विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, January 8, 2021

उ.प्र. विधान मण्डल की प्रथम उपसमिति ने जिले के अधिकारियों के साथ की बैठक

ब्यूरो बहराइच शिवकुमार गुप्ता

बहराइच उ.प्र. विधान मण्डल की सार्वजनिक उपक्रम एवं निगम संयुुक्त समिति (2019-20) की प्रथम उपसमिति की बैठक मा. सभापति श्री राम चन्द्र यादव के नेतृत्व में मा. सदस्यों के साथ विकास भवन सभागार बहराइच में सम्पन्न हुई जिसमें समिति द्वारा जनपद में कार्यशील निगमों के अधिकारियों के साथ बैठक कर संचालित योजनाओं की वित्तीय व भौतिक प्रगति की गहन समीक्षा की गई तथा आवश्यक निर्देश एवं सुझाव प्रदान किये गए। समीक्षा बैठक में निर्देश दिया गया कि मा. प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजनाओं तथा मा. मुख्यमंत्री की घोषणा से सम्बन्धित कार्यों पर तेज़ी के साथ काम किया जाय। पेयजल परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया गया कि जलापूर्ति हेतु पाईप लाईन बिछाने के बाद रोडों की मरम्मत के कार्य को शीर्ष प्राथमिकता प्रदान की जाय। विद्युत विभाग के कार्यो की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया गया कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों को निर्धारित रोस्टर के अनुसार बिजली की आपूर्ति की जाय तथा विद्युत सुरक्षा समिति की बैठक नियमित रूप से आयोजित की जाय तथा जर्जर तारों को बदलने की योजना को प्रभावी एंग से लागू किया जाय। बैठक के दौरान सौभाग्य योजना, पं. दीन दयाल ज्योति योजना, सांसद आदर्श आदि योजनाओं की भी समीक्षा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। बैठक के दौरान समाज कल्याण विभाग को निर्देशित किया गया कि विभागीय योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुॅचाये जाने हेतु शिविर आयोजित किये जायें। जिलाधिकारी से अपेक्षा की गयी कि जो कार्य प्रगति पर है उनका जिला स्तरीय अधिकारियों के माध्यम से सत्यापन कराकर उन्हें गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाय। सेतु निगम को निर्देश दिया गया कि किसी भी क्रियाशील साइट पर लोगों के आवागमन में असुविधा नहीं होनी चाहिए। स्वास्थ्य विभाग के कार्यो की समीक्षा के दौरान मातृ शिशु मृत्यु दर में कमी लाये जाने तथा संस्थागत प्रसवों में सुधार के दृष्टिगत उप स्वास्थ्य केन्द्रों का सुदृढ़ीकरण एवं संसाधनों से आच्छादित कर एएनएम की उपस्थिति सुनिश्चित कराये जाने हेतु जिलाधिकारी द्वारा किये गये प्रयासों की समिति द्वारा सराहना की गयी। साथ ही स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया गया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत शिविर आयोजित कर अधिक से अधिक लोगों के गोल्डेन कार्ड बनवाये जायें। उ.प्र. वन निगम को निर्देश दिया गया कि अनापत्ति प्रमाण-पत्र जारी करने में अनावश्यक विलम्ब न करें। मा. सभापति ने मा. सदस्यों की ओर से अधिकारियों के साथ तथ्यात्मक व अच्छी चर्चा पर मा. सदस्यों का आभार तथा जिलाधिकारी शम्भु कुमार के अच्छे प्रस्तुतीकरण पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि सभी क्रियाशील निगम व विभाग इस प्रकार से कार्य करें कि लोगों के बीच अच्छा सन्देश जाय। मा. सभापति ने अधिकारियों से अपेक्षा की कि कार्य स्थलों का स्थलीय निरीक्षण कर समय से कार्य पूरा करायें। जिलाधिकारी से अपेक्षा की गयी कि समिति की ओर से दिये गये सुझावों एवं निर्देशों का अपने स्तर अनुश्रृवण करते रहें। समीक्षा बैठक में समिति के मा. सदस्य श्री करन सिंह पटेल, श्रीमती संजू देवी, श्री सूर्य भान सिंह व श्री संतोष यादव सनी ने भी अपने महत्वपूर्ण निर्देश व सुझाव प्रदान किये। इस अवसर पर जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने कहा कि मा. सभापति व सदस्यों द्वारा जो भी निर्देश व सुझाव दिए गए हैं, उनका अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा तथा विकास कार्य गुणवत्ता व पारदर्शिता के साथ ही समयबद्ध ढंग से पूरे कराए जाएगें। बैठक से पूर्व जिलाधिकारी ने समिति के सदस्यों को शाल भेंट कर स्वागत किया तथा बैठक के अन्त में सभापति को स्मृति चिन्ह भेंट किया। बैठक में समिति के साथ आये उप सचिव बशीर अली, चीफ रिपोर्टर पवन कुमार, अपर निजी सचिव दिलीप द्विवेदी व सहायक समीक्षा अधिकारी विनय कुमार भी मौजूद रहे। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, उप जिलाधिकारी नानपारा सूरज पटेल आईएएस, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. राजेश मोहन श्रीवास्वत, अधीक्षण अभियन्ता विद्युत ए.एस. रघुवंशी, प्रशिक्षु आईएफएस चिन्तन डोबारिया, उप निदेशक कृषि डाॅ. आर.के. सिंह, उपायुक्त मनरेगा के.डी. भार्गव सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment