विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, May 23, 2020

निजी कोरंटाइन सेंटर स्थापित कर प्रवासियों को उपलब्ध करा रहें भोजन




*ब्यूरो रिपोर्ट:-विवेकानंद शुक्ला "विवेक"*

हैदरगढ़ बाराबंकी- कोरोनावायरस महामारी के चलते जहां सरकारी अमला व प्रधान लोग सरकार से मदद की आश लगाए बैठे हैं, और काफ़ी हद तक मदद के नाम पर खानापूर्ति कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ तमाम समाजसेवी संस्थाएं 2 महीने से चल रहे लॉक डाउन के दौरान दूसरे प्रदेशों से आ रहे प्रवासी मजदूरों कामगारों को भोजन करा रहे हैं ,वहीं तमाम लोग उन्हें नाश्ता पानी करा कर मानव सेवा का कार्य कर रहे हैं। इसी कड़ी में क्षेत्र के खरसतिया गांव में पूर्व प्रधान के बी सिंह की अगुवाई में एक कमेटी बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों कामगारों को अपने निजी जमीन में क्वॉरेंटाइन करा रखा है, ताकि गांव वासियों को किसी तरह के मुसीबत से बचाया जा सके। इस क्वॉरेंटाइन सेंटर में 22 लोग मौजूद हैं। जिन्हें दोनों टाइम का खाना नाश्ता के अलावा चिकित्सा की व्यवस्था यह कमेटी देख रही है । जिसकी सराहना गांव वासी ही नहीं आसपास के गांव के लोग भी कर रहे हैं । जैसा कि इस समय देखने को मिल रहा है ।अन्य प्रदेशों से आए तमाम मजदूर व कामगार करोना संक्रमित पाए जा रहे हैं जिससे जिले में ही नहीं प्रदेश में भी  कोरो ना पॉजिटिव की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है। ऐसे में बिना किसी सरकारी खर्च के लगातार बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों को सीधे परीक्षण के बाद क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। बताया गया है कि मुंबई से आने वालों में नसीब मुस्तकीम, इमरान, राजू ,बबलू, इंसाद,अरशद,हरिप्रसाद ,अशोक ,नंदे ,वसीम शामिल है । वहीं गुजरात से आए हुए लोगों को भी क्वॉरेंटाइन किया गया है । कमेटी में विशेष सहयोग करने वाले अरविंद सिंह, केसर सिंह ,मोहित सिंह ,मुकेश अवस्थी,प्रदीप सिंह, चांद मोहम्मद, गुड्डू सिंह आदि के सहयोग से यह सारी व्यवस्था चलाई जा रही है।

इस तरह का सेवा भाव जरूर समाज में चेतना लाने का काम करेगा और लोगों में अपने गांव समाज के लिए कुछ करने की ललक पैदा होगी तों वही दूसरी तरफ सरकार द्वारा प्रदत्त सरकारी मदद मे खानापूर्ति करने वालों के मुंह पर जोर दार तमाचा है,


 

 



 

No comments:

Post a Comment