विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, May 17, 2021

नारायणी नदी में बहते हुए देखी गयी लाश

सारण (ब्युरो चीफ संजीत कुमार) दैनिक आयोध्या टाईम्स 

सोनपुर--- सूबे के कई जगहों पर गंगा नदी में कई शव मिलने के बाद जहाँ सरकार एक्शन मूड में है वहीं दूसरी  सोनपुर के गंगा- गंडक के संगम नारायणी नदी स्थल के थोड़ी ही दूरी पर गजेंद्र मोक्ष देवस्थानम ,नौलखा मंदिर के समीप रविवार को शव देखे जाने से सनसनी फैल गई।नदी मे बहते शव को देखने के लिए कुछ लोग गंडक नदी घाट पर इकट्ठा हो गए। शव धीरे-धीरे नदी में बहते हुए काफी दूर निकल गया। इस संबंध में पूछे जाने पर हरिहरनाथ ओपी प्रभारी बिभा रानी  ने बताई की पुलिस को नदी में शव देखे जाने की सूचना नहीं है। वही शव नदी में यहाँ कहां से आया इस बात की चर्चा लोगों में खूब हो रही है लोगो मे यह भी बात उठ रही हैं कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद अगर नदी में प्रभावित किया गया है ऐसे में संक्रमण फैलने की आशंका है। 

बता दे कि गंगा नदी में बड़ी संख्या में लावारिस शव मिलने के बाद राज्य सरकार एक्शन में है। गृह विभाग ने शवों की अंत्येष्टि को लेकर कई दिशा निर्देश जारी किया है।जारी दिशा-निर्देशों के तहत शवदाह स्थलों या अन्य किसी स्थान पर शवों को बिना जला, अधजला या बिना दफनाया हुआ नहीं छोड़ा जाएगा। लावारिस शव मिलने पर नियम के तहत सम्मानपूर्वक अंत्येष्टि की जाएगी। शवों के अंतिम संस्कार के लिए सरकार द्वारा दी जा रही सहायता जिसमें कोरोना मरीज के शव या लावारिस शव का बिना शुल्क अंत्येष्टि, बीपीएल को मिलनेवाला कबीर अंत्येष्टि अनुदान लाभुकों को दिलाना सुनिश्चित करने को कहा गया है।इसके अलावा निजी अस्पताल से समन्वय बनाकर शवों की पूर्ण अंत्येष्टि सुनिश्चित करने को कहा गया है। साथ ही, शवदाह स्थलों, घाटों पर पुलिस की तैनाती करने और शवों के सम्मानपूर्वक अंत्येष्टि को जागरूकता अभियान चलाने को कहा गया है।

No comments:

Post a Comment