विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, December 27, 2020

मुस्लिम फंड किरतपुर ने ज़रूरतमन्दों को बांटे लिहाफ


किरतपुर   दैनिक अयोध्या टाइम्स संवाददाता शरीफ मलिक  /मुस्लिम फंड चेरिटेबिल संस्था द्वारा हर साल की भांति इस वर्ष भी लिहाफ वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें गरीब,ज़रूरतमन्दों को 200 लिहाफ वितरित किये गए कार्यक्रम की अध्यक्षता मुस्लिम फंड के अध्यक्ष साईंम राजा ने की व मुख्य अतिथि श्रीमती मीना राजा ग़ज़नफर अली व मरियम साईंम रहे।कार्यक्रम की शुरुआत मौलाना शफीकुर्रहमान द्वारा पेश की गई नात ए पाक से हुई, कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए  मुख्य अतिथि श्रीमती मीना राजा ग़ज़नफर अली ने सम्बोधित करते हुए कहा कि मुस्लिम फंड की समस्त 10 ब्रांचों में हर वर्ष लिहाफ वितरण किये जाते है जो कि बहुत ही सवाब (पूण्य) का काम है इस तरह के कार्यक्रम आयोजित होते रहने चाहिए जिससे कि ज़रूरतमन्दों की ज़रूरते पूरी होती रहे,मुस्लिम फंड की नगर में मौलाना जौहर हायर इंस्टिट्यूट एजुकेशन,अब्दुल समी लॉ कॉलिज व अन्य प्रमुख शिक्षण संस्थाएं शिक्षा के छेत्र में मील का पत्थर साबित हो रही है। मुस्लिम फंड कमेटी के अध्यक्ष  कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए साईंम राजा ने कहा कि मुस्लिम फंड द्वारा हर वर्ष लिहाफो के वितरण के अलावा गरीब,ज़रूरतमन्दों को विधवा पेंशन,गरीब लड़कियों की शादी में इमदाद,व  अनेक सरकारी जनकल्याण कार्यक्रम में पूरा सहयोग किया जाता है,मुस्लिम फंड से कोई भी ज़रूरतमन्द खाली हाथ नही लौटता उन्होंने कहा कि ये पौधा राजा ग़ज़नफर अली खान मरहूम व मिर्ज़ा अब्दुल समी द्वारा लगाया गया था व अब बहुत बड़ा वटव्रक्ष बन गया है जिसकी शाखाओ से लोग लाभान्वित हो रहे है।

कार्यक्रम का संचालन जीएम अकीलुद्दीन ने किया इस अवसर पर अन्य अतिथियों ने कार्यक्रम को सम्बोधित किया,कार्यक्रम में सरपरस्त सूफी अब्दुल अजीज अंसारी,नायब सदर फैज़ान खान ,सेक्रेटरी मुंशी हसीनुद्दीन,वजाहतउल्ला खान, यामीन अंसारी,नसीम अर्शी,मरगूब हुसैन,चाँद खान, अली नवाज़ खान,मुहम्मद अय्यूब,शमीम अंसारी,शीराज़ अतहर खान,हामिद सिद्दीकी,शफीक चौधरी,सचिन अग्रवाल,ऋतुज शर्मा,याकूब मलिक,शब्बन जुनैदी, राशिद होटल वाले,रफीक कुरेशी,,दिलशाद अल्वी,शफीक मलिक,चौधरी सुमेर चंद,अज़ीम खान,आदि मौजूद रहे।कार्यक्रम को सफल बनाने में मुस्लिम फंड की समस्त स्टाफ का सहयोग रहा ,लिहाफ पाकर ज़रूरतमन्द साईंम राजा व मुस्लिम फंड कमेटी को दुआए देते चले गए।

No comments:

Post a Comment