विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, May 29, 2020

महामारी में भी अपनी जिम्मेदारी को बखूबी से निभा रहे विधुत विभाग के अधिकारी व कर्मचारी




*ब्यूरो रिपोर्ट विनय सिंह*

कोरोना संक्रमण (कोविड़ 19 ) जैसी महामारी बचने और उसके संक्रमण को  रोकने के लिए जिले में सभी विभाग के अधिकारी कर्मचारी अपनी जिम्मेदारी का निर्वाहन कर रहे हैं। ऐसे कठिन समय में बगैर किसी परवाह के विद्युत विभाग के अधिकारी कर्मचारी भी फील्ड पर रहकर कोरोना संक्रमण के बीच रात- दिन अपनी सेवाएं दे रहे है। परिस्थितियां चाहे जैसी भी हो विद्युत विभाग के अधिकारी कर्मचारी भी कर्तव्यनिष्ठ होकर कार्य में लगे हुए है। हैदरगढ़ विद्युत अधिशासी अभियंता सत्येंद्र पांडेय अपने अधिनस्थ अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ इस कठिन समय में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था सुचारु रूप से चालू रहे व बिजली आपूर्ति बाधित न हो इसके लिए रात-दिन एक किए हुए है।

एक ओर कोरोना संक्रमण के चलते जहाँ पूरा देश परेशान है। इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए सरकार के साथ पूरा देश एक साथ खड़ा हुआ है। पिछले करीब ढाई माह से लोग अपने घरों में रहने को मजबूर है। लेकिन फिर भी ऐसे विपरीत हालात में हमारे सभी अधिकारी- कर्मचारी सबकुछ भूलकर कर्मसेवा को सर्वोपरि मानकर मैदान में डटे हुए है। डाँक्टर, पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों के साथ-साथ विद्युत अधिकारी- कर्मचारी भी इस जंग के बीच अपने कार्यों का बखूबी से निर्वहन कर रहे। अधिशासी अभियंता सत्येन्द पांडे की अगुवाई में जेई सहित विद्युत विभाग के सभी कर्मचारी इस दौरान विशेष रूप से विद्युत आपूर्ति बाधित न हो इसके लिए बराबर काम में जुटे हुए है। कही पर भी बिजली फाल्ट की सूचना मिलने पर फौरन पहुंचकर उसे दुरूस्त करते है।

कोरोना संक्रमण के बीच घरों में रह रहे लोगों को बिजली की समस्या की कोई परेशानी न हो। इसी बात को ध्यान में रखते हुए अधिशासी अभियंता  क्षेत्रवासियों को बेहतर विद्युत आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिए मानिटरिंग कर बड़ी से बड़ी समस्याओं को  फौरन दुरूस्त कराते है। उनका कहना है कि कोरोना संकट के बीच घरों में रह रहे लोगों बिजली की समस्या ना होने पाए यह हमारी पहली प्राथमिकता के साथ जिम्मेदारी भी है जिसका हम निर्वहन कर रहे है। साथ ही हमारे जेई व विद्युत कर्मचारी भी अपनी परवाह किए बिना पूरी लगन के साथ कोरोना संक्रमण के बीच अपने-अपने कार्यों में लगे हुए है। अभी हाल ही में कई बार आई तेज आंधी व पानी से विद्युत पोल खंभे आदि क्षतिग्रस्त हो गए जिसको निर्धारित समय के भीतर ही दुरूस्त कराया गया।


 

 



 

No comments:

Post a Comment