विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, February 1, 2021

इंटर का परीक्षा देने जा रहे छात्र और उसके पिता को ट्रक ने कुचला

बिदुपुर (वैशाली) संवाद सूत्र दैनिक अयोध्या टाईम्स

 सहदेई बुजुर्ग ओपी क्षेत्र के अंतर्गत एनएच 322 अंधरावर चौक के निकट सोमवार की सुबह तेज रफ्तार ट्रक ने इंटर की परीक्षा दिलाने जा रहे मोटरसाइकिल सवार पिता-पुत्र एवं भतीजा को रौंद दिया।जिससे पिता-पुत्र की मौत घटनास्थल पर ही हो गई जबकि एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया।

घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की सुबह एनएच 322 अंधरावर चौक के निकट ट्रक की ठोकर से मोटरसाइकिल सवार जंदाहा थाना के कालापहाड़ गांव निवासी मनोज सिंह एवं मनोज सिंह के पुत्र शिवम कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई।जबकि मनोज सिंह का भतीजा सौरव कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गया।

घटना के संबंध में बताया गया कि सोमवार की सुबह मनोज सिंह अपने पुत्र शिवम कुमार को लेकर इंटर की परीक्षा दिलवाने राम विदेशी सिंह कॉलेज लालगंज जा रहे थे।इसी दौरान वह अंधरावर चौक के थोड़ा आगे गिट्टी बालू के दुकान के निकट खड़ी होकर अपने भतीजा का इंतजार करने लगे।जिस वक्त भतीजा वहां पहुंचा उसी दौरान एक तेज रफ्तार ट्रक ने तीनों को सड़क पर रौंदते हुए मौके से भाग निकला।घटनास्थल पर ही मनोज कुमार सिंह एवं उनके पुत्र शिवम कुमार की मौत हो गई।जबकि सौरभ कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गया।उसे इलाज के लिए आनन-फानन में हाजीपुर सदर अस्पताल ले जाया गया।जहां उसकी स्थिति चिंताजनक बताई जा रही है।घटना की सूचना मिलने के बाद सहदेई बुजुर्ग ओपी की पुलिस मौके पर पहुंची।इसके अलावा मौके पर जंदाहा एवं देसरी थाना की पुलिस भी पहुंची।बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी घटनास्थल पर जमा हो गए।बीच सड़क पर पड़ा रहने एवं लोगों की भीड़ के कारण लगभग चार घंटे तक एनएच 322 पर यातायात पूरी तरह बाधित रहा।वहीं घटना की सूचना पर परिजन भी मौके पर पहुंचे।परिजनों की चीत्कार से पूरा वातावरण गमगीन हो रहा था। घटना के बाद मौके पर पहुंचे परिजन शव को अपने साथ घर ले गए।उन्होंने पुलिस से कहा कि घर जाने के बाद ही वह शव को पोस्टमार्टम हेतु सौंपेंगे।जिसके बाद पुलिस ने उन्हें शव को घर ले जाने की इजाजत दे दी।मिली जानकारी के अनुसार मनोज सिंह बीएसएनएल में कार्यरत थे।वर्तमान में वह गुरु चौक स्थित बीएसएनएल के एक कार्यालय में काम कर रहे थे।शिवम कुमार उनका इकलौता पुत्र था।मनोज सिंह को केवल एक पुत्र जिसकी मौत उनके साथ हो गए और अब केवल एक छोटी पुत्री रानी कुमारी है।

No comments:

Post a Comment