विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, January 11, 2021

परिश्दीय विद्यालय में लटकता मिला ताला, कहीं विद्यालय बन्द तो कहीं शिक्षक नदारद

अमित पाठक  / सूर्य प्रकाश मिश्र

बिशेश्वरगंज।।सरकार सख्त शिक्षक मस्त की किंवदंती का सच जानने के लिए मीडिया ने सोमवार को एक रियालिटी के तहत यह पाया कि वास्तव में परिषदीय विद्यालयों में सरकार अंकुश लगाने में नाकाम रही है । शिक्षा के पुजारी ही मंदिर बन्द करके नदारद रहे । कहीं कारण ठंड का होता है कहीं वजह दूर से या घर चले जाने की होती है । विद्यालय बन्द होने की दशा में सिर्फ शिक्षा विभाग की ही नहीं बल्कि राज्य और देश की भी छवि धूमिल हो रही है । प्रस्तुत है परिषदीय विद्यालयों के स्याह सच की एक रिपोर्ट :- 
9 बजकर 11 मिनट प्राथमिक विद्यालय बेलभरिया ( गोधना ) बन्द मिला । 9 बजकर 26 मिनट पर प्राथमिक विद्यालय सरबदी में ताला लगा मिला ।
9 बजकर 42 मिनट पर प्राथमिक विद्यालय लक्खाराम पुर खास में ताला लगा मिला । 9 बजकर 53 मिनट पर प्राथमिक विद्यालय इटहिया में रवि कुमार दुबे मौजूद नहीं मिले । 11बजकर 25 मिनट पर उच्च प्राथमिक विद्यालय जोकहा पहुँचने पर सहायक अध्यापक धर्मेंद्र राय ने मीडिया पर विस्वास जताते हुए बताया कि चोरों द्वारा टुल्लू पम्प, पीतल बैंड, पाइप व सीमेंट की चोरी कर ली गई है जिसको संज्ञान लेना चाहिए ।
11 बजकर 47 मिनट पर कन्या प्राथमिक विद्यालय तकिया द्वितीय में प्रशान्त यादव द्वारा सुशील कुमार विद्यार्थी को सी एल पर होना बताया गया ।
12 बजकर 48 मिनट पर उच्च प्राथमिक विद्यालय रानी पुर तिलक में जयशंकर तिवारी को बी आर सी बिशेश्वरगंज पर व मदन कुमार सिंह को आकस्मिक अवकाश पर होना बताया गया ।
12 बजकर 53 मिनट पर प्राथमिक विद्यालय मनेरा रानी पुर तिलक में अजीत कुमार को सी एल पर होना बताया गया ।
उक्त संदर्भ में खण्ड शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार सिंह ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कहा कि बन्द विद्यालयों के समस्त स्टॉफ का वेतन काटकर दंडात्मक कार्यवाही हेतु बेसिक शिक्षा अधिकारी को रिपोर्ट प्रेषित की जाएगी एवं अन्य विद्यालयों में अनुपस्थिति पाये गए शिक्षकों का जाँच पश्चात वेतन काटा जाएगा ।

No comments:

Post a Comment