विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, May 4, 2021

वजन बढाने के उपाय

ज्यादा वजन हमारी परेशानी का कारण होता है तो कम वजन भी परेशानी बन जाता है। खासकर जब बच्चो का वजन कम हो, क्योकि बच्चो का सही वजन ही सही तरह से बच्चो  के विकास मे मददगार होता है।

कम वजन  के बच्चे सही लम्बाई भी नही पा सकते ओर फिर कम वजन  के साथ साथ कम लम्बाई  का भी सामना करना पड़ता है, इसलिए शुरु से ही बच्चो के विकास  पर नजर रखें।
 किस तरह का खानपान, बच्चो के सही वजन और लम्बाई  बढ़ाने मे मददगार  साबित होगा।
(1). प्रोटीन वाला भोजन जैसे मूंगफली, खजूर, बीन्स, दाले थोडी-थोडी मात्रा मे देते रहे।
(2). जौं 1चम्मच रात मे भिगो दें।
सुबह छिलका निकाल ले,
दूध मिलाकर खीर बनाये उसमे खजूर भी डाल सकते हैं।
बहुत चमत्कारी ढंग से वजन बढाती है ये खीर। सप्ताह मे 3 बार दे।
(3). चावल की खीर
अच्छे ढंग से से मेवा डालकर बनाये।
थोडा देशी घी डाले।
सप्ताह मे 2 बार दें, बहुत फायदा होगा।
(4). 4 बादाम  रात मे भिगा दे, सुबह छिलका उतार कर पीस ले, उसमे 1 चम्मच बटर और थोडी मिश्री मिलाकर खाली पेट दे, फिर दूध पिला दे।
(5). दूध  मे चीनी और शक्कर की जगह शहद मिलाकर दे।
(6). जड़ वाली सब्जी खिलाये जैसे गाजर, चुकन्दर, शलजम, आलू, मूली आदि।
(7). दिन मे कम से कम 2 गिलास दूध पिलाये।
(8). दिन मे थोडे-थोडे गैप पर कुछ भी खिलाते रहे। भोजन में ज्यादा गैप न रखे।
(9). यदि बच्चा केला खा ले तो बेहतर है नही तो बनाना शेक जरुर पिलाये उसमे खजूर भी मिला सकती है।
(10). 1 चम्मच देशी घी मे 1चम्मच देसी खांड मिला ले और रोटी से खिलाये।
महीने मे 2 से 3 बार देने से बहुत तेजी से वजन बढता है।
(11). जैसे वजन कम करने के लिये व्यायाम जरुरी है वैसे ही वजन बढाने के लिये भी शारिरिक श्रम जरुरी है।
(12). साल से बच्चे  को रस्सी कूदना शुरु करा दे। न तो कभी आँखे  कमजोर पड़ेंगी और लम्बाई  भी तेजी से बढेगी और वजन कम या ज्यादा  की भी समस्या नही होगी।
साथ ही साइकिल चलवाये, बैडमिंटन वगैरह अच्छे ओर आसन उपाय है शारिरिक विकास के लिये।
(13). सोयाबीन को भोजन मे शामिल  जरुर करे, दाल बनाकर दे, उबाल कर भून कर दे या सोयाबीन  का दूध  बना कर दे।
सोयाबीन का दूध तेजी से वजन और लम्बाई  बढाता है, आजमाया हुया नुस्खा  है।
(14). बच्चो को फास्ट फूड से दूर रखे, साथ ही बच्चो को समय दें, खुश रखे, उनके साथ समय बिताये, उनके खेल मे शामिल हो।

डॉ. दुर्गा प्रसाद पांडेय
प्राकृतिक चिकित्सक
मुंबई

No comments:

Post a Comment