लाठी डंडे से मारकर सर फोर दिया। साथ ही दो हजार रुपया भी निकाल लिया। इस मामले में थाना क्षेत्र के ही राजखण्ड गांव निवासी सुजीत पासवान,वीरेंद्र पासवान,रोहित कुमार सहित पांच लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

पप्पू यादव की रिहाई की मांग को लेकर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया

राजापाकर( वैशाली) संवाददाता, दैनिक अयोध्या टाइम्स             जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद पप्पू यादव की रिहाई की मांग  अब गांवों में भी उठने लगी है। गुरूवार की शाम  प्रखंड की बाकरपुर पंचायत के शेखपुरा गांव में पप्पू यादव की रिहाई के स्वर सुनाई दिए।  पूर्व सांसद की गिरफ्तारी को लेकर पार्टी के नेताओं ने आक्रोश व्यक्त कर विरोध जताया है। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मंजेलाल राय  प्रखंड अध्यक्ष रविंद्र राय  युवा जाप नेता सुरंजन यादव  युवा समाजसेवी अभिषेक शर्मा अरुण यादव उर्फ व्यास जी आदि ने सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल  रखते हुए शेखपुरा विद्यालय के समीप से राष्ट्रीय राजमार्ग 322 के गोविंदपुर झखराहा चौक पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा सांसद राजीव  प्रताप रूडी की अर्थी निकालकर पुतला दहन किया। पुतला दहन के बाद प्रखंड अध्यक्ष रविंद्र राय ने कहा कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे। गिरफ्तारी सांसद राजीव  प्रताप रूडी की होनी चाहिए और यहां की अंधी-बहरी सरकार गरीबों का मसीहा जो अपनी जान की परवाह किए बगैर गरीबों और आम आवाम की मदद करने वाले पप्पू यादव को गिरफ्तार कर लिया। युवा जाप नेता सुरं

बिजली के शार्ट सर्किट से बैक में लगी आग , ग्रामीणों के सहयोग से नही हुआ भारी नुकसान

सारण (ब्यूरो चीफ संजीत कुमार) दैनिक अयोध्या टाइम्स  सोनपुर प्रखंड अंतर्गत डुमरी बुजुर्ग के भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में गुरुवार की सुबह अचानक बिजली के शार्ट सर्किट से अचानक लगी आग से बैंक शाखा से धुआ निकलता देख आसपास के लोगों में अफरा तभरी बन गया । इस घटना के देखकर  मकान मालिक पंकज कुमार ने  शाखा प्रबंधक पंकज कुमार सिंह व अग्निशमन विभाग, पंचायत समिति उदय कुमार सिंह  को इस घटना की जनकारी  दी। खबर के सुनते ही वहां देखते ही देखते थोड़ी ही देर में लोगों की काफी भीड़ इकट्ठा हो गई। दूसरी ओर खबर की जनकारी मिलते ही शाखा प्रबंधक ने तत्परता दिखाते हुए अग्निशमन विभाग तथा स्थानीय पुलिस व अपने कर्मचारियों के सूचित किया। आग लगने की सूचना मिलते ही  स्थानीय पुलिस तथा अग्निशमन की गाड़ी मौके पर पहुंच गई इसके पूर्व आसपास के लोगों की मदद से आग पर काबू पा लिया गया था। शाखा प्रबंधक पंकज कुमार ने बताया कि बिजली की शार्ट सर्किट से यह आग लगी। आग लगने से शाखा मे लगा बिजली का मीटर तथा कुछ इलेक्ट्रिक तार जल गया। बैंक के अन्य किसी सामान की कोई क्षति नहीं हुई है । इलेक्ट्रिक मैन को बुलाकर जले हुए समानो को मरम्मत क

