विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, January 11, 2021

लूट तथा डकैती की घटनाओं के खुलासा न होने पर भड़के वकील, प्रशासन का फ़ूका पुतला

साथी अधिवक्ता के घर डकैती तथा नगर व पटटी मे लूट को लेकर नाराज वकीलों ने तहसील के चौक तक किया विरोध मार्च

लालगंज, प्रतापगढ़। साथी अधिवक्ता के घर डकैती की घटना समेत नगर कोतवाली व पटटी मे लूट एवं हत्या की घटनाओं को लेकर आक्रोशित अधिवक्ताओं ने सोमवार को यहां जमकर हंगामा काटा। वकीलो के विरोध प्रदर्शन के चलते न्यायिक व प्रशासनिक कामकाज ठप हो उठा। वहीं चौराहे पर जिला पुलिस प्रशासन के पुतला दहन को लेकर हुई नारेबाजी के चलते करीब आधे घण्टे तक नेशनल हाइवे पर जाम की स्थिति बन गई। वकीलों ने राज्यपाल को संबोधित एसडीएम को ज्ञापन देकर अपराध पर काबू न होने की दशा मे आंदोलन तेज किये जाने की प्रशासन को चेतावनी भी दी है। सोमवार को अधिवक्ता तहसील परिसर मे जमा हुये। मुख्यालय पर रूरल बार एसोशिएसन के जिलाध्यक्ष अंजनी सिंह बाबा के घर हुई डकैती का अभी तक खुलासा न होने को लेकर वकील गुस्से मे थे। वहीं वकीलो मे नगर कोतवाली मे सर्राफा लूटकाण्ड व पटटी मे लूट व व्यवसाई की हत्या की घटनाओं को लेकर भी गुस्सा दिखा। नाराज वकीलो ने परिसर मे नारेबाजी शुरू कर दी। इससे न्यायिक कामकाज बाधित हो उठा। वहीं प्रशासनिक कामकाज मे भी घण्टो गतिरोध बना दिखा। इसके बाद वकीलो का जत्था पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते रूरल बार के राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञानप्रकाश शुक्ल तथा संयुक्त अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष विनय शुक्ल के नेतृत्व मे पुलिस प्रशासन का पुतला लेकर चौक पहुंचा। यहां वकीलों ने करीब आधे घंटे तक व्यापारियो व अधिवक्ताओ को सुरक्षा दो की नारेबाजी के साथ हंगामा काटा। वकीलों का आक्रोश देख चौक पर तैनात पिकेट पुलिस सकते मे आ गई। अधिवक्ताओं ने सरेचौक प्रशासन का पुतला फूंककर विरोध जताया। इसके बाद वकील फिर नारेबाजी करते तहसील परिसर आये। यहां अधिवक्ताओं ने कानून व्यवस्था मे सुधार की मांग को लेकर राज्यपाल को संबोधित एसडीएम राम नारायण को ज्ञापन सौंपा। संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष अनिल त्रिपाठी महेश ने कहा कि यदि घटनाओं का खुलासा न हुआ तो वकीलों का आंदोलन थाने के अनवरत घेराव मे तब्दील होगा। विरोध सभा का संयोजन वरिष्ठ उपाध्यक्ष दिनेश सिंह व संचालन पूर्व अध्यक्ष विकास मिश्र ने किया। इस मौके पर हरिशंकर द्विवेदी, संतोष पाण्डेय, राजेश सरोज, विपिन शुक्ल, संजय द्विवेदी, शेष तिवारी, अनूप पाण्डेय, अखिलेश द्विवेदी, सिंटू मिश्र, मनीष तिवारी, सुजीत तिवारी, उमाशंकर मिश्र, भीम तिवारी, अरूण मिश्र पिपरा, उदयराज पाल, रामअंजोर तिवारी, शिव नारायण शुक्ल आदि अधिवक्ता रहे। वकीलों के चौक पर पुतला दहन के बाद चौक पर पुलिस अलर्ट हो उठी। सीओ जगमोहन तथा प्रभारी कोतवाल रामअधार भारी फोर्स के साथ देर शाम तक चौक पर जमा दिखे।

No comments:

Post a Comment