विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, December 25, 2020

सिविल सर्जन ने कार्यशाला आयोजन के उद्देश्य एवं कोविड-19 टीकाकरण में मीडिया की भूमिका के बारे में बताया


सहरसा (संवाद सूत्र) दैनिक अयोध्या टाइम्स कोविड-19 टीकाकरण विषय पर मीडिया संवेदीकरण कार्यशाला का आयोजन जीएनएम प्रशिक्षण संस्थान के सभागार में जिला स्वास्थय समिति एवं सीफार के समन्वय में किया गया कार्यशाला का आयोजन सिविल सर्जन ने कार्यशाला आयोजन के उद्देश्य एवं कोविड-19 टीकाकरण में मीडिया की भूमिका के बारे में बताया 

सहरसा 23, दिसंबर :

कोविड-19 संक्रमण के जोखिम को कम करने एवं आमजनों को इससे बचाव के उपाय सम्बन्धी जागरूकता के प्रचार-प्रसार में मीडिया के भूमिका का विशेष महत्व है | इस कोरोना काल में मीडिया के प्रतिनिधियों ने भी कोरोना वारियर एवं कोरोना फाइटर की पंक्ति में अपनी विशेष पहचान बनाई है| जिले में कोविड-19 टीकाकरण की तैयारी अपने अंतिम चरण में है | फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए जल्द ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध कराया जायेगा एवं टीकाकरण के कार्य की शुरुआत जिले में की जाएगी | उक्त बातें जिले के सिविल सर्जन डॉ अवधेश कुमार ने कोविड-19 टीकाकरण विषय पर आयोजित मीडिया कार्यशाला में कही | जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा कोविड-19 टीकाकरण को लेकर मीडिया संवेदीकरण कार्यशाला का आयोजन जीएनएम स्कूल, सहरसा में किया गया | कार्यशाला का संयुक्त उदघाटन सिविल सर्जन एवं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी एवं अन्य के द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया | उद्घाटन मौके पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी के साथ-साथ जिला स्वास्थ्य समिति के पदाधिकारी एवं  यूएनडीपी, केयर इंडिया, यूनिसेफ, डब्लूएचओ, पाथ एवं सीफार आदि के प्रतिनिधि उपस्थित रहे | सिविल सर्जन ने बताया इस मीडिया संवेदीकरण कार्यशाला का आयोजन जिला स्वास्थ्य समिति के द्वारा सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) के सहयोग से किया गया है | कोविड-19 टीकाकरण को लेकर व्यापक पैमाने पर जन जागरूकता फैलाने का निर्देश, मीडिया की भूमिका होगी अहम 

कार्यशाला आयोजन के उद्देश्य पर चर्चा करते हुए जिले के सिविल सर्जन डॉ. अवधेश कुमार ने उपस्थित मीडिया प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा आगामी दिनो में कोविड-19 टीकाकरण का कार्य भारत एवं राज्य सरकार से प्राप्त मार्ग निर्देश के अनुसार प्रारंभ होगा | टीकाकरण कार्यक्रम के कवरेज में मीडिया की भूमिका भी अहम रहेगी | अतः इसी उद्देश्य से आज इस मीडिया सेंसिटाईजेसन कार्यशाला का आयोजन किया गया है | कार्यशाला में शामिल प्रतिभागियों एवं मीडिया प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए सिविल सर्जन ने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण को लेकर व्यापक पैमाने पर जन जागरूकता फैलाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया  इसके लिये विभिन्न समाचार पत्रों एवं मिडिया के माध्यम से इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी समाज में आम लोगों तक पहुंचाने के अलावा स्वास्थ्य विभाग की बैठकों, आशा कर्मियों की बैठक सहित अन्य विभागीय बैठकों में इस पर विस्तृत चर्चा करने का दिशा निर्देश दिया गया है। जिससे समाज में इसे लेकर व्यापक जन जागरूकता फैलाई जा सके। ताकि,  सामान्य लोगों के संचालित होने वाले टीकाकरण अभियान के दौरान इसे लेकर किसी तरह की कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। सिविल सर्जन के द्वारा कोविड-19 से जुड़े तकनिकी बातों की जानकारी भी दी गयी | 