गरीब रक्षक आर्मी महिला विंग ने किया महिलाओं के बीच सेनेटाइजर का वितरण

सारण (ब्यूरो चीफ संजीत कुमार) दैनिक आयोध्या टाइम्स सोनपुर प्रखंड के कल्याणपुर पंचायत अंतर्गत बैजलपुर नया टोला मे विभिन्न महिला ग्रुपो के बीच गरीब रक्षक आर्मी की महिला उपाध्यक्ष सह समाजसेवी सुकांती देवी द्बारा महिलाओं के बीच गुरुवार को मास्क, वितरण किया गया। मौके पर संगठन की सचिव हैप्पी कुमारी ने कहा कि कोविड 19 को लेकर हम सभी को सतर्क रहने की जरूरत है । घर में भी बाहरी लोगों से बातचीत करे तो मास्क लगाकर बातचीत करे और  सोशल डिस्टेन्स का पालन करे साथ ही घर के साफ सफाई पर विशेष ध्यान दे । किसी काम को करने से पहले हाथ को साबून से जरूर  धोएं क्योंकि यह महामारी बहुत ही खतरनाक है ।  मौके पर संगठन के संयोजक प्रभात रंजन , प्रीति कुमारी, करीना कुमारी, निशा कुमारी समेत दर्जनों महिला मौजूद रही।

लाॅकडाउन उल्लंघन के आरोप में चार दुकानों को किया गया सील

महुआ ( वैशाली) अनुमंडल संवाददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स अनुमंडल क्षेत्र के महुआ बाजार में चार दुकान सागर रेडीमेड, ओम साई रेडीमेड व कपड़ा दुकान तथा एक आभूषण दुकान को अधिकारियों द्वारा सील किया गया। जिससे आस पास हलचल मच गई। वृहस्पतिवार को थानाध्यक्ष कृष्णानंद झा ने बताया कि महुआ कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद तथा थानाध्यक्ष महोदय के नेतृत्व में लाॅकडाउन के नियमों को लेकर महुआ बाजार में जांच अभियान चलाया गया। इस दौरान पातेपुर रोड स्थित  सागर रेडीमेड , ओम साई रेडीमेड व कपड़ा दुकान तथा  गांधी चौक स्थित लख्खी ब्याहुत आभूषण भंडार को भी सील किया गया। बताते चलें कि कोरोनावायरस एवं लाॅकडाउन गाइडलाइन में चोरी छिपे दुकान खोलने तथा नियमों का उल्लघंन करने के आरोप में चार दुकान को सील किया गया है। वही अधिकारियों ने कोरोना संक्रमण से मुक्ति एवं बचाव में सभी लोग सहयोग करें। सरकार के द्वारा जो गाइडलाइन दिया गया है उसका पालन करें। जो लोग सरकार के तमाम गाइडलाइन के पालन नहीं करेंगे उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

जनप्रतिनिधियों के अधिकार समाप्त होते ही जनता की समस्याओं से रूबरू होंगे अधिकारी

सारण (ब्यूरो चीफ संजीत कुमार) दैनिक आयोध्या टाइम्स बिहार में कोरोना महामारी लगातार बढ़ रही है ऐसे में बिहार सरकार ने इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए 25 दिनों के लिए लॉक डाउन लगाते हुए  त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को स्थगित कर दी है । अगर बिहार सरकार पंचायत के जनप्रतिनिधियों की सत्ता का अधिकार छीन लेती है तो पंचायती राज पदाधिकारी से लेकर, बीडीओ, सीओ, अनुमंडल अधिकारी से लेकर जिला के सभी वरीय अधिकारियों को पंचायत के जनसमस्याओं को जानकारी पूर्ण रूप से हो जाएगी। जिस तरह से पंचायतों में कुछ भष्ट जनप्रतिनिधियों के कारण जातिवाद, व्यक्तिवाद, और कुटनितिवाद के कारण पंचायत का विकास न होकर सरकारी योजनाओं की धरातल पर पूर्ण रूप से नहीं होना एवम् सरकार की योजनाओं की जानकारी आम जनता तक नहीं मिलने के कारण जन प्रतिनिधियों ने भले ही पंचायत की विकास नहीं की हो लेकिन अपना सर्वांगीण विकास करते हुए पीढ़ी दर पीढ़ी तक सरकार की योजनाओं का खुलियाम कागजों पर घोटाला करते हुए समाज के अंदर अपना वर्चस्व कायम कर लिया । अगर सरकार की मंशा पंचायत की विकास चाहती है तो सत्ता में बैठे जनप्रतिंनीधियो की त्रिस्तरीय पंचायत चुना

वासुदेवपुर गाँव के चम्बर में एक युवक का शव पेड़ से लटका हुआ बरामद

हाजीपुर(वैशाली)संवाददाता नवीन कुमार दैनिक अयोध्या टाइम्स महनार थाना क्षेत्र के वासुदेवपुर गांव के चम्बर में पेड़ से लटका हुआ एक युवक का शव बरामद हुआ शव बरामद होने की सूचना मिलने के बाद मौके पर लोगो की भाड़ी भीड़ जमा हो गई जिसके बाद स्थानीय लोगो ने इसकी सूचना महनार थाने को दिया घटना की सूचना के बाद महनार एसडीपीओ सुरेंद्र पंजियार एवं थानाध्यक्ष मनोज कुमार पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पंहुचे और शव को पेड़ से जे सी बि की मद्द से नीचे उतरवाया गया ।इस संबंध में महनार थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया की मृतक की पहचान समस्तीपुर जिले के तारा धमौन गांव निवासी 35 वर्षिय धर्मेंद्र कुमार के रूप में हुई है और शव देखने से आत्महत्या का मामला प्रतीत हो रहा है ।साथ ही थानाध्यक्ष ने बताया की लोगो द्वारा बताया जा रहा है कि  मृतक युवक  पहले भी आत्महत्या का  प्रयास किया था।फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।वही स्थानीय लोगो का कहना है कि युवक मानसिक रूप से विक्षिप्त था। हालांकि पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच ने जुटी हुई है।

भारत का गौरव ढ़ाने की प्रियंका की बड़ी उपलब्धियां

Image
अनिल बेदाग़- मुंबई : मनोरंजन उद्योग में दो दशक और प्रियंका चोपड़ा जोनस अब भी अपने काम मे बहुत व्यस्त हैं। बॉलीवुड में उनके नाम पर लगभग 60 फिल्म है और विश्व स्तर पर बड़े पैमाने पर प्रशंसक के साथ, वह सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा फॉलो की जाने वाली भारतीय फिल्म स्टार हैं। इस बीच, पश्चिम में, उन्होंने एबीसी के क्वांटिको में अपने शानदार अभिनय से दिल जीत लिया है। प्रियंका चोपड़ा ने 2016 की लाइव-एक्शन फ़िल्म जंगल बुक में भी आवाज दी और बेवॉच (2017), ए किड लाइक जेक (2018) और एंड इट्स रोमांटिक (2019) और वी कैन बी हीरोज (2020) जैसी हॉलीवुड फिल्मों में अभिनय किया। उनकी आखिरी बॉलीवुड रिलीज़, द व्हाइट टाइगर उनकी बेहतरीन कृतियों में से एक के रूप में उभरी और बड़े पैमाने पर प्रशंसा मिली है।       विश्व स्तर पर सामाजिक परिवर्तन के चेहरे के रूप में जानी जाने वाली, सुपरस्टार ने समय-समय पर अपनी विभिन्न उपलब्धियों से हमें गौरवान्वित किया है। नीचे हम आपके लिए ९ शानदार कारण लेकर आए हैं जो साबित करते हैं कि वह अगले कई दशकों तक दिलों पर राज करने के लिए यहां हैं।  1. फोर्ब्स के 100 सबसे प्रभावशाली कवर पर आने वाली पहल

"गली बॉय" के बाद अब "गटर बॉय" ने बटोरी सुर्खियां

Image
यूके फ़िल्म फेस्टिवल में होगा प्रीमियर -अनिल बेदाग़- मुंबई : कॉमेडी फिल्म "उमाकांत पांडेय पुरुष या....?" से चर्चा में आए अभिनेता अजीत कुमार आजकल अपनी दूसरी फिल्म "गटर बॉय" को लेकर सुर्खियों में छाए हुए हैं। फ़िल्म 'गटर बॉय - ए जर्नी टू हेल' को  ब्रिज इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल, ग्रीस, दरभंगा इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल सहित कई फिल्म समारोहों में ऑफिशियल एंट्री के रूप में चुना गया है। खास बात यह है कि इस फ़िल्म ने सर्वश्रेष्ठ निर्देशन,  सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म और सर्वश्रेष्ठ कहानी की कैटगरी में अपना नामांकन हासिल किया है। और अब यूकेएएफएफ (UKAFF) फ़िल्म फेस्टिवल में गटर बॉय का प्रीमियर 28 मई को शाम 7 बजे होने जा रहा है। 58 मिनट की इस हिंदी फ़िल्म के ट्रेलर को शानदार रिस्पॉन्स मिल रहा है। इसके ट्रेलर की शुरुआत इस डायलॉग से होती है। "एक बार फिर म्युनिस्पल कॉर्पोरेशन के 2 कर्मचारी गटर की सफाई करते हुए मारे गए।"  निर्देशक अनुपम खन्ना बसवाल की रियलिस्टिक फ़िल्म गटर बॉय में अजीत कुमार एक गटर बॉय का चुनौतियों भरा टाइटल रोल निभा रहे हैं। कुछ लोग अब भी अपनी रोजी रोटी कमा

राजापाकर में सामुदायिक किचन खोलकर गरीबों को कराया जा रहा भोजन

राजापाकर( वैशाली ) संवाददाता, दैनिक अयोध्या टाइम्स बिहार में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर लगे संपूर्ण लॉकडाउन के बाद सरकार द्वारा प्रखंड मुख्यालय में भी सामुदायिक किचन का शुभारंभ किया गया है जिसमें दोनों वक्त निर्धनों का पेट भरेगा। खासकर वैसे गरीब मजदूर जिन्हें दो वक्त की रोटी भी बड़ी कठिनाइयों से नसीब हो पाती है उनके लिए परेशानी और बढ़ गई थी इसे देखते हुए बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन अब गरीबों का पेट भर रहा है। राजापाकर प्रखंड मुख्यालय में फिलहाल मात्र एक स्थान प्रखंड मुख्यालय अंतर्गत आदर्श मध्य विद्यालय राजापाकर पर सामुदायिक किचन बुधवार 19 मई से अंचलाधिकारी राजापाकर के देखरेख में शुरू किया गया है। इस दौरान लगभग 60 लोगों को खाना परोसा गया। CO राजापाकर ने बताई की सामुदायिक किचन में गरीब, असहाय, दैनिक श्रमिकों ,रिक्शा ,ठेला चालक के लिए यह सामुदायिक किचन काफी मददगार साबित होगा। उन्होंने यह भी बताया कि आज प्रथम दिन 60 लोगों के बीच चावल दाल एवं सब्जी का भोजन कराया गया है ।पुनः शाम 5:00 बजे से रात्रि का भोजन परोसा जाएगा। हालांकि सामुदायिक किचन के चालू हो जाने का कोई प्रचार प्रसार नहीं किया गया

