विज्ञापन

विज्ञापन

Thursday, January 21, 2021

गांव में ही अनाज का भंडारण कर सकेंगे यूपी के किसान

 राहुल त्रिपाठी संवाददाता संतकबीरनगर
अनाज भंडारण के लिए 5 हजार गोदाम बनाने जा रही योगी सरकार
किसानों की आय बढ़ाने की योगी सरकार की योजना पर केंद्र की मुहर
भंडारण योजना से प्रदेश के किसानों की किस्‍मत बदलेगी योगी सरकार
सही वक्‍त पर अपना अनाज बेच कर अधिक मुनाफा कमा सकेंगे किसान
भूमि चिन्‍हांकन के साथ ही शुरू होगी भंडारण गृह निर्माण की तैयारी
भंडारण गोदामों में स्‍थानीय लोगों को रोजगार भी सरकार, योगी सरकार किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए बड़ी योजना पर काम शुरू करने जा रही है । प्रदेश के किसान अब गांवों में ही अनाज का सुरक्षित भंडारण कर सकेंगे। योगी सरकार अनाज भंडारण के लिए प्रदेश 
भर में गोदाम बनाने जा रही है । पहले चरण में 5 हजार भंडारण गोदाम बनाने की योजना पर केंद्र ने मुहर लगा दी है । भूमि के चयन के साथ ही राज्‍य सरकार गांवों में अनाज भंडारण गोदामों का निर्माण शुरू करेगी।
किसानों को अपना अनाज रखने के लिए दूर नहीं जाना होगा। फसल खराब होने की मजबूरी में उसे कम कीमत में भी नहीं बेचना पड़ेगा। किसानों को अपनी फसल की अब योगी सरकार और बेहतर कीमत दिलाएगी।  अनाज भंडारण की सुविधा होने के बाद किसान अपना अनाज सही समय पर बाजार में बेच कर ज्‍यादा मुनाफा कमा सकेंगे ।
गांवों में अनाज भंडारण गोदाम के जरिये योगी सरकार किसानों की किस्‍मत बदलने जा रही है। फसल की कीमत के लिए बिचौलियों और बाजार के रुख पर निर्भरता से भी किसानों को मुक्ति मिल जाएगी। उत्‍तर प्रदेश सहकारिता विभाग ग्राम पंचायतों और ब्‍लाक स्‍तर पर पहले चरण में 5 हजार अनाज भंडारण गोदाम बनाने की तैयारी कर रहा है।
अनाज भंडारण गोदाम बनाने की योजना पर करीब 2500 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इन सभी गोदामों की कुल भंडारण क्षमता करीब 8.60 लाख मीट्रिक टन होगी । इन गोदामों में किसानों के अनाज के साथ ही सरकार भी स्‍थानीय स्‍तर पर खरीदे गए अनाज का भंडारण भी कर सकेगी।
अनाज भंडारण गोदाम की योजना को योगी सरकार गांवों में रोजगार से भी जोड़ने जा रही है । भंडारण निगमों में स्‍थानीय लोगों को केयर टेकर, संचालक और बाबू के पदों पर संविदा और स्‍थाई दोनों तरह से रोजगार के अवसर दिए जाएंगे।

No comments:

Post a Comment