विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, February 14, 2021

भाकपा माले ने राजापाकर प्रखंड में किसान मजदूर महापंचायत का आयोजन किया

 भाकपा माले

राजापाकर (वैशाली )संवाद सूत्र दैनिक अयोध्या टाइम्स।

राजापाकर प्रखंड अंतर्गत बखरी बड़ाई पंचायत सरकार भवन के परिसर में किसान मजदूर महापंचायत का आयोजन माले जिला सचिव योगेंद्र राय की अध्यक्षता में आयोजित हुई। इस किसान मजदूर महापंचायत को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान महासभा के राज्य अध्यक्ष विशेश्वरप्रसाद यादव ने कहा की ना खाऊंगा और न खाने दूंगा का नारा देने वाले नरेंद्र मोदी के राज में एक भी क्षेत्र वैसा नहीं जिसमें भ्रष्टाचार नहीं हो। बखरी बड़ाई पंचायत में 3897 मनरेगा मजदूर निबंधित हैं ।2000 को कागज पर रोजगार देने की बात दिखाई जा रही है ।स्वरों के खाते में दसियों हजार राशि गई परंतु एक भी मनरेगा मजदूर वैसा नहीं मिले जिन्हें ₹200 से ज्यादा दिया गया हो। बाकी सारी राशि मुखिया या काम करने वाली एजेंसी ने लूट कर दिया। यही हाल तमाम जनकल्याणकारी योजनाओं में पूरे देश की है। श्री यादव ने कहा की कृषि विकास के लिए बुनियादी अधिसंरचनात्मक काम के लिए बजट में आवंटन नहीं दिया गया तमाम जनकल्याणकारी योजनाओं में आवंटन घटा दिया गया। इस वजह से चौरों से जल निकासी का प्रबंध नहीं हो सका। तीन कृषि कानून लाकर मोदी की सरकार ने खेती किसानी से भी किसानों को बेदखल करने का फरमान जारी कर दिया है। यादव ने पुलवामा शहीद सैनिकों और दिल्ली बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन में अब तक सही 228 किसानों को नमन करते हुए जवानों और किसानों के लिए संघर्ष को आगे बढ़ाने का संकल्प व्यक्त किया। इस महापंचायत को किसान नेत्री डॉक्टर प्रेमा देवी, किसान नेता डॉक्टर भिखारी सिंह, राम बहादुर सिंह, किसान महासभा के जिला अध्यक्ष सुमन कुमार, सकलदेव राय, चंद्रशेखर सिंह, शंभू सिंह ,चंदेश्वर राय, रघुवीर साहनी महताब राय रामचंद्र सहनी ,रामदीप राय ,मंती देवी, काली पासवान, सहित दर्जनों किसानों मजदूरों ने संबोधित किया। स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं के लोन को माफ करना ,तीनों काला कृषि कानूनों को तथा किसान नेताओं पर लादे गए झूठे मुकदमे को वापस लेने, जल निकासी का प्रबंध करने, जन कल्याणकारी योजनाओं में आवंटन बढ़ाने का सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया।

No comments:

Post a Comment