विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, May 4, 2021

सुबह-सुबह क्यों बढ़ जाता है ब्लड शुगर लेवल, कम करने के लिए क्‍या करें

सुबह-सुबह शुगर बढऩे की एक वजह रात में शरीर से रिलीज होने वाले हार्मोन्स हैं। कुछ अच्छे उपाय इस स्थिति से बचने के लिए किए जा सकते हैं।

सुबह-सुबह क्यों बढ़ जाता है ब्लड शुगर लेवल, जानें कम करने के लिए क्‍या करें

डायबिटीज के मरीजों को शुगर लेवल का बेहद ख्याल रखना पड़ता है। इसे नियंत्रित करने के

बाद भी कुछ मरीजों का ब्लड शुगर लेवल सुबह अचानक से बढ़ जाता है। इस तरह अपने दिन की शुरूआत करना वाकई खतरनाक हो सकता है। अगर ऐसा अक्सर होने लगे, तो यह आपके मधुमेह को प्रबंधित करने के गोल को मुश्किल बना सकता है।
चाहे आपको टाइप-1 डायबिटीज हो या फिर टाइप 2 , सुबह के समय ब्लड शुगर का बढऩा कई कारणों से हो सकता है। इससे बचने के लिए कारणों को जानने के बाद जल्द कोई कदम उठाना या उपाय करना बेहद जरूरी है। बता दें कि डायबिटीज मरीजों में यह स्थिति सोमोगी प्रभाव के कारण बनती है।
​सोमोगी प्रभाव क्या होता है
सोमोगी प्रभाव तब होता है, जब आप बिस्तर पर जाने से पहले इंसुलिन लेते हैं और ज्यादा ब्लड शुगर लेवल के साथ सुबह उठते हैं। इस सिद्धांत के अनुसार, जब इंसुलिन आपके ब्लड शुगर को बहुत कम करता है, तो शरीर से हार्मोन रिलीज होता है।
इससे ब्लड शुगर ज्यादा होने की संभावना बढ़ जाती है। टाइप-2 डायबिटीज की तुलना में यह टाइप-1 वाले मरीजों में ज्यादा सामान्य माना जाता है।
सुबह-सुबह क्यों बढ़ जाती है ब्लड शुगर-
दरअसल, दिनभर शरीर को ज्यादा एनर्जी की जरूरत होती है, इसलिए सबुह के समय ब्लड शुगर बढऩे लगता है। दूसरा रात में सोते समय व्यक्ति के शरीर में इंसुलिन की मात्रा बहुत कम हो जाती है। इसके लिए यदि मरीज ने दवा लेने में कोई लापरवाही की हो, तो भी ब्लड शुगर सुबह के दौरान बढ़ सकता है।
एक अन्य कारण है कि यदि आपको मधुमेह है ,इसके लिए आप बहुत ज्यादा इंसुलिन इंजेक्ट कर लेते हैं और पर्याप्त भोजन किए बिना सोने जाते हैं तो यह आपके ब्लड शुगर लेवल को बहुत कम कर देता है। इसे हाइपोग्लाइसीमिया कहा जाता है। इसके बाद शरीर एपिनेफ्रिन और ग्लेकाबन जैसे हार्मोन रीलिज करता है। ये हार्मोन आपके रक्त शकर्रा के स्तर को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं।
​कहीं रात में तो नहीं खाया मीठा
सबसे पहले आपको सुराग जुटाना होगा कि ऐसा क्यों हो रहा है। यदि ब्लड शुगर की रीडिंग सोते समय बढ़ जाती है, तो इसके लिए आपका भोजन और दवा जिम्मेदार है। अगर सोने से पहले आपकी ब्लड शुगर ज्यादा है, तो संभावित रूप से यह सुबह तक बनी रह सकती है।
रात में कुछ भी हैवी और मीठा खाने से ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ा सकता है। इसलिए अपनी दवा को समायोजित करें और आप क्या खा रहे हैं उस पर ध्यान दें।
स्थिति को पहचानना जरूरी-
सुबह ब्लड शुगर को बढऩे से रोकना है, तो स्थिति की पहचानना करना भी उतना ही जरूरी है। इसके लिए नींद पैटर्न के बीच में ब्लड शुगर की जांच करनी होगी। अगर आप 11 बजे बिस्तर पर सोने जाते हैं तो सुबह के 3 बजे उठना बेहतर है।
3 बजे तक लगातार ब्लड शुगर का बढऩा मॉर्निंग ब्लड शुगर का संकेत देता है । इसके लिए आपको एक ग्लूकोज मीटर अपने पास रखना चाहिए। यह उच्च और निम्न रक्त शकर्रा के पैटर्न की पहचान करने में मदद करेगा।
यदि आपको डायबिटीज है, तो इंसुलिन पंप का यूज करें। इससे आप ब्लड शुगर को अचानक बढऩे से रोक सकते हैं।
कई लोगों का सोने से पहले ब्लड शुगर हाई होता है, जो सुबह तक हाई बना रहता है। इसलिए सोने से पहले ब्लड शुगर की जांच जरूर करें। विशेषज्ञों के अनुसार बढ़े हुए ब्लड शुगर के साथ सोने की गलती ना करें।
अगर सुबह आपका रक्त शकर्रा का स्तर बढ़ जाता है, तो वास्तव में आपको दवाओं के समय या प्रकार को बदलना होगा।
सोमोगी प्रभाव का अनुभव करने वालों को प्रोटीन और कार्ब का एक हेल्दी स्नैक लेना चाहिए। ये रात में आपके ब्लड शुगर के बढऩे पर रोक लगा सकता है।
दिन के समय शारीरिक रूप से एक्टिव रहने से आपको ब्‍लड शुगर को मैनेज करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा देर रात में खाने के बाद सीधे सोने ना जाएं, बल्कि कुछ देर टहलें।
सुबह के समय ब्लड शुगर बढ़ जाना चिंता की बात है। खासतौर से अगर ये स्थिति रोजाना बन रही हो, तो खतरे का संकेत है। लेकिन इस पर काबू पने के लिए आप ऊपर बताए गए उपाय कर सकते हैं इससे डायबिटीज में सुधार होगा और डायबिटीज से जुड़ी जटिलताओं को दूर करने में मदद मिलेगी।
डॉ. दुर्गा प्रसाद पांडेय
प्राकृतिक चिकित्सक
मुंबई

No comments:

Post a Comment