विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, May 16, 2020

अन्तरराष्ट्रीय प्रकाश दिवस

16 मई सन् 2018 को सम्पूर्ण विश्व में "अन्तरराष्ट्रीय प्रकाश दिवस" को पहली बार मनाया गया था। तब से लेकर अब तक हर वर्ष यह दिवस मनाया जा रहा है। अन्तरराष्ट्रीय प्रकाश दिवस 16 मई वर्ष 1960 में भौतिकशास्त्री और इंजीनियर थियोडोर मेमन द्वारा लेजर के पहले सफल संचालन की सालगिरह के उपलक्ष्य में प्रतिवर्ष 16 मई को मनाया जाता है।
गौरतलब है कि यह दिवस विज्ञान, शिक्षा और सतत विकास, संस्कृति कला, औषधि, संचार और ऊर्जा के विविध क्षेत्र में प्रकाश के बेशकीमती महत्व के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।
उल्लेखनीय है कि 7 नवंबर सन् 2017 को यूनेस्को की सामान्य सभा के 39वें सत्र में 16 मई को अन्तरराष्ट्रीय प्रकाश दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की गई।
वैसे प्रकाश का महत्व इन सीमित क्षेत्रों तक ही सीमित नहीं है बल्कि प्रकाश तो आंतरिक व बाह्य दोनों दुनिया को गति प्रदान करने का एक अहम जरिया है। प्रकाश के बिना यह सम्पूर्ण वायुमंडल अंधकार में डूब जाएगा। सच तो यह है कि जीवन का मूल किसी न किसी रूप में प्रकाश पर निर्भर करता है। प्रकाश के बिना वनस्पतियों के अस्तित्व की कल्पना महज एक मिथ्या मनोभाव होगा क्योंकि वनस्पतियों का अंकुर महज पानी से नहीं फूटता बल्कि प्रकाश का भी योगदान भरपूर होता है।
प्रकाश मानवीय जीवन के लिए अत्यन्त आवश्यक है प्रकाश बिना मानव का हर क्रियाकलाप लगभग रूक सा जाएगा। प्रकाश का दोनों रूप बेहद महत्वपूर्ण है आंतरिक प्रकाश जहाँ मन को रास्ता दिखाता है वहीं बाह्य प्रकाश आँखों को बाहरी दुनिया का दर्शन कराता है।
इस महती ऊर्जा को हमें समझना होगा और इस प्रकाश रूपी हर ऊर्जा को बचाना होगा आइए हम सब मिलकर इस अन्तरराष्ट्रीय प्रकाश दिवस को सफल बनाते हुए प्रकाश की इस महती भूमिका का प्रकाश जन-जन तक पहुँचाएं।


No comments:

Post a Comment