विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, May 22, 2020

रमज़ान के चंद लम्हात रेह गये अल्लाह को राज़ी करें मुसलमान: कारी सय्यद अशहद हसन 

दैनिक अयोध्या टाइम्स,रामपुर-माह- ए- रमजान का तीसरा अशरा पूरे होने वाला है मुसलमान दिन-रात इबादत कर अल्लाह का नाम ले रहे हैं। इस बीच कई जगह तरावीह की नमाज में कुरआन मुकम्मल हुआ।बजरिया मुल्ला जरीफ में खत्म-ए-कलाम-पाक हुआ कारी सय्यद अशहद हसन कासमी ने कुरआन की तिलावत की और सामा के फ़राइज सय्यद सालिम ने अंजाम दिए। कारी सय्यद अशहद हसन कासमी ने नाते-पाक अल्लाह और हुज़ूर कि शान मे पढ़ी,क़ुरआन मुकम्मल होने पर मस्जिद घास वाली के इमाम  'इनाम अली ने दुआ कराई लोगों को खिताब करते हुऐ उन्होंने कहा कि अगर किसी साहब के तीन या चार साहबजादे हैं तो एक को हाफ़िज-ए-कुरान जरूर बनाएं, और उसको अल्लाह की राह में लगाएं। कहा कि खूब कसरत से जकात दें और ईद की नामाज अदा करने से पहले रोजों का फ़ितरा जैसे ढाई किलो गेहूं या उसकी कीमत गरीबों को अदा करने से ही रोजे मुकम्मल होंगें। शहर और मुल्क में अमन चैन और तरक्की की दुआ की।रोजे की अहमियत बयां करते हुए कहा कि रोजे हर मुसलमान पर फर्ज हैं। रोजे में अल्लाह सब गुनाह माफ कर देता है, इसलिए रोजे रखें और इबादत करें। क्योंकि रोजे में की गई इबादत का कई गुना सवाब मिलता है। रोजे में जकात करें और अपने गुनाहों के लिए अल्लाह से माफी मांगे। इस दौरान सय्यद फारूख हसन, मामून शाह खान,डॉक्टर मेहमूद खान, सय्यद खुर्शीद हसन, सय्यद फैसल हसन, मेहमूद रिज़वी एडवोकेट, हसन रिज़वी, सय्यद मुन्ने मियां, साबिर मियां, मुनीर हसन, इमरान खान, राहिम हसन, शेज़ी, आमिर कुरैशी आदि रहे।

 

No comments:

Post a Comment