विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, May 31, 2020

भारतीय किसान यूनियन जनशक्ति की महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष क्षमा बाजपेई स्कूल की फ़ीस माफ़ करने को लेकर दिया बयान






प्रदुम दीक्षित जिला संवाददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स लखनऊ

लखनऊ :- उत्तर प्रदेश लखनऊ भारतीय किसान यूनियन जनशक्ति की महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष क्षमा बाजपेई ने कहा सरकार द्वारा दिए गए आदेशों पर पानी फेरती दिखी स्कूल और कॉलेज 

जानकारी के लिए बता दे कोरोना महामारी के चलते परेशान जनता अपने बच्चों फीस जमा करने में असमर्थ लेकिन स्कूल के अध्यापको के द्वारा अभिभावकों पर फीस के प्रेशर बनाया जा रहा है जिसको लेकर भरतीय किसान यूनियन जन शक्ति महिला प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष क्षमा बाजपेई ने अपनी गुस्सा जाहिर किया ।

*किसानों और मजदूरों पर बन बैठा बोझ*

लोक डाउन के दौरान किसान और मजदूर के बच्चे स्कूल में पढ़ते थे उनको भी  अब फीस देना बहुत मुसीबत और मशक्कत उठानी पड़ेगी सरकार अपने फैसले पर कायम क्यों नहीं है यही नही जो मजदूर काम करके अपने बच्चों को पढ़ाई लिखाई करवा रहे थे आज हालत बेहाल हो चुकी है सरकार को इस मामले को संज्ञान में लेते हुए फीस माफ करने का आदेश जारी करना चाहिए।

*ऑनलाइन पढ़ाई करने के नाम पर विद्यालय धन को बटोरने में लगे*

ऑनलाइन पढ़ाई का झांसा देकर स्कूल व कालेज धन को बटोरने में लगे हैं जबकि कुछ बच्चे ऐसे हैं जिनको ऑनलाइन के बारे में कोई जानकारी नहीं है और माता-पिता के पास कोई एंड्रॉयड फोन भी उपलब्ध नहीं है ऐसी स्थिति में भला ऑनलाइन पढ़ाई कैसे की जाए यही नहीं कुछ ऐसे अभिभावक है  जिनके पास एंड्रॉयड फोन  नहीं है उनके बच्चे इस पढ़ाई  को कैसे अध्ययन करें जबकि पढ़ाई फीस के लिए विद्यालयों से फोन आना चालू हो गये है जब कि 3 महीना हो गया है लॉक डाउन के इस समय  किसानों व मजदूरों  को  रोटी चलाने के लाले पड़  हैं  आखिर इस स्थित में भला फीस कैसे जमा कर सकते है यह उत्तर प्रदेश के लिए बना बड़ा  सवाल है ।


 

 



 



No comments:

Post a Comment