विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, May 8, 2020

मोहम्मद जैद  ने 9 वर्ष की उम्र में रखा रोजा, मांगी कोरोना से निजात की दुआ




*जिला संवाददाता विनय सिंह*

(कोठी )बाराबंकी इस बार रोजा रखने में छोटे-छोटे मासूम बच्चों का भी हौसला भारी है। 

15 घंटे से ज्यादा समय तक मासूम बच्चे बच्चियां भूखी-प्यासी रहते हुए रमजान का पहला रोजा रखते हुए अल्लाह की इबादत करते हुए कोरोना महामारी से देश को निजात दिलाने की अल्लाह से दुआ मांगी। बाराबंकी विकासखंड सिद्धौर क्षेत्र की ग्राम पंचायत मीरापुर मैं मोहम्मद जैद जो कि 9 वर्ष की उम्र में रोजा रखा

 देखते हुए परिवार के लोग भी एक समय थोड़ा हिचकिचाए कि इतने बड़े दिन व गर्मी में वे कैसे रोजा रख पाएंगे। घर वालों ने जब उनके जज्बे को देखा तो फिर सभी लोग सहमत हो गए। शाम को जैसे ही अजान हुई, परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मासूम बच्चे ने भी रोजा खोला। मोहम्मद जैद ने बताया प्यास तो बहुत लगी थी, लेकिन अपने से बड़े को देखकर उसने भी सोच लिया था कि आज कुछ नहीं खाएगी और न पानी पीएगी। परिवार के सदस्यों ने बेटे के पिता मोहम्मद फिरोज ने पहले रोजे पर अल्लाह का शुक्र अदा किया और दुआ कि इस मुल्क व पूरे दुनिया से इस कोरोना वायरस जैसी महामारी को खत्म कर दे


 

 



 

No comments:

Post a Comment