विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, January 11, 2021

जिले के 32 टीकाकरण सत्रों पर नामित अधिकारियों की निगरानी एवं पर्यवेक्षण में हुआ दूसरा ड्राई रन

 अमेठी विजय कुमार सिंह

*अमेठी 11 जनवरी 2021,*  सोमवार को जिले के चिन्हित सभी 32 टीकाकरण सत्रों पर दूसरा ड्राईरन भारी तैयारियों के बीच हुआ। सभी 32 टीकाकरण सत्रों पर 15-15 लाभार्थियों को टीकाकृत करने का लक्ष्य था, कुल 480 लाभार्थियों के लक्ष्य के सापेक्ष 473 लाभार्थियों को ड्राईरन कोविड वैक्सीन टीकाकृत किया गया। आज होने वाले ड्राई रन का पूरा टास्क जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार व सीएमओ डा. आशुतोष दूबे के सतत् पर्यवेक्षण एवं निगरानी में हुआ। बताते चलें कि सभी 32 केंद्रों पर ड्राई रन के लिए 2-2 वैक्सीनेटर टीमें लगाई गई। सभी केंद्र की पर्यवेक्षण व निगरानी  हेतु अधिकारियों की तैनाती की गई। प्रत्येक टीम के साथ एक सुरक्षाकर्मी की भी तैनाती की गई। सोमवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जनपद के विभिन्न सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रो पर पहुंचकर होने वाले ड्राई रन के संबंध में मौजूद चिकित्सा अधिकारी से जानकारी ली एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए। अधिकारियों ने सीएससी में ड्राई रन की व्यवस्थाओं की पड़ताल की और प्रोटोकॉल के अनुरूप कार्य करने पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने ड्राई रन के लिए बनाए गए स्वागत कक्ष, प्रतीक्षा कक्ष,ऑब्जरवेशन रूम, एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्यूनाइजेशन (एईएफआई) कक्ष का निरीक्षण कर संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बताते चले कि सभी 32 केंद्रों पर कोविड पोर्टल में अंकित व्यक्तियों को ड्राईरन के लिए तय व्यवस्था के अनुसार स्वागत कक्ष में बिठाया। ड्यूटी में लगे सुरक्षा कर्मियों ने यह सुनिश्चित कराया कि कोई भी ऐसा व्यक्ति केंद्र में प्रवेश न करें जिसका विवरण पोर्टल पर अंकित नहीं हो। निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन करते हुए (तापमान, सेनीटाइज, मास्क) प्रतीक्षा कक्ष में फार्म भरने हेतु प्रवेश करेंगे। नाम पुकारे जाने पर वैक्सीन कक्ष में प्रवेश करेंगे। जिसमें वैक्सीन के विषय में जानकारी देकर वैक्सीन लगाई जाएगी। टीकाकृत व्यक्ति को ऑब्जर्वेशन रूम में करीब आधे घंटे रोका जाएगा। यह देखा जाएगा कि इसका कोई साइड इफेक्ट तो नहीं है। ऑब्जरवेशन रूम में टीकाकृत व्यक्ति को कोई परेशानी परिलक्षित होने पर तुरंत एईएफआई  (एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्यूनाइजेशन) रूम में शिफ्ट किया जाएगा। जहां एईएफआईफआई से निपटने हेतु समस्त आकस्मिक औषधियां उपलब्धता रहती है।

No comments:

Post a Comment