खिदमत ए आवाम युवा समिति ने निजी स्कूलों के फीस वसूली पर की कार्यवाही की मांग




लोनी,गाजियाबाद। जैसा कि हमेशा देखा गया है कि खिदमत ए आवाम युवा समिति पिछले कई सालों से देश हित के मुद्दे, जनता को ध्यान में रखकर उनकी आवाज़ उठाती आई है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए समिति ने निजी स्कूल संचालको द्वारा हो रहे शोषण को रोकने और छात्रों की फीस माफ करने के लिए जिलाधिकारी के नाम उपजिलाधिकारी की गैर मौजूदगी में तहसीलदार को ज्ञापन दिया है। जिसमे समिति के कार्यवाहक अध्यक्ष मो. अहमद ने बताया कि जैसा कि सभी को पता है लॉकडाउन के दौरान जनता के रोज़गार पर सबसे ज़्यादा प्रभाव पड़ा है। लेकिन निजी स्कूल संचालक इससे कोई लेना - देना नही मानते और ये स्कूल संचालक जनता से लॉकडाउन के दौरान जितने भी महीने बीते है उनकी मोटी मोटी फीस वसूलने के लिए भोली भाली जनता पर दबाव बना रहे है। 

समिति के महासचिव नौशाद सैफी ने बताया कि स्कूल संचालक फीस ना भरने पर परिजनों को इनके बच्चो को स्कूल से निकालने की धमकी तक देने से भी नही बच रहे है, और अगर ऐसा होता है तो ये बच्चो के भविष्य को लेकर बड़ा खिलवाड़ होगा। अगर निजी स्कूल संचालक ऐसा नही करते तो हमारे द्वारा एक बड़े आंदोलन का सामना करने को तैयार रहे।

समिति के सचिव सलमान मंसूरी ने बताया कि हमे ऐसा लगता है भविष्य में स्कूल संचालकों के ऐसे किसी फैसले से लोग जनता और उनके बच्चों के आत्मविश्वास में कमी आएगी। हमे डर है कि स्कूल संचालकों के इस रवैय्या से जनता आत्महत्या जैसे निर्णय ना लेने लगे।

समिति सचिव मो. आदिल ने कहा कि हम प्रशासन से अनुरोध करते है कि इस विषय पर प्रशासन द्वारा निजी स्कूलों के खिलाफ सख्ती से कार्यवाही अति आवश्यक है ताकि जनता को राहत मिल सके और बच्चो का भविष्य  भी बचाया जा सके।


 

 



 

Comments

Popular posts from this blog

सकारात्मक अभिवृत्ति

तुम मेरी पहली और आखरी आशा

बस और टेंपो की जोरदार टक्कर में 16 की मौत, कई लोग घायल