विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, May 11, 2020

नर्से स्वास्थ्य प्रणाली की रीढ हैं

आज पूरा विश्व कोविड -19 से उपजी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चपेट में है दोस्तों पूरे विश्व में 50 लाख  से अधिक पॉजिटिव मामले आए हैं जिनमें 2,78,000 से अधिक लोगों की जान गई है जैसा कि हम जानते हैं कि 1918 में स्पेनिश फ्लु के एक सदी बाद फिर से दुनिया ऐसी वैश्विक महामारी से ग्रस्त है विकासशील और विकसित देशों में बिना भेदभाव किए यह मर्ज सुरसा के मुंह की तरह धरती के हर हिस्से को अपने दायरे में लेता जा रहा है इस अजीब वायरस की तोड़ खोजने में दुनिया भर की बायोटेक्नोलॉजी संस्थाएं और शोध संस्थान रात-दिन एक किए हुए हैं अपनी हार ना मानने वाले धुन के चलते ही मनुष्य सभी जीवधारियों में ऊंचा स्थान रखता है तभी तो मनुष्य तन मन और धन से वायरस को निष्क्रिय करने के हरसंभव प्रयास में जुटा है l

दोस्तों इस वैश्विक महामारी कोबिड- 19 की लड़ाई में योद्धा के रूप में दुनिया की सभी नर्से स्वास्थ्य प्रणाली का आधार है दोस्तों प्रत्येक वर्ष 12 मई को पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जाता है जिसकी शुरुआत अंतरराष्ट्रीय नोबेल सर्विस देने वाली फ्लोरेंस नाइटेंगल की जन्म दिवस के अवसर पर मनाया जाता है इसकी शुरुआत 1965 में हुई थी दोस्तों हम जानते हैं कि अस्पताल में रोगियों या पीड़ितों की सेवा करने के लिए नर्से होती हैं बेशक डॉक्टर उन्हें इलाज के लिए दवाइयां लिखता है लेकिन बिना नर्सों की सेवा भाव के मरीज कभी भी सहज नहीं हो पाता है लेकिन दोस्तों विश्व के तमाम देशों में रोगियों के अनुपात में नर्सों की काफी कमी है और नर्सों की  काम के बराबर सम्मान भी नहीं मिलता और ना उतना वेतन मिलता है जितना उनके लिए आवश्यकता है नर्से पीड़ित मरीज का सेवा भाव से दिल जीत लेती है और आत्मीय अनुभव का एहसास दिलाती हैं लेकिन नर्सों के लिए वह सम्मान और वेतन नहीं मिलता जिनका वह हकदार है दोस्तों यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के प्रमुख घेबरेयेसस ने कहा है कि नर्से  किसी भी देश की स्वास्थ्य प्रणाली की रीढ है आज नर्से कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई के अग्रिम मोर्चे पर डटी है दोस्तों विश्व भर में कुल स्वास्थ्यकर्मियों की आधे से ज्यादा संख्या नर्सों की है और स्वास्थ्य प्रणाली में उनका अहम योगदान है दोस्तों विश्व स्वास्थ संगठन ने सभी देशों के लिए उपायों की सिफारिश की है नर्सों को शिक्षा व रोजगार के लिए फंडिंग को बढ़ाया जाना चाहिए नर्सों को वैज्ञानिक टेक्नोलॉजी और समाज विज्ञान से जुड़े विषयों में प्रशिक्षण प्रदान करना चाहिए व नए नेतृत्व पदों को सृजित करना और युवा नर्सों में नेतृत्व क्षमता विकसित करना नर्सों में उनकी संभावनाओं के अनुरूप जिम्मेदारियां निभाने के लिए जरूरी माहौल सुनिश्चित करना कामकाज के हालात को बेहतर बनाना और पर्याप्त संख्या में स्टाफ की नियुक्त करना लाइन की आवश्यकता ओके अनूप नीतियों को लागू किया जाना नरसिंह के क्षेत्र में नियामक को का आधुनिकीकरण होना और वैश्विक स्तर पर स्वीकार मानक स्थापित करना चाहिए दोस्तों किसी भी देश के स्वास्थ्य प्रणाली का आधार होती है नर्से इसलिए सरकार को इनकी तरफ ध्यान देने की जरूरत है l

No comments:

Post a Comment