विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, December 27, 2020

राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ का प्रतिनिधिमंडल बीएसए व डायट प्राचार्य से मिला, सौंपा ज्ञापन

उरई (जालौन) 27 दिसम्बर। राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंह चौहान के नेतृत्व में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रेमचंद यादव व डायट प्राचार्य रविन्द्र सिंह से मिला व शिक्षकों की विभिन्न ज्वलंत समस्याओं पर चर्चा कर समस्याओं के निराकरण की मांग कर ज्ञापन सौंपा। स्वेटर की क्रय-प्रक्रिया, छात्रों/छात्राओं की आयु वर्ग, कक्षा वर्ग, माप-मानक के विपरीत अत्यंत छोटे व घटिया क्वालिटी के स्वेटर वितरण से शिक्षकों व अभिभावकों में अत्यंत रोष है । इस प्रकरण की समुचित जांच कराई जाए। जूते-मोजे की क्रय-प्रक्रिया में शासन द्वारा निर्धारित मानकों, उच्च क्वालिटी सहित छात्राओं / छात्रों की कक्षा व आयु वर्ग के पैरों की माप के अनुसार ही क्रय कर समस्त छात्रों को वितरित कराएं जाएँ।  वर्ष 1990- 1997 के मध्य मृतक आश्रित शिक्षकों के वेतन से बीमा धनराशि कटौती की गयी थी, बीच में उसे बंद कर दिया गया था । वर्ष 1997 में ट्रेंड हुये मृतक आश्रित शिक्षकों के वेतन से कटौतियाँ पुनः प्रारम्भ हुयी । वर्ष 1990 से 1997 के मध्य कटौतियाँ बंद होने पर पूर्व की जमा बीमा धनराशि, लेखा जोखा के अनुसार बीमा की धनराशि कहाँ है इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही की जाये। विद्यालय परिसरों में खड़े जर्जर, निष्प्रयोज्य विद्यालय भवनो का निर्धारित प्रक्रियानुसार ध्वस्तीकरण कराये जाने की जाए। कतिपय खंड शिक्षा अधिकारी भृष्टाचार में आकंठ लिप्त हैं, निर्धारित प्रोटेक्शन / एक्सटोर्शन मनी लेकर ठेके पर चहेते के माध्यम से विद्यालय चलवा रहे हैं तथा कर्तव्यनिष्ठ, प्रतिदिन विद्यालय जाने वाले शिक्षकों को भी अपने चहेतों के माध्यम से एक्सटोर्शन / प्रोटेक्शन मनी देने को मजबूर कर उगाही के लिए धमका भी रहे हैं। जांच कर दोषियों के विरुद्ध उचित कार्यवाही की जाए। बीआरसी केंद्र पर अवैध रूप से कार्यरत आपराधिक प्रवृति के दलाल एजेन्ट बीआरसी केंद्र को शराबखोरी का अड्डा बनाए हुये हैं। शराब पीने के पैसे लेने के लिए आए दिन शिक्षकों का उत्पीड़न करते हैं, जिससे महिला शिक्षिकाएँ अत्यंत भयभीत रहती हैं । ऐसे प्रकरणों के निस्तारण के लिए माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुपालन में महिला अधिकारी की अध्यक्षता में “विशाखा गाइडलाइंस” के तहत समितियां गठित कराई जाएं। निष्ठा प्रशिक्षण संबंधी अवस्थापना सुविधाओं की व्यवस्था हेतु शासन द्वारा प्रेषित धनराशि की व्यय अनियमितताओं की जांच कराई जाए।

              प्रतिनिधिमंडल में जिला महामंत्री इलयास मंसूरी, जिला संयुक्त महामंत्री अरविंद स्वर्णकार, प्रदेशीय मीडिया प्रमुख/ब्लॉक अध्यक्ष जालौन बृजेश श्रीवास्तव, जिला सदस्यता प्रमुख रियायत बेग, जिला मंत्री इनामुल्ला अंसारी, ऐडेड संवर्ग के जिलाध्यक्ष उपेन्द्र शर्मा, ब्लॉक अध्यक्ष कदौरा आशीष कुमार, नगर अध्यक्ष उरई हरिमोहन यादव, नगर महामंत्री उरई अमित विश्नोई, धीरज अग्रवाल, महिमा बाजपेयी, शिरोमणि सोनी आदि पदाधिकारी व शिक्षक/शिक्षिकाएं मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment