विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, January 15, 2021

टी० बी० के द्वितीय चरण में लगभग 7 लाख लोगों की गई स्क्रीनिंग


तृतीय चरण में टी० बी०  जनपद से मुक्त करने की है मंशा - सी० पी० शर्मा।


प्रतापगढ़।

जनपद  में टी०बी० हारेगा,देश जीतेगा अभियान के अंतर्गत तृतीय चरण के अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम प्राइवेट चिकित्सक, नर्सिंग होम, पैथोलॉजी, मेडिकल स्टोर,  केमिस्ट के पास जाकर टीबी के मरीजों के बारे में जानकारी एकत्र कर रही है, एवं उन्हें मरीजों को पंजीकृत कर दवाएं उपलब्ध कराने हेतु बताया जा रहा है। द्वितीय चरण के सक्रिय क्षय रोगी खोज अभियान में 667246 लोगों की स्क्रीनिंग की गई जिसमें 2735 लोगों में लक्षण पाए गए, जिनकी जांच कराई गई उसमें  176 लोगों में टी०बी० रोग की पुष्टि हुई। इन सभी मरीजों का उपचार प्रारंभ करा दिया गया है।जिसकी जानकारी डॉक्टर सी०पी० शर्मा जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि तृतीय चरण के तहत जनपद के सभी प्राइवेट चिकित्सक नर्सिंग होम पैथोलॉजी मेडिकल स्टोर एक्स-रे केंद्र पर जाकर टीम से जानकारी प्राप्त करेंगे एवं टी०बी० के मरीजों को चिन्हित करेंगे।जिनसे जनपद प्रतापगढ़ में टी०बी०हारेगा देश जीतेगा अभियान सफल होगा।
वहीं  प्रथम व द्वितीय चरण से ही क्षय रोग  पीड़ित मरीजों के लिए  सुखद समाचार बताया गया कि सूबे की योगी सरकार  क्षय रोग से पीड़ित मरीजों के लिए 26 दिसंबर 2020 से 25 जनवरी 2021 तक सक्रिय क्षय रोगी खोज अभियान चला रही है। इस अभियान के तहत  स्वास्थ्य विभाग की टीम घर घर पहुंचकर क्षय रोगियों को चिन्हित करके उनके निःशुल्क जांच व उपचार में सहयोग करेगी।उक्त जानकारी देते हुए जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि इस योजना के तहत क्षय रोगियों को घर बैठे जांच व उपचार कराने की सुविधा मिलेगी।यदि किसी मरीज को दो सप्ताह से अधिक समय से खांसी,नियमित बुखार,खाँसीके साथ बलगम, बलगम में खून का आना,वजन कम होना,सीने में दर्द व भारीपन होता है तो ये टी बी के लक्षण है। ऐसे मरीज अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों से सलाह लेकर दवा शुरू कर दें।एक निश्चित अवधि तक दवा खाने के बाद डॉक्टर की सलाह पर ही दवा बन्द करें।
 उन्होंने बताया कि निक्षय पोषण योजना के तहत  प्रत्येक सरकारी व निजी क्षेत्र के टी०बी०  मरीजों को ₹ 500 प्रतिमाह उनके खाते में दिया जा रहा है। इसके लिए मरीज अपना आधार कार्ड तथा बैंक पासबुक की काँपी सामान्य स्वास्थ्य केंद्र पर एसटीएस को जमा कराए। टी० बी० का इलाज व जांच की सभी सुविधाएं मरीजों को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से मुफ्त में उपलब्ध कराई जाएगी और तृतीय चरण मे अधिक से अधिक मरीजों की जांच कर जनपद को टी० बी० मुक्त करने की मंशा को सफल बनाएंगें।

No comments:

Post a Comment