सोनपुर में 17 संक्रमित की हुई पहचान ,130 लोगो को दी गयी कोविड 19 वैक्सीन

सारण (ब्युरो चीफ  संजीत कुमार) दैनिक आयोध्या टाइम्स      सोनपुर--  सोनपुर में लॉक डाउन होने के बाद से अब कोरोना संक्रमित की संख्या में कमी आने शुरू हो गयी है लेकिन फिर भी इस महामारी को नजरअंदाज करने की जरूरत नहीं है अब भी संक्रमित व्यक्ति कोरोना जाँच में मिल रहे हैं । कुछ लोगो की लापरवाही के कारण आज भी संक्रमित व्यक्ति की पहचान हो रही हैं आज भी लोग इस महामारी को नजरअंदाज कर रहे हैं और बिना मास्क पहने घर से निकल रहे हैं।  इस बात की जानकारी देते हुए सोनपुर पूर्व  कोरोना नोडल अधिकारी डॉ अभिषेक कुमार सिन्हा ने बुधवार को बताया कि सोनपुर एएनएम  ट्रेनिंग सेंटर ,रेलवे स्टेशन ,अनुमंडल अस्पताल  में  रैपिड कीट से 173 लोगो को जांच किया गया जिसमें 17 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं वहीं 203 लोगों आरटीपीसीआर के तहत जांच किया गया सभी जांच सैंपल पटना भेज दी गई है । कोरोना नोडल अधिकारी डॉ  राजकिशोर सिंह ने बताया कि  कोविड केयर सेंटर में आज तक कुल 4 संक्रमित व्यक्ति भर्ती है ।जब कि एक संक्रमित व्यक्ति को पटना रेफर कर दिया गया है । अनुमंडल अस्पताल के प्रभारी डॉ हरिशंकर चौधरी ने बताया कि  17 संक्रमित व्यक्

कोरोनावायरस गाइडलाइन के उल्लंघन करने के आरोप में तीन रेडीमेड तथा एक परचून की दुकान को किया गया सील

महुआ ( वैशाली) अनुमंडल संवाददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स। महुआ अनुमंडल क्षेत्र के गोलारोड में कोरोनावायरस गाइडलाइन का उल्लघंन करने पर कपड़ों की तीन रेडीमेड तथा एक परचून दुकानों को अधिकारियों ने सील कर दिया। जिससे क्षेत्र में आस पास हड़कंप मच गई। गुरूवार को महुआ कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, अमीन रामेश्वर पंडित तथा पुअनि शिवेंद्र ना. सिंह के नेतृत्व में कोरोनावायरस गाइडलाइन को लेकर महुआ बाजार में जांच अभियान चलाया गया। इस दौरान गोलारोड में लुका छुपी का खेल कपड़ा दुकानदार ने क्रमशः अजय रेडीमेड, पवन रेडीमेड व वैशाली साड़ी तथा महेश परचून की दुकानदार ने समय अवधि के बाद भी चोरी छिपे दुकान खोलने के आरोप में दुकान को सील कर दिया गया है। वही अधिकारियों ने कोरोना संक्रमण के जो गाइडलाइन दिया गया है उसका पालन करें। जो लोग सरकार के गाइडलाइन के पालन नहीं करेंगे उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापाकर में गुरुवार को टीकाकरण का कार्य होगा

राजापाकर( वैशाली )संवाददाता, दैनिक आयोध्या टाइम्स सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापाकर समेत चार केंद्रों पर गुरुवार से पुनः कोरोना का वैक्सीन दिया जाएगा ।जानकारी देते हुए प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राजेश कुमार ने बताया है कि गुरुवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापाकर समेत बैजनाथपुर, चक सिकंदर एवं भोज पट्टी स्वास्थ्य केंद्र पर गुरुवार 20 मई को 45 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों का प्रथम डोज़ एवं सेकंड डोज़ सिर्फ को वैक्सीन का टीकाकरण होगा ।वही उन्होंने यह भी जानकारी दिया कि राजापाकर अस्पताल में 18 से 44 वर्ष वाले उन्हीं लोगों का टीकाकरण होगा जिन लोगों ने 20 मई के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुक कराया है। मालूम हो कि  जिला वैक्सीन भंडार में वैक्सीन उपलब्ध नहीं रहने के कारण बीते 19 मई को वैक्सीनेशन का कार्य बाधित रहा है।

कोविड-19 - दिशानिर्देशों में सामायिक परिवर्तन - शासन, प्रशासन, वैज्ञानिकों की सजगता और जागरूकता का प्रमाण - एड किशन भावनानी

गोंदिया - वैश्विक रूप से कोविड -19 महामारी ने वर्ष 2019 के अंत से वैश्विक स्तर पर पैर पसारना शुरू कर दिया था और अपनी तीव्र घातकता से वैश्विक स्तर पर मानव पर हमला कर अपना उग्र रूप दिखाया, पूरे विश्व में तबाही मचा कर रख दी।...बात अगर हम भारत की करें तो भारत में कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे पहला मामला केरल के त्रिचूर में 30 जनवरी 2020 को सामने आयाथा और इसके अगले ही दिन याने 31 जनवरी 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस को वैश्विक आपदा घोषित किया था। 11 मार्च 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इस कोविड-19 को वैश्विक महामारी घोषित किया था और इसके अगले ही दिन याने 12 मार्च 2020 को भारत में कोरोना संक्रमण से पहली मौत की पुष्टि हुई थी, जिसमें भारत एकदम चौकन्ना, चाक-चौबंद और सतर्क हुआ और पीएम मोदी ने 22 मार्च 2020 को जनता कर्फ्यू का आह्वान कर 25 मार्च 2020 को देश को संबोधन किया और रात 12 बजे से 21 दिन का पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की थी और फिर कोविड-19 की गाइडलाइंस बनाने का और क्रियान्वयन करने का दौर जो शुरू हुआ जो मंगलवार दिनांक 18 मई 2021 तक शुरू है। राष्ट्रीय आपद

सरस्वती और लक्ष्मी का द्वंद

हिंदी लेखन जगत में एक नई बहस चल रही है। मेरे बहुत से मित्र कुछ न कुछ लिख रहे हैं। कुछ समर्थन में तो कुछ विरोध में। हालांकि बहस में कुछ भी नया नहीं है। यह सालों से चली आ रही समस्या है; जिससे लेखक-कवि जूझ रहा है। समस्या है - सरस्वती-लक्ष्मी का द्वंद्व।  दो तरह के काम हैं। एक, स्वयंचेतस् रचनात्मकता। दूसरा, डिमांड पर लिखना। दोनों अलग-अलग हैं।  मैं एक पत्रिका का सह संपादक रहा हूँ। मैंने बाक़ायदा पैसे लिये। क्योंकि वो काम 'मज़दूरी' है। ईमेल चेक करो, आवश्यक संसोधन करो, प्रूफ़ रीडिंग, डिजाइन तैयार करो ... ढेर सारे छोटे-मोटे काम। यह एक फॉर्मेट में होता है। इसका पारिश्रमिक माँगा जाना चाहिए।  विद्यालयों में बतौर वक्ता गया हूँ। बुलाने वाले मित्र थे। जब वक्ता होने की सहमति दी तब नहीं पता था कि बोलने का पारिश्रमिक मिलता है। लेकिन भाषण-समाप्ति उपरांत पैसा हाथ में आया तो अच्छा लगा। वो मेरी बेरोज़गारी के दिन थे। उन पैसों से काफ़ी सहायता मिली।  कुछ कार्यक्रमो का संचालन भी किया है, शौक़िया तौर पर। कभी न पैसा माँगा न मुझे दिया गया। मैं पैसों के लिए यह करता भी नहीं था। हाँ, एक जगह के आयोजक ने ( जिसने कार

कोविड-19 - वैज्ञानिक आधार को बढ़ावा देना जरूरी - गांवों में भ्रांतियों को ख़ारिज कर जनजागरण अभियान चलाना जरूरी

21वीं सदी के डिजिटल युग में भ्रांतियों, टोटकों और जादू टोना प्रथा को स्वतः संज्ञान लेकर लगाम लगाना जरूरी - एड किशन भावनानी गोंदिया - वैश्विक रूप से कोरोना महामारी अपना तांडव मचा रही है। हालांकि कुछ विकसित देशों ने इसे वैज्ञानिक आधार, वैक्सीनेशन, लॉकडाउन, दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन के आधार पर कोरोना महामारी को मात देने के करीब पहुंच गए हैं और धीरे-धीरे सामान्य स्थिति की ओर बढ़ने हेतु अग्रसर हो गए हैं।मंगलवार दिनांक18 मई 2021को माननीय प्रधानमंत्री ने 9 राज्यों के 46 कलेक्टरों से प्रथम चरण की वर्चुअल बैठक की जिसमें माननीय पीएम ने महामारी से निपटने संबंधी अनेक मंत्रों सहित मार्गदर्शन में कहा गावों तक महामारी के संक्रमण के विस्तार को रोकना है, कालाबाजारी को रोकना और कड़े कदम उठाना हैं, अपना जिला जीता तो भारत जीता, ट्रिपल टी फार्मूला, वैक्सीन के वेस्टेज को रोकना सहित अनेक बाते कहीं और महामारी के संक्रमण को रोकने, तेज़ी से निपटने के लिए सुझाव भी मांगे और उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों की उपस्थिति पर तारीफ़ की और भी अनेक सकारात्मक पहलुओं से डीएम का मार्गदर्शन किया जो हम सभ ने लाइव प्रसारण दे