मतदान केन्द्रों की तरह ही कार्य करेंगे टीकाकरण बूथ, सत्रवार होगा वैक्सीन देने का कार्य :

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी कुमार विवेकानंद ने कार्यशाला में भाग ले रहे प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 वैक्सीन के रख-रखाव हेतु जिला एवं प्रखंड स्तर पर कोल्ड चेन की व्यवस्था सुदृढ़ की जा चुकी है| वैक्सीन उपलब्ध होने पर प्रथम चरण में सरकारी व गैर सरकारी स्वास्थ्य संस्थाओं में कार्यरत कर्मी व आईसीडीएस सेवाओं से जुड़े कर्मियों को कोविड-19 टीका लगाया जायेगा। टीकाकरण बूथ पर ठीक मतदान केंद्र की तरह पर अलग-अलग तीन श्रेणियों में टीकाकरण के जुड़े कार्य यथा- पंजीकरण, टीकाकरण एवं ऑब्जरवेशन कक्ष स्थापित किये जायेंगे। उल्लेखनीय है कि प्रथम चरण के टीकाकरण के लिए जिले में प्रखंड स्तरीय प्राथमिक स्वास्थय केन्द्रों पर कोल्ड चेन की व्यवस्था सुदृढ़ की गयी है । इसे और मजबूत बनाने के लिए सभी सम्बंधित अधिकारी एवं कर्मी दिन-रात लगे हुए है। उन्होंने बताया कि वैक्सीन के रखरखाव के लिए तथा नियमित टीकाकरण कर्यक्रम में कोल्ड चैन हैंडलर की एक महत्वपूर्ण भूमिका है। टीकाकरण में वैक्सीन के रख रखाव के लिए उचित तापक्रम की आवश्यकता होती है, जिसे शीत श्रृंखला (कोल्ड चेन) कहा जाता है। वैक्सीन के भण्डारण हेतु राज्य स्तर से फ्रीजर एवं आईएलआर भी राज्य स्तर से उपलब्ध कराया जाएगा।

को-विन सॉफ्टवेर से होगा टीकाकरण कार्य का अनुश्रवण, टीकाकरण हेतु मोबाइल पर जायेगा मैसेज 

वैक्सीन के रख-रखाव हेतु कोल्ड चेन व्यवस्था के बारे में बताया गया युएनडीपी के कार्यक्रम पदाधिकारी श्री प्रियरंजन झा के द्वारा वैक्सीन के स्टोरेज हेतु कोल्ड चेन की व्यवस्था के बारे में बताया गया | साथ ही टीकाकरण के कार्य में कोविन सॉफ्टवेर के सबन्ध में भी मीडिया प्रतिनिधियों को जानकारी प्रदान की गयी | जिला स्वास्थ्य समिति के पदाध्कारियों द्वारा टीकाकरण बूथ एवं टीकाकरण की प्रक्रिया की जानकारी भी प्रदान की गयी | कार्यशाला के अंतिम सत्र में खुला सत्र का आयोजन भी किया गया जिसमे मीडिया प्रतिनिधियों कोविड-19 टीकाकरण के सम्बन्ध में पूछे गए सवालों का जवाब स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों द्वारा दिया गया | खुला सत्र में युएनडीपी, केयर इण्डिया, यूनिसेफ, डब्लूएचओ एवं पाथ के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया | धन्यवाद ज्ञापन युगेश्वर कुमार राजा, डिवीज़नल समन्वयक, सीफार के द्वारा किया गया | इस कार्यशाला का आयोजन जिला स्वास्थ्य समिति के समन्वय में सीफार के सहयोग से किया गया |

कोविड-19 वैक्सीन आने तक इन उपायों का करते रहें इस्तमाल –

- व्यक्तिगत स्वच्छता और 2 गज की शारीरिक दूरी बनाए रखें.

- बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.

- साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.

- छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढकें .

- उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.

- घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.

- बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 2 गज की  दूरी बनाए रखें.

- आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें. मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें .

No comments:

Post a Comment