दहेज में मिली दूल्हे की साइकिल चोरी

सुरेंद्र मौर्य

मिल्कीपुर-अयोध्या। कुमारगंज थाना क्षेत्र के सराय धनेठी गांव में दहेज में दूल्हे को मिली साइकिल चोरों द्वारा पार किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। ग्रामीणों द्वारा साइकिल चोर को रंगे हाथ पकड़ कर पुलिस के सुपुर्द किए जाने के बावजूद भी कुमारगंज पुलिस आरोपी चोरों पर मेहरबान हो गई है। एक साइकिल चोर पुलिस हिरासत में लेने के बावजूद भी पुलिस ने चोरी के बरामद माल साइकिल को बिना कोई कार्यवाही किए पीड़ित के सुपुर्द कर दिया है। पुलिस ने प्रकरण में प्रभावी कार्रवाई के बजाय गिरफ्तार युवक का मात्र शांतिभंग में चालान कर प्रकरण को ठंडे बस्ते में डाल दिया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक कुमारगंज थाना क्षेत्र के सराय धनेठी गांव निवासी तेज प्रताप पासी के भांजी की शादी थी। जिसमें दहेज में देने के लिए तेज प्रताप 48 सौ रुपए की हीरो साइकिल खरीद कर लाया था और कलेवा के दौरान दूल्हे के सुपुर्द भी कर दिया था। विदाई से पूर्व दहेज का सारा सामान दरवाजे पर जगह कम होने के चलते बगल में रख दिया गया था। आरोप है कि इसी बीच गोयड़ी पूरे शुक्ल निवासी रोहित चौहान पुत्र रामकेवल तथा बाबूराम पुत्र रामकिशन मौके पर पहुंच गए थे और साइकिल लेकर रफूचक्कर हो गए थे। साइकिल गायब होने के उपरांत कुछ ग्रामीणों ने दौड़ा कर एक युवक बाबूराम को पकड़ लिया था और 112 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी थी मौके पर पहुंची पुलिस टीम पकड़े गए युवक बाबूराम को थाने ले गई थी। घटना के दूसरे दिन अल सुबह साइकिल रोहित के परिवारी जनों के कब्जे से मिली। साइकिल मिलने के उपरांत पुनः तेज प्रताप ने 112 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस टीम साइकिल थाने ले आई। मामले में पुलिस ने आरोपी युवकों के खिलाफ कोई भी कार्यवाही करना मुनासिब नहीं समझा और बरामद चोरी के माल साइकिल को बिना किसी कार्रवाई के पीड़ित तेज प्रताप के सुपुर्द कर दिया।  युवक बाबूराम का चालान मात्र शांति भंग में कर प्रकरण को रफा-दफा कर दिया। थानाध्यक्ष वीर सिंह ने बताया कि मामले में असली चोर बाबूराम नहीं बल्कि रोहित है। उसकी तलाश की जा रही है। बिना किसी कार्यवाही के बरामद चोरी के माल को पीड़ित के सुपुर्द किए जाने के सवाल पर वह चुप्पी साध गए।

Comments