कैसे मिले प्रभु रोजी रोटी इस संकट काल में ?

आज देश के ओ वंचित वर्ग सबसे ज्यादा परेशान हैं,जो रोज कुंआ खोदते रोज पानी पीते थे,यानी की मजदूर वर्ग जो दिहाड़ी करके कमाते  थे, जिससे इनके घरों में चूल्हे जला करते थे , आंकड़ों को देखें तो इस कोरोना महामारी ने लगभग 63 फीसदी तो  घरेलू कामगारों से ही रोजगार  छीन लिया है , ऐसे में अब तो घर चलाना बहुत ही  मुश्किल हो रही है। हमने देखा की  पिछले साल कोरोना के चलते लगाएं गए लॉकडाउन ने देश की अर्थव्यवस्था को बुरी तरह से प्रभावित किया था, हालांकि कुछ समय बाद चीजें धीरे-धीरे पटरी पर लौटना शुरू हुई तो कोरोना की दूसरी लहर ने सब कुछ तबाह कर दिया है , दूसरी लहर के बाद अचानक नए कोरोना के मामलों में भारी उछाल आया और फिर राज्य सरकारों ने धीरे-धीरे सख्त पाबंदियां लगाते हुए लॉकडाउन लगा दिया है ,इस कोरोना महामारी से भारी संख्या में लोगों की नौकरी गई हैं,स्थिति यह हो गई कि जिन लोगों का रोजगार छूटा है, उनके घरों में आर्थिक संकट इस कदर हावी हो गया कि घर चलाना भी मुश्किल हो गया है। हम सभी ने देखा की हमारे प्रवासी मजदूर देश के अलग-अलग शहरों और राज्यों से पैदल ही हजारों हजार किलोमीटर चलने को मजबूर हुए थे, जिनमें

हृदय रोगों और आँखों के संक्रमण रोके औषधीय घटक - पुनर्नवा

यह एक ऐसी वनस्पति है जिसे पुनर्नवा के नाम से जाना जाता है। आयुर्वेद के जानकार इसे एक प्रचलित औषधि के रूप में सदियों से प्रयोग कराते आ रहे हैं ।पुनर्नवा जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है यह पुर्न यानि दुबारा नवा अर्थात नई यानि जो शरीर मे नवीन कोशिकाओं को जन्म दे नूतनता लाये ऐसी वनस्पति पुनर्नवा है।लेटिन में इसे बोरहावीया डिफ्युजा के नाम से जाना जाता है।इसकी दो प्रजातियां होती है एक श्वेत पुनर्नवा और दूसरी रक्त पुनर्नवा।अभी बारिश के मौसम के इसके छोटे पौधे निकलते है जो 2 से 3 मीटर लंबे होते हैं और जमीन पर फैलते हैं।इसके नामके साथ एक और रोचक पहलू है सूखा हुआ पुनर्नवा का पौधा बरसात आने पर फिर से नया जीवन प्राप्त कर लेता है इन्ही गुणों के कारण प्राचीन ऋषियों ने इसका नाम पुनर्नवा रखा हो। *विभिन्न भाषाओं में नाम -* संस्कृत- पुनर्नवा। हिन्दी- सफेद पुनर्नवा, विषखपरा, गदपूरना। मराठी- घेंटूली। गुजराती- साटोडी। बंगला-श्वेत पुनर्नवा, गदापुण्या। तेलुगू- गाल्जेरू। कन्नड़-मुच्चुकोनि। तमिल- मुकरत्तेकिरे, शरून्नै। फारसी- दब्ब अस्पत। इंग्लिश- स्प्रेडिंग हागवीड। लैटिन- ट्रायेंथिमा पोर्टयूलेकस्ट्रम। *गुण -* श्वेत

