विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, January 4, 2021

5 जनवरी को 6 ब्लॉकों में आयोजित होगा कोविड-19 टीकाकरण का ड्राई रन

 अमेठी विजय कुमार सिंह

वैक्सीनेशन के संबंध में समयबद्ध ढंग से कार्यवाही की जाए, वैक्सीन की स्टोरेज, कोल्ड चेन तथा ट्रांसपोर्टेशन के संबंध में सभी प्रबंध समय से किए जाएं.......डीएम
लोगों को कोविड-19 से बचाव के संबंध में निरंतर जागरूक किया जाए

*अमेठी 04 जनवरी 2021,*  जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 टीकाकरण अभियान पूर्व ड्राई रन के सम्बंध में जिला टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न हुयी। शासन के निर्देशानुसार जनपद अमेठी में 5 जनवरी 2021 को कोविड 19 वैक्सीनेशन का ड्राई रन किया जायेगा। इसके तहत कुल 06  सत्र आयोजित किये जायेंगे। ड्राई रन 3 ग्रामीण व 3 शहरी क्षेत्रों में किया जाएगा। शहरी क्षेत्रो में अमेठी, मुसाफिरखाना, गौरीगंज में किया जायेगा। ग्रामीण क्षेत्र में जगदीशपुर, फुरसतगंज व तिलोई के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर होगा। इस पूरी प्रक्रिया में किसी को भी वैक्सीन नहीं लगायी जाएगी बल्कि केवल वैक्सीन लगाने का मॉक ड्रिल होगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आशुतोष दूबे ने बताया कि इसमें बायोमेडिकल वेस्ट का निष्पादन करने, ओब्सेर्वेशन कमरे में लाभार्थी को रखने के बाद वैक्सीन का प्रतिकूल प्रभाव देखने और उसका इलाज करने का ड्राई रन किया जायेगा। प्रत्येक सत्र पर तीन कमरों में टीकाकरण केंद्र बनाया जायेगा। पहला रूम वेटिंग रूम, जहां पर टीकाकरण कराने वाले लाभार्थियों को बैठाया जायेगा। दूसरा रूम वैक्सीनेशन रूम, जहां पर लाभार्थियों को टीका लगाया जायेगा तथा यहां पर टीकाकर्मियों की एक टीम जिसमें एक स्टाफ नर्स, एक एएनएम एवं एक वेरीफायर मौजूद रहेंगे। वेरीफायर द्वारा टीका लगने वाले व्यक्ति के पहचान पत्र वेरिफाई किया जायेगा। तीसरा रूम ऑब्जरवेशन रूम, जिसमें टीकाकरण के बाद लाभार्थियों को करीब आधे घंटे तक बैठाया जायेगा। जहां पर 30 मिनट के भीतर टीका लगने वाले व्यक्ति के पर टीके के प्रतिकूल प्रभाव पर विशेष नजर रखी जायेगी। इसके लिए एक स्पेशलिस्ट टीम तैनात की जाएगी  जिसमें डाक्टर और पैरामेडिकल स्टॉफ शामिल रहेंगे, जो एईएफआई (एडवर्स इफेक्ट फालोइंग इम्युनाइजेशन) किट के साथ देखरख करेंगे। वैक्सीनेशन के 30 मिनट बाद ही लाभार्थी को घर भेजा जायेगा । वैक्सीन का प्रभाव दोनों ही प्रकार से देखा जायेगा। वैक्सीन के गंभीर प्रतिकूल प्रभाव और हल्के प्रतिकूल प्रभाव होने पर लाभार्थियों को किस तरह से इलाज मुहैया करा जायेगा इसका रिहर्सल किया जायेगा। यह पूरी प्रक्रिया कोरोना से बचाव के सभी प्रोटोकॉल्स जैसे मॉस्क पहनना, बार-बार 20 सेकेण्ड तक हाथ धोना और 2 गज की शारीरिक दूरी का पालन करते हुए संपादित की जायेगी। जिलाधिकारी ने समस्त तैयारियां समय से पूर्ण करने के निर्देश देते हुये कहा कि प्लानिंग के अनुसार समस्त कार्यवाहियां सुनिश्चित की जायें।  बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह, मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर, अपर जिलाधिकारी न्यायिक सुधीर रुंगटा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष दुबे सहित समस्त एम0ओ0आई0सी0 मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment