स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर जनपदवासियों से प्रतिबन्धित प्लास्टिक की सामग्री का उपयोग न करने की डीएम ने की अपील


 दैनिक आयोध्या टाइम्स

बहराइच। दिनांक 15 अगस्त 2021, स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर आपसे विनम्र अनुरोध करने की इच्छा हुई, क्योंकि हम आज़ादी की 75 वीं वर्षगाॅठ ‘‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’’ एवं ‘‘चैरी-चैरा शताब्दी वर्ष’’ के अन्तर्गत स्वतन्त्रता संग्राम में अपने प्राणों की आहूति देकर भारत को स्वतन्त्र कराने के सपने को साकार किया है। उनको नमन कर रहे तथा श्रृंखलाबद्ध तरीके से उन वीर शहीदों की याद में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से शौर्य एवं वीरता के अमर सपूतों के प्रति याद कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे। यह हमारा सौभाग्य है कि हम स्वतन्त्र भारत के लोकतांत्रिक प्रक्रिया (व्यवस्था) के अन्तर्गत देश में निर्वाचन के माध्यम से बहुमत के आधार पर गठित सरकार के यशस्वी, युगपुरूष, राष्ट्र एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत के प्राचीन गौरव की पुनस्र्थापना के लिए संकल्पबद्ध परमश्रद्धेय श्रीयुत श्री नरेन्द्र मोदी जी मा.0 प्रधानमंत्री के नेतृत्व में ‘‘सबका साथ, सबका विश्वास, सबका विकास’’ की अवधारणा पर आधारित संकल्प के साथ भेदभाव रहित जनकल्याण की भावना से अखण्ड एवं अपराजय संकल्पशक्ति के साथ कार्य कर रहे महान राजनीतिज्ञ के संरक्षण एवं नेतृत्व में आगे बढ़ रहे हैं। मा0 प्रधानमंत्री जी के उपरोक्त संकल्प को उत्तर प्रदेश में यशस्वी, ऊर्जावान, निष्ठावान, कर्तव्य एवं प्रतिबद्धता के प्रतीक, अजस्र ऊर्जा के संवाहक, अखण्ड आत्मविश्वास, अपराजय संकल्प शक्ति एवं अहर्निश सेवा भाव से जनकल्याण के प्रति समर्पित महान योगी तथा कर्म एवं योग की अतुलनीय, अद्भुत, असीमित उर्जा की शक्ति के स्रोत के रूप में श्रीयुत योगी आदित्यनाथ जी मा0 मुख्यमंत्री के रूप में कार्य कर रहे, युगदृष्टा एवं दूरदर्शी व्यक्तित्व के नेतृत्व में प्रत्यक्ष एवं परोक्ष चुनौतियों का सामना करते हुए तमाम झंझावातों, कंटकाकीर्ण मार्ग पर संघर्ष पूर्ण यात्रा तथा कोविड-19 की वैश्विक महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों को अदम्य साहस से चुनौती देकर सबके कल्याण की ओर अग्रसर, विकास की बहुमुखी सम्भावनाओं के प्रदेश, उत्तर प्रदेश में हम सब निश्चिंत भाव से शान्ति एवं सदभाव के साथ निवास कर रहे हैं।
परन्तु आज हमें पुनः उस समस्या के निराकरण के प्रति विचार करना है जिसके अनवरत प्रयोग एवं अव्यवस्थित निस्तारण की वजह से हम अपने भविष्य को पुनः आसन्न भयंकर विनाशकारी विभीषिका की ओर समाज को ले जा रहे हैं और वह है सिंगल यूज़ प्लास्टिक का अंधाधुन्ध प्रयोग, यद्यपि उत्तर प्रदेश भारत का अग्रणी राज्य है जिसने इस विषय पर वर्ष 2000 में चिन्तन किया था और इस चिन्तन को पुनः नवीन कलेवर में अमली जामा पहनाने का संवैधानिक कार्य श्रीयुत योगी जी मा0 मुख्यमंत्री के नेतृत्व में मा0 राज्यपाल जी की सहमति से संविधान के अनुच्छेद 213 के खण्ड (1) द्वारा प्रदत्त शक्ति का प्रयोग करते हुए उत्तर प्रदेश प्लास्टिक और अन्य जीव अनाश्रित कूड़ा कचरा (उपयोग और निस्तारण का विनियमन) (संशोधन) अध्यादेश, 2013 (उत्तर प्रदेश अध्यादेश संख्या 10 सन् 2018) प्रख्याप्ति किया गया है।
जिसका उद्देश्य उत्तर प्रदेश राज्य के भीतर से प्लास्टिक या अन्य जीव अनाश्रित सामग्री या तत्समय सामग्री जैसा कि वह उचित समझे, के उपयोग, विनिर्माण, विक्रय, वितरण, भण्डारण, परिवहन आयात या निर्यात पर निर्बन्धन या प्रतिषेध अधिरोपित किया गया है, जिसके अन्तर्गत प्लास्टिक के कप प्लेट, गिलास, चम्मच, कैरी बैग इत्यादि को पूर्णतः प्रतिषेध किया गया है इसी भाव को विस्तार देते हुए केन्द्र सरकार ने भी 01 जुलाई 2022 से सिंगल यूज़ प्लास्टिक की वस्तुओं की खरीद, बिक्री, निर्माण पर रोक का आदेश जारी किये जाने की उदघोषणा की है।
अतः जनपद बहराइच के जागयक एवं पर्यावरण प्रेमी नागरिकों से मेरी विनम्र अपील है कि प्रदेश में पूर्व से ही प्रभावी इस व्यवस्था को लागू कराने में सार्थक सहयोग करें तथा स्वतन्त्रता दिवस 15 अगस्त 2021 के इस राष्ट्रीय पर्व पर संकल्प लें कि हम 15 अगस्त 2022 तक अपने व्यवहार में परिवर्तन कर प्रतिबन्धित प्लास्टिक के प्रयोग को अपने जीवन एवं प्रयोग से बाहर रखेंगे अर्थात प्रयोग नहीं करेंगे, वैसे इस व्यवस्था को लागू के लिए दण्ड एवं सजा का भी प्राविधान है परन्तु समाज में व्यापक क्रान्ति व्यवहार परिवर्तन एवं संकल्प से ही संभव है। अतः हम इस संकल्प को पर्यावरण एवं जनहित को दृष्टिगत रखते हुए प्रतिबन्धित प्लास्टिक की सामग्री के प्रति त्याग का संकल्प करें। सहयोग की आकांक्षाओं के साथ।

Comments

Popular posts from this blog

सकारात्मक अभिवृत्ति

तुम मेरी पहली और आखरी आशा

बस और टेंपो की जोरदार टक्कर में 16 की मौत, कई लोग घायल