श्मशान में ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य शूद्र सब जल रहे हैं पास-2*

  ऐसी विपदा तो सौ सालों में,कभी नहीं थी आई। कैसा ये परिदृश्य बना है, टीवी देखें आये रुलाई। इंसानों ने विकास हेतु,किया प्रकृति से खिलवाड़। वृक्ष एवं जंगल सब काटे,बंद ऑक्सीजन किवाड़। बड़े बड़े तालाबों को पाटा,बिल्डर्स का है ये धंधा। खनन माफियाओं का भी,काम हुआ नहीं ये मंदा। वृक्षारोपण किए नहीं हैं,प्रदूषण भी ऐसा फैलाया। साँस भी लेना दूभर है,कोरोना ने ऐसे पैर फैलाया। पिघल रहा ग्लेशियर,ग्लोबल वॉर्मिंग का असर है। भू जल भी क्षरण हो रहा,ऊर्जा ह्रास का असर है। अपनी करनी का ये फल,मानव ही भोगा-भोगे गा। धरती पर तो शुकून नहीं,हर घर में रोग है भोगे गा। इन सब झंझावातों से कैसे,इंसान कोई संघर्ष करे। आजिज आ गया है ये,इंसा कोविड से संघर्ष करे। कितनी जानें रोज जा रहीं, हर तरफ है हाहाकार। आपदा में भी अवसर का,कर रहे लोग हैं व्यापार। नहीं रह गई इंसानियत कोई,ब्लैक में बेंचते दवाई। लाशों का ढ़ेर लगा है,अस्पताल में बेड है न दवाई। शमशान में जाते ही,मिट ये गया है सब छुआछूत। पास पास ही जल रहे हैं,ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य शूद्र। राजनीति लाशों पर भी होये,कितनी है ये बेहयाई। किसी नेता को भी बिलकुल,इसमें शर्म नहीं आई। कभी-

लडकियों को तहजीब सीखाएं- मायके पक्ष

हमारे सनातन धर्म में कहा गया है लड़की का सुहागन होना और ससुराल में होना शुभ है ,और संस्कारिक मर्यादा भी।लेकिन आज कल के माॅम डैड ने इसे वर्बाद कर रखा है।सबसे ज्यादा विकट स्थिति का माध्यम फोन का घंटो तक आदान प्रदान होना।जिस किसी घर में ऐसी बीमारी लगी है वह घर रिश्ते की लिहाज से दम तोड़ चुके हैं । जबसे यह आधुनिक फोन का प्रचलन बढा है मायके का हस्तक्षेप बढता गया है। जिसे कोई खुद्दार पति शायद बर्दाश्त नहीं करता और यही सम्बन्धों की एक दीवार खड़ी करती है जो आये दिन अदालतें थाने और विभिन्न आयोग के बढ़ती फाइलों में दम तोड़ रही है। प्राचीन काल में ऐसा बिल्कुल नहीं था रिश्तों की एक बुनियाद होती थी ।मायके पक्ष कभी भी नादानी या ओछी बात नही करते थे बल्कि अपने बच्ची को समझाते थे ।जिससे रिश्ता प्रगाढ और निरंतर बना रहता था।जब कोई खास आयोजन में उनसे राय मांगी जाती थी तो वे मशवरा देते थे आज बिल्कुल अलग है ।आज दाल में नमक अधिक हो गया अगर पति ने डांट दी तो पति को डाटने के लिए प्रोग्राम बनाया जाता है जिसका माध्यम भी मोबाइल ही है जबकि पहले लोग हंसकर उड़ा डालते थे। यही फर्क है आज के इस नयी पीढी में जिसकी वजह स