विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, January 15, 2021

पीसीएफ के क्रय केंद्रों पर नहीं मिल रहा बोरा,किसान परेशान

*पवन कुमार जिला संवाददाता अयोध्या*

*अयोध्या।* अमानीगंज विकास खण्ड में चल रहे पीसीएफ के दो क्रय केंद्रों पर किसानों को बोरा न मिलने से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।किसान बोरे के लिए परेशान है और क्रय केंद्र प्रभारी कुछ कहने को तैयार नहीं।बोरा न मिलने से जहां एक और धान बेचने में किसानों को परेशानी उठानी पड़ रही है तो वही दूसरी ओर भारी आर्थिक नुकसान भी झेलना पड़ रहा है।
ज्ञात हो कि विकास खण्ड अमानीगंज के डूड़ी व गडौली में पीसीएफ का क्रय केंद्र व कुमारगंज में विपणन का केन्द्र चल रहा है पीसी एफ के दोनों क्रय केन्द्रो पर किसानों को धान क्रय केंद्र तक लाने के लिए बोरा नहीं दिया जा रहा है और जो किसान किसी तरह बोरे का इंतजाम कर धान क्रय केंद्र तक पहुंचा रहे हैं उन्हें उनका बोरा वापस भी नहीं मिल रहा है।क्रय केंद्रों द्वारा प्रति बोरा 41 किलो 300 ग्राम की भर्ती मांगी जा रही है और बाजार में अमूमन ₹20 का एक बोरा किसानों को मिल रहा है ऐसे में एक कुंतल धान बेचने के लिए उन्हें ₹50 बोरे के लिए खर्चा करना पड़ रहा है इतना ही नहीं यदि किसी किसान ने महज 300 ग्राम वजन वाली प्लास्टिक की बोरी में ही धान पहुंचाया तो भी उसे 41 किलो 300 ग्राम की भर्ती देनी पड़ रही है ऐसे में तकरीबन सात से आठ सौ ग्राम धान बोरे के वजन के नाम पर किसान से अतिरिक्त लिया जा रहा है। जिसका उन्हें कोई मूल्य नहीं दिया जा रहा है। इसके अलावा धान में भी 5 से 10 परसेंट तक की भारी कटौती की जा रही है। तथा विपणन के केंद्र कुमारगंज में भी किसानों को धान बेचने के लिए कई कई दिनों तक इंतजार करना पड़ रहा है । इन सब समस्याओं के साथ-साथ केंद्रों पर बिचौलियों का भी भारी बोलबाला है जिससे किसानों के लिए क्रय केंद्रों पर धान बेच पाना टेढ़ी खीर हो गया है।और छोटे किसान उपज को कम रेट पर खुदरा बाजारों में बेचने पर मजबूर हो रहे हैं।घटौली निवासी किसान रमापति व नरसड़ा निवासी श्याम बहादुर सिंह बताते हैं कि बोरे की समस्या के चलते हैं अब तक वे धान क्रय केंद्र नहीं पहुंचा सके हैं।भाजपा के मंडल अध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने जनप्रतिनिधियों के निर्देश पर क्रय केंद्रों का अवलोकन किया है और किसानों की बोरे की समस्या से अवगत भी करा दिया है।
किसानों की उक्त समस्या के बारे में सहायक खाद्य विपणन अधिकारी अजीत प्रताप सिंह का कहना है कि मिलर की लापरवाही के चलते बोरा मिलने में असुविधा हो रही है क्रय केंद्र प्रभारी से वार्ता कर समस्या दूर कराई जाएगी । एआर कोऑपरेटिव वकील वर्मा ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है किसानों को हर हाल में बोरा दिलाया जायेगा।

No comments:

Post a Comment