अंचल कार्यालय में अमीन के न होने से भूमि मापी का कार्य बाधित

     राजापाकर(संवाद सूत्र)दैनिक अयोध्या टाइम्स। सरकारी अमीन के अंचल कार्यालय में कार्यरत नहीं होने से प्रखंड वासियों को भूमि पैमाइश में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मालूम हो कि  सरकार भूमि विवाद से संबंधित घटनाओं को रोकना चाहती है लेकिन उसके लिए अंचल कार्यालय में सरकारी अमीनो की भारी कमी है। जिससे ससमय विवादित भूमि का पैमाइश नहीं हो पाता है नतीजतन हमेशा भूमि विवाद से संबंधित घटनाओं की समस्या बनी रहती है। अंचलाधिकारी स्वयंप्रभा ने बताया कि अंचल कार्यालय में मेरे योगदान किए हुए 4 माह हुए हैं। दर्जनों आवेदन भूमि माफी के लिए पड़े हुए हैं ।लेकिन अमीन की अनुपलब्धता के कारण पैमाइश नहीं हो रही है। मात्र 4 माह में महज एक भूमि मापी की गई है। जिससे कार्य करने में भारी परेशानी हो रही है। इस संबंध में अंचलाधिकारी द्वारा जिला पदाधिकारी वैशाली को पत्र द्वारा सूचित भी किया गया है। सरकारी अमीन की हालत यह है कि एक अमीन तीन से चार प्रखंडों का कार्यभार संभाले हुए हैं। ऐसी स्थिति में एक प्रखंड में अमीन कितने दिन समय दे पाएंगे। पूर्व के अंचलाधिकारी व वर्तमान द्वारा जिलाधिकारी वैशाली को बार-बार लिखित एवं मौखिक सूचना देने के बावजूद भी अंचल कार्यालय में स्थायी अमीन की आज तक प्रतिनियुक्ति नहीं की गई। सीपीआई नेता महेंद्र गुप्ता किसान नेता बिंदेश्वर राय जगन्नाथ सिंह भागवत साह जितेंद्र सिंह आदि लोगों ने जिला पदाधिकारी वैशाली एवं भूमि राजस्व विभाग से शीघ्र प्रखंड में स्थाई अमीन के नियुक्ति की  मांग की है ताकि विवादित पड़े दर्जनों आवेदनों में भूमि पैमाइश कर विवाद को हल किया जा सके।

Comments