विज्ञापन

विज्ञापन

Thursday, June 4, 2020

लॉकडाउन में सीएससी संचालकों ने  डिजिटल वाॅरियर बन की लोगों की मदद






हमीरपुर। कोरोना जैसी घातक महामारी से बचाव के लिए लागू किए गए देशव्यापी लॉकडाउन में कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के वीएलई (विलेज लेवल एंटरप्रेन्योर) ने डिजिटल योद्धा का काम किया। लॉकडाउन के चलते सरकार ने जो भी आर्थिक मदद जनता के खातों में भेजी उसे आमजन तक पहुंचाने में सबसे आगे सीएससी के यही योद्धा रहे। इतना ही नहीं इन योद्धाओं ने लाॅकडाउन केे वक्त और भी तमाम सारी सुविधाएं सुदूर ग्रामीण इलाकों में लोगों तक पहुंचा कर उनकी मुश्किलें करने का प्रयास किया है। 

कॉमन सर्विस सेंटर के जिला प्रबंधक अमित कुमार सिंह ने बताया कि लॉकडाउन किए जाने के बाद सरकार द्वारा खातों में भेजी गई आर्थिक मदद डीजी-पे के माध्यम से कॉमन सर्विस सेंटर के संचालकों द्वारा लोगों को उपलब्ध कराई गई। इतना ही नहीं बैंक जाने में असमर्थ बुजुर्गों व असहाय लोगों को कॉमन सर्विस सेंटर के संचालकों ने उनके घर पर भी यह सुविधा उपलब्ध कराई। उन्होंने बताया कि लॉक डाउन अवधि में डीजी-पे के माध्यम से लगभग  5 करोड़ रुपए का भुगतान गरीबों को किया गया। जिला प्रबंधक ने बताया कि कोरोना से बचाव के प्रति लोगों को जागरूक करने में सबसे अहम भूमिका भी कॉमन सर्विस सेंटर के संचालकों ने निभाई। सुदूर ग्रामीण इलाकों में लोगों के घर-घर जाकर मास्क बांटे और उन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति जागरूक भी किया। उन्होंने बताया कि टेलीमेडिसिन के माध्यम से बीमार व्यक्ति को चिकित्सकीय परामर्श उपलब्ध कराना हो या फिर उज्ज्वला योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई धनराशि लोगों तक पहुंचानी हो, सीएससी के ये डिजिटल योद्धा हर मोर्चे पर हर वक्त डटे रहे।


 

 



 



No comments:

Post a Comment